Tuesday, June 18, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकुछ इस अंदाज में योगी की प्रशंसा के पुल बांध गए उपराष्ट्रपति

कुछ इस अंदाज में योगी की प्रशंसा के पुल बांध गए उपराष्ट्रपति

- Advertisement -
  • कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से लेकर कई नेताओं पर साधे निशाने

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: देश के उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ शनिवार को पूरे फॉर्म और अपने अंदाज में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी से लेकर कई नेताओं पर निशाने भी साध गए। यही नहीं, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली की भी मंच से खूब प्रशंसा की तथा कहा कि योगी आदित्यनाथ ने जिसका चयन किया हैं। उसका डंका विश्व में बजेगा। उनका कहना था कि देश का डंका विदेशों में सांस्कृतिक विरासत की वजह से बजेगा।

उस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरा फोकस कर दिया हैं, जो तारीफ के काबिल हैं। इस तरह से उपराष्ट्रपति ने कई निजी संस्मरण भी मंच से जनता के साथ साझा किये, जिसको सुनकर जनता भी खूब हंसी और उपराष्ट्रपति का ये मंच से बोलने का अंदाज भी खूब भाया। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि मैं यूपी की पहली राजकीय यात्रा पर आया हूं, जिसे मुख्यमंत्री ने बेहद यादगार बना दिया हैं।

मैं मुख्यमंत्री का इसके लिए सदेव आभारी रहूंगा। प्रधानमंत्री ने राज्सभा में उनके बारे में जब शुरुआत की तो उनके बारे में कृषक पुत्र के रूप में की। ये पल भी उनका गौरान्वित करने वाला था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके हेलीकॉप्टर को चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में ही उतरवाया। मुख्यमंत्री ने किस आयोजन का चुनाव किया। ये आप सब जानते हैं। विश्व में भारत का डंका बजेगा तो इसी सांस्कृति विरासत की वजह से बजेगा।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बारे में मंच से प्रशंसा बिना लाग-लपेटकर की।

13 10

उन्होंने दो टूक कह दिया कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद सरल और सख्त स्वभाव के हैं। अपने नाम के अनुरुप कार्यरत हैं। उपराष्ट्रपति के ये शब्द बोलते ही प्रेक्षागृह में तालियां बज उठी। इसी बीच उपराष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें वो पल याद है, जब योगी आदित्यनाथ उनसे मिलने आये थे। तब चर्चा हुई थी, यूपी की अराजकता को लेकर। अब यूपी बदल गया हैं। अब यहां कानून की बात होती हैं, अराजकता की नहीं। इस बीच उन्होंने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल की भी खूब प्रशंसा की।

दिग्गज वैद्यों ने वैज्ञानिक सत्र में दी उपचार की जानकारी

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में शुरू हुए तीन दिवसीय आयुर्वेद महासम्मेलन में दूसरे सत्र में हुए वैज्ञानिक सत्र में दिग्गज वैद्यों ने विभिन्न प्रकार के रोगों और उनसे निपटने के लिये प्रयोग में आने वाले उपचार के बारे में विस्तार से जानकारी दी। विवि के प्रेक्षागृह में शुरु हुए वैज्ञानिक सत्र में देश के आयुष सचिव वैद्य राजेश कुटेचा, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के चिकित्सक देवेन्द्र त्रिगुणा ने आयुर्वेद के प्रचार और प्रसार को लेकर सरकारी नीतियों और आधुनिक उपचार पद्धति के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

पतंजलि योग पीठ के आचार्य बालकृष्ण और भारतीय मानक ब्यूरो की संयुक्त निदेशक डा. साक्षी शर्मा ने भी विचार व्यक्त किये। वैद्य हितेष कौशिक ने क्षार सूत्र और पंचकर्म के अलावा बबासीर, भगन्दर और पाइल्स के उपचार के बारे में जानकारी दी। पदमश्री वैद्य बालेन्दु प्रकाश ने कैंसर और पेट से जुड़ी बीमारियों के बारे में नवीनतम शोध और उपचार के बारे में बताया।

यूनानी के डा. मुनीर आजम ने भी बीमारियों के बारे में जानकारी दी। वैज्ञानिक सत्र के बाद मदरहुड आयुवेर्दिक महाविद्यालय और खुर्जा के पंडित यज्ञदत्त शर्मा आयुवेर्दिक महाविद्यालय के छात्र छात्राओं ने नुक्कड़ नाटक और सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। महासम्मेलन को सफल बनाने के लिये सांसद डा. लक्ष्मीकांत बाजपेयी, विधायक धर्मेन्द्र भारद्वाज, डा. ब्रजभूषण शर्मा, वैद्य राजीव शेखर, वैद्य सुन्दर पाल, वैद्य राज कुमार सिंह, वैद्य अशोेक माहेश्वरी दवाघर और क्षेत्रीय आयुवेर्दिक और यूनानी अधिकारी रेणु चौधरी का विशेष योगदान रहा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments