Wednesday, May 29, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसंगीनों के साए में नमाज-ए-जुमा अलविदा

संगीनों के साए में नमाज-ए-जुमा अलविदा

- Advertisement -
  • एडीजी, आईजी, डीएम, एसएसपी उतरे सड़कों पर
  • शहर से देहात तक चप्पे-चप्पे पर भारी पुलिस फोर्स रही तैनात

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: रमजान के आखिरी जुमा संगीनों के साए में पढाया गया। चप्पे-चप्पे पर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती गयी थी। केवल रोड ही नहीं छतों पर भी नजर रखी जा रही थी। दरअसल, एक दिन पहले सूबे के डीजीपी ने जुमा अलविदा की नमाज को लेकर जरूरी हिदायतें दी थीं। जिसके बाद शुक्रवार को पैरामिलिट्री फोर्स और क्यूआरटी को संवेदनशील क्षेत्रों सहित चौराहों पर तैनात किया गया था। वहीं, एडीजी, आईजी, डीएम, एसएसपी सहित अन्य अधिकारी बेगम पुल स्थित चौकी से पल-पल की जानकारी ले रहे थे। वहीं, अलविदा जुमे की नमाज शांतिपूर्वक होने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली है।

जुमा अलविदा के चलते केवल मेरठ ही नहीं वेस्ट यूपी समेत पूरे यूपी में हाईअलर्ट की जानकारी आला पुलिस अधिकारियों ने दी है। केवल शहर के संवेदनशील या अतिसंवेदनशील इलाके ही नहीं बल्कि गांव देहात तक में भारी संख्या में अर्ध सैनिक बल तैनात किए गए थे। शहर की यदि बात करें तो संवेदनशील इलाकों में सुबह छह बजे से फोर्स को रवाना करना शुरू कर दिया था। नौ बजते बजते तमाम इलाकों में फोर्स पहुंच गयी थी।

21

शहर के लिसाड़ीगेट थाना के गोला कुआं चौराहा, हापुड स्टैंड, लिसाड़ीगेट, पिलोखड़ी रोड, श्याम नगर, कोतवाली थाना के जामा मस्जिद, इमलियान, बुढ़ानागेट, कसाइयों वाली मस्जिद, गुजरी बाजार की ऊंची मस्जिद, देहलीगेट थाना क्षेत्र के शहर घंटाघर, जली कोठी पीर चौराहा, दिल्ली रोड फैज-ए-आम, खैरनगर हौज वाली मस्जिद, नौचंदी थाना क्षेत्र का जाकिर कालोनी व हापुड़ रोड इलाका, ब्रहमपुरी थाना क्षेत्र टीपीनगर का मलियाना इलाका समेत शहर के तमाम संवेदशील इलाकों पर पुलिस बल लगाया गया था। शहर में सीआरपीएफ व देहात में आइटीबीपी को जिम्मेदारी दी गयी थी। शहर में आरआरएफ भी डिप्यूट की गयी थी।

बेगमपुल चौकी में कंट्रोल रूम

शहर की बेगमपुल चौकी को आला पुलिस अफसरों की आमद के मद्देनजर कंट्रोल रूम में तब्दील कर दिय गया था। यहां पुलिस व प्रशासन के तमाम आला अधिकारी मौजूद रहे। इनमें एडीजी ध्रुवकांत, आईजी जोन नचिकेता झा, डीएम दीपक मीणा, एसएसपी रोहित सजवाण के अलावा भारी संख्या में फोर्स व फायर ब्रिगेड की गाड़ियां स्टैंड बाई पर रखी गयी थीं। आला अफसर पल-पल का अपडेट ले रहे थे। साथ ही इस अपडेट को लखनऊ मैसेज किया जा रहा था। दोपहर तीन बजे तक जब पूरे महानगर में जुमा अलविदा की नमाज निपट गयी तब कहीं जाकर अफसरों ने राहत की सांस ली

और बेगमपुल चौकी से अफसरों की गाड़ियों का काफिला रवाना होना शुरू हो गया। एसएसपी रोहित सजवाण ने बताय कि जुमा अलविदा शांति पूर्वक संपन्न हुआ है। किसी प्रकार की कोई भी कहीं से अप्रिय खबर नहीं आयी है। उन्होंने जोर देकर कहा कि गड़बड़ी करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

संगीनों के साए में सजदा सुप्रीम कोर्ट की भी तारीफ

शुक्रवार को अलविदा जुमे की नमाज कड़ी सुरक्षा के बीच शांतिपूर्ण ढंग से अदा की गई। पुलिस प्रशासन के सभी आला अधिकारी सड़कों पर गश्त करते रहे। जगह जगह पुलिस फोर्स तैनात रही। शाही जामा मस्जिद में शहर काजी प्रो. जैनुस साजेदीन ने दो रकआत जुमे की नमाज अदा कराई। उन्होंने इस दौरान जहां मदरसा एक्ट को रद्द करने वाले फैसले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाई गई रोक का स्वागत किया

19 1

वहीं उन्होंने रमजान की फजीलत, फितरा और जकात की एहमियत पर प्रकाश डाला। इस दौरान शाही ईदगाह के खतीब ने भी मदरसा एक्ट को लेकर सुप्रीम फैसले का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने मुल्क के दस्तूर को कायम रखा। हम सुप्रीम कोर्ट के शुक्रगुजार हैं। उधर दूसरी ओर शहर भर में जुमा अलविदा की नमाज कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सम्पन्न हुई। नमाज के बाद पूरे मुल्क में अमन व सलामती के लिए दुआएं की गर्इं।

फिरकापरस्ती के खिलाफ वोट दें मुसलमान: कारी शफीक

जुमा अलविदा पर आॅल इण्डिया मिल्ली काउंसिल के जिलाध्यक्ष व शहर के प्रमुख उलेमाओं में शुमार कारी शफीकुर्रहमान कासमी ने मुसलमानों का आह्वान किया कि वो आने वाले लोकसभा चुनावों में अपने वोट का इस्तेमाल जरुर करें। उन्होंने कहा कि मुसलमान किसी भी गफलत में न रहें। वोट उनका संवैधानिक अधिकार है और वो इसका खुलकर प्रयोग करें। कारी शफीक ने मुसलमानों से किसी भी दल के प्रत्याशी के समर्थन की अपील तो नहीं की लेकिन उन्होंने मुसलामनों का आह्वान किया कि वो फिरकापरस्त ताकतों के खिलाफ खुलकर मतदान करें। उन्होंने कहा कि यदि मुसलमान अपने वोट के प्रति गंभीर नहीं होगा तो उसे सीधे तौर पर सियासी नुकसान उठाना पड़ेगा। कारी शफीक के अनुसार देश में अमन व सुकून के लिए मुसलमानों को चाहिए कि वो फिरकापरस्ती के खिलाफ मतदान करें।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments