Tuesday, March 9, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Shamli समाधान दिवस में मंडलायुक्त की ‘गुगली’ से मचा हड़कंप

समाधान दिवस में मंडलायुक्त की ‘गुगली’ से मचा हड़कंप

- Advertisement -
0
  • ऊन के समाधान दिवस में अचानक पहुंच समस्याएं सुनीं
  • एबीएसए , जेई पीडब्ल्यूडी, एआरटीओ से स्पष्टीकरण मांगा
  • प्रभारी बीडीओ को कारण बताओ नोटिस जारी करने निर्देश

जनवाणी संवाददाता |

ऊन: मंडलायुक्त सहारनपुर एवी राजमौली मंगलवार को अचानक ऊन तहसील दिवस में आयोति समाधान दिवस में आ धमके। इससे वहां मौजूद अधिकारियों में हड़कंप मच गया। मंडलायुक्त ने एबीएसए ऊन और अवर अभियंता पीडब्ल्यूडी के साथ-साथ जहां एआरटीओ से स्पष्टीकरण मांगा, प्रभारी बीडीओ ऊन को कारण बताओ नोटिस जारी करने निर्देश दिए।

मंगलवार को तहसील ऊन में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में मंडलायुक्त सहारनपुर एवी राजमौली ने पहुंच जनसमस्याएं सुनीं। इस अवसर पर एबीएसए ऊन, अवर अभियंता पीडब्ल्यूडी से स्पष्टीकरण मांगा गया। मंडलायुक्त ने नगर पंचायत ऊन में सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश अधिशासी अधिकारी को दिए।

परिवहन विभाग का कोई कर्मचारी न होने पर एआरटीओ से स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिए। उसके बाद विद्युत विभाग के एसडीओ पंकज राठौर को विद्युत समस्याओं के समय पर निस्तारण न करने पर जमकर हड़काया। साथ ही, उपभोक्ताओं के उत्पीड़न पर जमकर फटकार लगाते हुए कार्यशैली में सुधार न होने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। उन्होंने एसडीओ से अपने कार्यकाल में क्या-क्या सुधार किए हैं आदि की जानकारी मांगी।

जिस पर एसडीओ संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। गांव में आवासों के बारे में कैंप न करने पर प्रभारी बीडीओ मुकेश कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। गांव नोनांगली निवासी टिंकू पुत्र ओमवीर, अनीता पत्नी उदयवीर द्वारा आवासों की शिकायत करने पर प्रभारी बीडीओ मुकेश कुमार ने बताया कि अभी तक मात्र 6 गांवों में ही आवासों के सर्वे पूरे हुए हैं।

जिस पर उन्होंने एक हफ्ते के अंदर ब्लॉक के सभी गांव में सर्वे पूर्ण कर पात्र लोगों की सूची तैयार करने के निर्देश दिए। गांव दुल्लाखेड़ी निवासी सीमा द्वारा शौचालय बनवाने की शिकायत की। मंडलायुक्त ने प्रभारी बीडीओ से सचिव से बात कराने को कहा तो सचिव का वैभव निर्वाल का फोन बंद मिला जिसके बाद मंडलायुक्त ने सचिव को प्रतिकूल प्रविष्टि व विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

उन्होंने लेखपालों से तालाब व विरासत दर्ज के बारे में जानकारी ली। तालाबों पर अतिक्रमण की बात सामने आने पर कस्बा ऊ न में खसरा नंबर 1303 व 1304 को तत्काल खाली कराने के आदेश दिए। लेखपाल सत्यवीर सिंह को 2 दिन के अंदर तालाब को कब्जा मुक्त कराने के निर्देश दिए।

मंडलायुक्त ने उपजिलाधिकारी मनी अरोरा को लेखपालों व ग्राम विकास अधिकारियों की एक संयुक्त बैठक बुलाकर तालाबों पर अतिक्रमण हटवा कर 24 घंटे के अंदर प्राक्कलन तैयार कर मनरेगा के अंतर्गत खुदाई शुरू कराने के निर्देश दिए। क्षेत्र में पेयजल खराब होने की शिकायत पर एक्सईएन जल निगम द्वारा कोई कार्रवाई स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए। मंडलायुक्त के औचक निरीक्षण से तहसील में हड़कंप मचा रहा।

मंडलायुक्त द्वारा सभी कर्मचारियों व अधिकारियों को पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न कराने के निर्देश दिए। साथ ही, क्षेत्र में असामाजिक तत्वों को चिन्हित कर कार्रवाई करने के निर्देश उप जिलाधिकारी व एसओ झिंझाना को दिए। उन्होंने यमुना में हो रहे अवैध खनन के खिलाफ भी कार्रवाई करने के निर्देश उप जिलाधिकारी को दिए हैं।

तहसील ऊन में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में 40 शिकायतें आई जिनमें से विद्युत विभाग 5 परिवहन विभाग एक खंड विकास अधिकारी 11 पुलिस विभाग दो राजस्व विभाग 21 शामिल रहीं। इनमें एक शिकायत का मौके पर निस्तारण किया गया।

डीएम ने अधिकारियों को लगाई फटकार

कैराना। मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन जिलाधिकारी जसजीत कौर की अध्यक्षता में तहसील कैराना के सभागार में आयोजित किया गया। जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि फरियादियों की शिकायतों का निस्तारण संतोषजनक हो इसलिए शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता पर समय से करना सुनिश्चित करें। पिछले समाधान दिवस की 4 शिकायतों का निस्तारण नहीं करने पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाई।

इस अवसर पर सीडीओ शंभूनाथ तिवारी, एसडीएम उद्धभव त्रिपाठी, परियोजना निदेशक ज्ञानेश्वर तिवारी, तहसीलदार प्रवीण कुमार आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments