Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमौत को दावत, पावर और निगम अफसर बेखबर

मौत को दावत, पावर और निगम अफसर बेखबर

- Advertisement -
  • रुड़की रोड सोफीपुर में नाले में लटका ट्रांसफार्मर
  • आसपास 24 घंटे रहती है रैपिड रेल के श्रमिक

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: रुड़की रोड सोफीपुर नगर निगम के वार्ड सात इलाके में बिजली का नाले में लटका एक बड़ा ट्रांसफार्मर मौत को दावत देता नजर आ रहा है। इसके बाद भी पीवीवीएनएल और नगर निगम प्रशासन आंखें मूंदे बैठा है। उनको नींद से जगाने के लिए इस इलाके के भाजपा नेता व पूर्व पार्षद महेन्द्र भारती ने काफी प्रयास किया, लेकिन अफसर हैं कि फिलहाल नींद से जागने को तैयार नहीं। महेन्द्र भारती का आरोप कि जब यह ट्रांसफार्मर नाले में नहीं गिर जाता और एक आध की मौत नहीं हो जाती, लगता है तब तक इन दोनों महकमों के अफसरों की नींद टूटने वाली नहीं।

कभी भी भरभराकर गिर सकता है नाले में

रुड़की रोड पर नाले के किनारे जहां यह भारी भरकम बड़ा ट्रासंफार्मर रखा हुआ है, वहां ट्रांसफार्मर नाले के किनारे जिस स्थान पर टिका हुआ है, वहां से काफी मिट्टी कटकर नाले में चली गयी है। ट्रांसफार्मर करीब-करीब लटकी हुई अवस्था में है। यह कभी भी झोंक खाकर नाले में गिर सकता है। आने वाले दिनों में जिस प्रकार से बारिश की आशंका जतायी जा रही है और यदि भारी बारिश हुई तो नाला पानी से लबालब भरकर चलेगा। उस दशा में ट्रांसफार्मर के नीचे से और भी तेजी से मिट्टी का कटान होगा, यदि ऐसा वाकई हो गया तो ट्रांसफार्मर का नाले में समाना तय है।

11 35

बड़े हादसे की आशंका

नाले के किनारे टिके इस ट्रांसफार्मर की स्थिति देखकर आसपास के लोग बेहद डरे हुए हैं। उनका कहना है कि ट्रांसफार्मर नाले में गिरने की दशा में यहां बड़ा हादसा हो सकता है। कुछ ही कदम की दूरी पर रैपिड रेल प्रोजेक्ट का काम चल रहा। इसके अलावा इस ट्रांसफार्मर से क्षेत्र के बडेÞ इलाकों को बिजली की आपूर्ति की जा रही है। यदि दिन के वक्त ट्रांसफार्मर नाले में समा गया तो कितना बड़ा नुकसान होगा इसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता। लोगों ने बताया कि इसके चलते उन्होंने भाजपा नेता महेन्द्र भारती से भी इसको लेकर फरियाद लगायी, लेकिन अफसर हैं कि कुछ सुनने को तैयार नहीं।

एक-दूसरे के पाल में गेंद

मामले को नगर निगम से लेकर पीवीवीएनएल अफसरों को नींद से जगाने का प्रयास कर रहे महेन्द्र भारती ने आरोप लगाया कि हालात की गंभीरता को समझने के बजाए दोनों विभागों के अफसर एक दूसरे के पाल में गेंद डाल रहे हैं। लगता है उन्हें किसी बडेÞ हादसे का इंतजार है।

एसपी ट्रैफिक ने एनएच-58 पर देखे मौत के कट

मेरठ: मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे तथा एनएच-58 पर आए दिन होने वाले हादसों को रोकने के लिए एसपी ट्रैफिक राघवेन्द्र कुमार मिश्रा मौके पर मुआयना करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 36 ऐसे प्वाइंट चिन्हित किए जो अक्सर हादसों का कारण बनते हैं। मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर ब्लैक प्वाइंट कहे जाने वाले खतरनाक प्वाइंटों के निरीक्षण के दौरान राघवेन्द्र सिंह ने ऐसे कई बाइक चालकों को भी रोका जो प्रतिबंध के वावजूद एक्सप्रेस वे पर बाइक लेकर पहुंच गए थे।

10 32

उन्होंने एक ही बाइक पर सवार तीन युवकों को रोका। ऐसे बाइक चालकों को उन्होंने ट्रैफिक स्टाफ के हवाले किया। एसपी टैÑफिक ने बताया कि मेरठ महानगर को जाम के श्राप से मुक्त कराने के अलावा उनका पूरा ध्यान एक्सप्रेस वे और हाइवे पर होने वाले हादसों को रोकने पर भी है। उनका पूरा प्रयास है कि हादसों के वजह से किसी के घर की खुशियां न छीने,

लेकिन इसमें लोगों का खासकर उन लोगों को जो एक्सप्रेस वे और हाइवे से होकर गुजरते हैं उनका भी सहयोग चाहिए। इसके अलावा लोगों को यातायात के नियमों का भी पालन करना चाहिए, क्यों कि ये जिंदगी ना मिलेगी दोबारा। उन्होंने बताया कि स्टाफ को भी जरूरी निर्देश दिए गए हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments