Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबस बेबस होकर देखती रहीं पति का मर्डर

बस बेबस होकर देखती रहीं पति का मर्डर

- Advertisement -
  • मेरठ-करनाल हाइवे पर सरेशाम बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम
  • पत्नी से अभद्रता के विरोध पर पति को मार दी गोली

जनवाणी संवाददाता |

सरूरपुर खुर्द: बदमाशों से घिरी अर्चना बेबस असहाय होकर बदमाशों ने पति की जिंदगी की भीख मांगती रही, लेकिन लूट के इरादे से पहुंचे बदमाशों को दिल नहीं पसीजा। उन्होंने फायर कर दिया और अगले ही पल अरुण का लहूलुहान बेजान शरीर सड़क पर पड़ा था। बदमाशों ने सीने और सिर पर गोली मारी। अर्चना की दुनिया लुट चुकी थी। पति के बेजान शरीर को सामने देखकर अर्चना बेसुध हो गयी।

उसको कुछ समझ नहीं आ रहा था वो क्या करें, वो सिर्फ रोए और चिल्लाएं जा रही थी। मदद मांग रही थी कि कोई उसके पति को अस्पताल पहुंचा दे, लेकिन तब तक काफी दे हो चुकी थी। उसको भी शायद समझ में आ गया था कि उसकी दुनिया लुट चुकी है।

पति की हत्या की कहानी पत्नी अर्चना की जुबानी

घटना की अकेली प्रत्यक्षदर्शी और बदमाशों से सुहाग की भीख मांगकर संघर्ष करने वाली अर्चना ने पुलिस अफसरों को बताया कि बदमाशों ने जैसे ही उसके पति से रुपयों से भरा पर्स छीन लिया तो उन्होंने विरोध किया और बदमाशों से उलझ गये। इस दौरान एक बदमाश ने तमंचे से पहले छाती में और फिर सिर में गोली मार दी। अर्चना बदमाशों के सामने काफी गिड़गिड़ाई भी, लेकिन बदमाशों का दिल नहीं पसीजा।

बदमाशों से भिड़ गए थे अरुण

मेरठ-करनाल हाइवे स्थित भूनी चौराहे के समीप जहां लूट व हत्या की वारदात अंजाम दी गयी है, वहां पर बाइक से जा रहे बदमाशों ने जान से मारने की धमकी देते हुए अरुण की बाइक रुकवा ली। बदमाशों का अर्चना ने विरोध किया। इस पर बदमाशों ने अर्चना से अभद्रता की।

05 34

पत्नी से अभद्रता पर अरुण बदमाशों से भिड़ गए। बदमाशों ने उन्हें गोली मारने की धमकी दी तो अर्चना घबरा गयी थी। लूट की वारदात को अंजाम देने पहुंचे बदमाशों रहम के मूड में नहीं थे। वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए।

पता नहीं था, मौत से इस तरह होगा सामना

पत्नी अर्चना और उसका पति अरुण ससुराल से गुरुवार शाम लगभग पांच बजे हंसी खुशी विदा हुए थे। गांव के लिए जा रहे थे, लेकिन उसे क्या पता था कि रास्ते में मौत इस तरह उन पर झपट्टा मारेगी देगी। पलक झपकते ही उसकी दुनिया आंखों के सामने उजड़ जाएगी। अरुण की हत्या की सूचना पर परिवार के लोग भी वहां पहुंच गए, लेकिन उनके आने से पहले पुलिस पहुंच गयी। पुलिस ने अरुण के शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

कहां थी पुलिस ?

जिस जगह वारदात को अंजाम दिया गया वह इलाका मेरठ-करनाल हाइवे का है। हाइवे होने की वजह से जगह-जगह पुलिस कंट्रोल रूम की गाड़ियां खड़ी होती हैं, लेकिन बड़ा सवाल यही जब यह वारदात अंजाम दी गयी तो क्या पुलिस कंट्रोल रूम की कोई भी गाड़ी हाइवे पर मौजूद नहीं थी या फिर ड्यूटी ही नहीं लगायी गयी थी।

09 30

यदि ड्यूटी लगायी गयी थी तो वारदात के वक्त वो गाड़ियां कहां थी, इसका उत्तर तो पुलिस के आला अफसर ही दे सकते हैं। सबसे बड़ा सवाल कि शाम के वक्त तो आमतौर पुलिस कंट्रोल रूम की गाड़ियां हाइवे पर अनिवार्य रूप से खड़ी होती हैं। फिर आज ऐसा क्या हुआ जो पुलिस की हाइवे की ड्यूटी पर खड़ी होने वाली गाड़ियां नहीं थी।

आला अफसर मौके पर

अरुण की हत्या के बाद पुलिस ने जैसे ही शव का पंचनामा बनाकर मोर्चरी के लिए भेजा तो रात में ही एसएसपी रोहित सजवाण, एसपी देहात कमलेश बहादुर, सीओ सरधना संजय जायसवाल सहित कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गयी। मौके पर पहुंचे परिजनों ने पुलिस से घटना के लिए विरोध जताया और पुलिस को कटघरे में खड़ा किया। जो सवाल परिजन उठा रहे थे उनका पुलिस अफसरों पर कोई उत्तर नहीं था।

घटनास्थल अतिसंवेदनशील प्वाइंट, फिर भी पुलिस गायब

जिस जगह लूटपाट के बाद मर्डर की वारदात हुई है। वह पुलिस के लिए बड़ा अतिसंवेदनशील प्वाइंट है और पुलिस रिकॉर्ड में आज भी हाइवे बनने के बाद टूटी पुलिया के नाम से प्वाइंट चिन्हित है। यहां अक्सर शाम को पुलिस पिकेट रहने के साथ ही डायल 112 की 578 गाड़ी भी राउंड पर रहती है, लेकिन घटना के वक्त स्थानीय पुलिस और डायल 112 की निष्क्रियता और अनुपस्थिति सवालियां निशान लगा रही है। फिलहाल पुलिस इस मामले में कटघरे में खड़ी हुई है।

देर रात घटनास्थल पर पहुंचे एडीजी, खुलासे को टीम की गठित

करनाल हाइवे के पास लूटपाट के बाद पत्नी के सामने पति अरुण की गोली मारकर हत्या के मामले में की गूंज शासन तक पहुंच गई है। शासन के आदेश के बाद देर रात एडीजी राजीव सभरवाल, एसएसपी और अन्य आलाधिकारियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे तथा घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस अधिकारियों से घटना के बारे में बारीकी से जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए सरेशाम हुई लूट के बाद मर्डर की घटना पर पुलिस को फटकार लगाई। जिसके बाद उन्होंने स्थानीय पुलिस को टीमें गठित कर घटना की खुलासा के निर्देश दिए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments