Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutआंवले की खेती से किसान बढ़ा सकते हैं आय

आंवले की खेती से किसान बढ़ा सकते हैं आय

- Advertisement -
  • इम्युनिटी बूस्टर के रूप में भी उपयोगी है आंवला

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विवि के प्रोफेसर बायोटैक्नोलॉजी डा. आर एस सेंगर ने आंवले की खेती करने के लिए किसानों को प्रेरित किया है। उनका कहना है कि अगर किसान आंवले की खेती करे तो अपनी आय बढ़ा सकते हैं। जबकि आंवले की खेती आय के साथ-साथ गुणकारी भी है। उन्होंने आंवले की खेती को लेकर विभिन्न जानकारी किसानों को दी है।

हल्का हरा रंग, कसैला स्वाद वाला आंवला

विटामिन ‘सी’ का सर्वोत्तम और प्राकृतिक स्रोत है। विटामिन सी ऐसा नाजुक तत्व होता है। जो गर्मी के प्रभाव से नष्ट हो जाता है, लेकिन आंवले में विद्यमान विटामिन सी कभी नष्ट नहीं होता। हिन्दू मान्यता में आंवले के फल के साथ आंवले का पेड़ भी पूजनीय है। माना जाता है कि आंवले का फल भगवान विष्णु को बहुत प्रिय है। इसलिए अगर आंवले के पेड़ के नीचे भोजन पका कर खाया जाये तो सारे रोग दूर हो जाते हैं।

यूरोप और अफ्रीका में भी पाया जाता है आंवला

आंवला एशिया के अलावा यूरोप और अफ्रीका में भी पाया जाता है। हिमालयी क्षेत्र और भारत में आंवला के पौधे बहुतायत मिलते हैं। संस्कृत में इसे अमृता, अमृतफल, आमलकी, पंचरसा इत्यादि, कहते हैं। आंवला के फायदे जानना आपके लिए जरूरी है, क्योंकि यह एक वंडर फूड जो है। छोटे से आंवला में चमत्कारिक गुण हैं। आंवला शरीर के लिए बेहद गुणकारी हैं।

आंवला में विटामिन उ, विटामिन अइ कॉम्प्लेक्स, पोटैशियम, कैलशियम, मैग्नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और डाययूरेटिक एसिड पाए जाते हैं। आंवला की खूबियां इतनी ज्यादा है। इसी वजह से आंवला को 100 रोगों की एक दवा माना जाता है। आयुर्वेद में तो आंवला को अमृत की तरह माना जाता है। घरेलू नुस्खों में आंवला का इस्तेमाल किया जाता है।

शरीर की इम्युनिटी बढ़ाता है आंवला

आंवला के फायदों के बारे में बात करें तो यह कई हैं। आंवला शरीर की इम्युनिटी बढ़ाता है और साथ ही साथ आंवला कई बीमारियों को जड़ से भी खत्म करता है। आंवला डायबिटीज में फायदेमंद है। आंवला डायबिटीज से परेशान लोगों के लिए किसी अमृत से कम नहीं है।

दरअसल, आंवला में क्रोमियम तत्व पाए जाते हैं, जो इंसुलिन हारमोंस को मजबूत कर खून में शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं। अगर आपको डायबिटीज है तो आंवले के रस में शहद मिलाकर पीने से बहुत आराम मिलेगा।

पाचन तंत्र को करता है मजबूत

आंवला डाइजेशन यानी पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में मददगार है। खाने को पचाने में आंवला बहुत मददगार है। इसे खाने से कब्ज, खट्टी डकार और गैस की समस्या से मुक्ति मिलती है। यही वजह है कि आंवला को किसी न किसी रूप में आपको अपने भोजन में शामिल करना चाहिए. आप आंवले की चटनी, मुरब्बा, अचार, जूस या चूरन के रूप में भी इसे अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं।

वजन घटाने में भी होता मददगार

वजन घटाने में मददगार है आंवला, यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को मजबूत बनाता है, जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है।

इंफेक्शन से लड़ने की होती है क्षमता

आवंला में बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन से लड़ने की ताकत होती है। इसे खाने से हमारे शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है। जिससे हम बीमरियों से दूर रहते हैं। यही नहीं आंवला शरीर में मौजूद टॉक्सिन यानी कि जहरीले पदार्थों को बाहर निकाल देता है।

आंवला खाने से सर्दी-जुकाम, अल्सर और पेट के इंफेक्शन से मुक्ति मिलती है। इतना ही नहीं आंवला खाने से हड्डियों को ताकत मिलती है और वे मजबूत बनती हैं। आंवले में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है और इसे खाने से आॅस्ट्रोपोरोसिस, अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द से आराम मिलता है।

आंखों के लिए भी होता है गुणकारी

आंवला का रस आंखों के लिए गुणकारी है। यह आंखों की रोशनी बढ़ाता है। यही नहीं जिन्हें मोतियाबिंद, कलर ब्लाइंडनेस या कम दखिाई देता है, उन्हें आंवले का रस पीना चाहिए। आंवला में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं, जो दिमाग को ठंडक प्रदान करते हैं। आंवला खाने से टेंशन में आराम मिलता है और नींद भी अच्छी आती है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments