Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकरोड़ों खर्च कर बना कांशीराम पार्क हुआ बदहाल

करोड़ों खर्च कर बना कांशीराम पार्क हुआ बदहाल

- Advertisement -
  • नगर निगम की ओर से नहीं किया गया देखरेख, करोड़ों रुपये हुए बर्बाद

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शास्त्रीनगर पीवीएस के पास ही बसपा सरकार में कांशीराम पार्क बनाया गया था। इसे तैयार करने का जिम्मा आवास विकास के पास था। आवास विकास ने करोड़ों रुपये खर्च कर यहां पार्क बनाया था जिसमें फाउंटेन, स्विमिंग पुल समेत तमाम ऐसी चीजें थी जो लोगों को आकर्षित करती थी, लेकिन आज नगर निगम और क्षेत्रीय पार्षद की लापरवाही के चलते यह पार्क बदहाल स्थिति में है। पार्क में झाड़ियों के अलावा कुछ नहीं है यहां का सामान तो असामाजिक तत्व चुरा कर ले जा चुके हैं।

04 10

बसपा सरकार में कांशीराम की याद में शेरगढ़ी वार्ड-चार में एक पार्क का निर्माण कराया गया। जिसमें कांशीराम पार्क का ही नाम दिया गया था। इस पार्क के निर्माण का जिम्मा आवास विकास के पास था। क्योंकि क्षेत्र की सारी जमीन आवास विकास के पास है और यहां सभी जगहों पर आवास विकास की ही योजनाएं संचालित हैं। आवास विकास की ओर से यहां पा पार्क में भव्य स्विमिंग पूल बनाया गया था। पार्क के बीचोंबीच एक फाउंटेन लगाया गया और इसके चारों ओर रेलिंग आदि लगाई गई थी जिससे यहां काई आसानी ने घुस सके।

इसमें आवास विकास की ओर से एक करोड़ रुपये से भी अधिक लागत खर्च की गई थी। इसके बाद यह पार्क यहां नगर निगम के हैंडओवर कर दिया गया था। इसकी देखरेख और रखरखाव का जिम्मा नगर निगम के पास था, लेकिन एक दशक में भी यहां पार्क में कोई कार्य नहीं हो पाया है। नगर निगम की ओर से यहां रखरखाव में लापरवाही बरती गई। जिस कारण यह पार्क आज बदहाल स्थिति में है।

पार्क की रैलिंग, फाउंटेन हो गए चोरी

कांशीराम पार्क की बात करें तो यहां शाम होते ही शराबियों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है। क्षेत्र के आस पास के शराबी यहां पार्क में आकर बैठ जाते हैं और खुलेआम शराब पीते हैं। यहां असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लग जाता है। हालात ऐसे हो गये हैं कि यहां से शरारती तत्व लोहे की रैलिंंग आदि चुरा ले जाते हैं और उसे बेच देते हैं। पार्क में लाखों रुपये खर्च कर फाउंटेन लगाये गये थे, लेकिन वर्तमान में यहां एक भी फव्वारा नहीं है सब चोरी हो चुका है। हालात यह हैं कि यहां के झूले तक चोरी हो चुके हैं।

राजनीतिक दलों की होती हैं बस बैठकें

पार्क वर्तमान में केवल राजनीतिक दलों की बैठकों के काम आता है। यहां चुनाव से पूर्व बसपा की ओर से कई बार बैठकों का आयोजन किया गया। इसके अलावा भी कई अन्य पार्टियों की ओर से अब बस यहां बैठकें ही की जाती हैं। इस दौरान महापुरुषों को याद किया जाता है, लेकिन उन महापुरुषों के नाम पर बने पार्कों की ही देख रेख नहीं की जा रही है।

महापौर ने नहीं ली सुध

क्षेत्रीय पार्षद पति जगपाल की माने तो उन्होंने कहा कि उन्होंने पार्क के जीर्णोद्धार के लिये महापौर सुनीता वर्मा को कई बार पत्र लिखा और नगर निगम को भी इसकी देखरेख के लिये अवगत कराया, लेकिन यहां पार्क में कोई कार्य नहीं कराया गया। जिस कारण आज पार्क बदहाल स्थिति में है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments