Friday, January 27, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमैरिज ब्यूरो गैंग ने 300 से अधिक लोगों को ठगा

मैरिज ब्यूरो गैंग ने 300 से अधिक लोगों को ठगा

- Advertisement -
  • गैर राज्यों और दूसरे जिलों के ठगी के मामले ज्यादा, संचालक का हथियार तस्करों से कनेक्शन

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शहर में फर्जी मैरिज ब्ूयरो गैंग का बोलबाला है। लोगों को शादी कराने के नाम पर ठगना और पुलिस का इस ओर से अंजान बना रहना। पुलिस के सामने ये बड़ा सवाल है। आखिर पुलिस ठगी के इस धंधे पर अंकुश क्यों नहीं लगा पाती। फर्जी मैरिज ब्यूरो गैंग ने ऐसे तीन सौ से अधिक युवक और युवतियों को शादी कराने के नाम पर अपने जाल में फंसाया और उनसे लाखों रुपये ऐंठे। ठगी का शिकार हुए पीड़ितों के विरोध जताने पर उन्हें धमकी देकर चुप करा दिया गया। शहर में फैले ये फर्जी मेरिज ब्यूरों गैंग आखिर किसके संरक्षण में चल रहे हैं। यह चौंकाने वाली बात है।

विवाह केन्द्र पंजीकृ त के नाम से संचालित मैरिज ब्यूरो गैंग पिछले डेढ़ साल से ऐसे भोले भाले युवक और युवतियों को शादी कराने के नाम पर ठगता आ रहा है। जिनकों यह बिल्कुल आभास नहीं होता कि वे जिस विवाह केन्द्र पर दिये नंबरों पर अपनी शादी कराने के लिए संपर्क कर रहे हैं। वह पूरी तरह से ऐसे शातिरों का ऐसा मैरिज ब्यूरो गैंग है जो बाकायदा इश्तहार देकर तुरंत शादी कराने की बात का आश्वासन देता है। ठगी का यह सिलसिला तब शुरु हो जाता है जब इच्छुक युवक या युवतियां अपनी शादी कराने के लिए फर्जी विवाह केन्द्र या मैरिज ब्यूरो द्वारा इश्तहार में दिये मोबाइल नंबर पर कॉल करते हैं।

कॉल करते ही विवाह केन्द्र पर बैठी शातिर लड़की अविवाहित युवक व युवतियों को बातों से अपने जाल में फंसा लेती हैं। उन्हें बाकायदा बताया जाता है कि विवाह पंजीकरण कराने की फीस साढ़े आठ हजार रुपये से लेकर दस हजार तक देनी पड़ेगी। उनसे पंजीकरण कराने के नाम पर एक फार्म पर हस्ताक्षर कराकर उनसे आठ से दस हजार रुपये ठग लिये जाते हैं। उसके बाद शादी की इच्छा रखने वाले अर्थात आवेदक से कहा जाता है कि तुम्हें लड़की देखनी है तो पहले लड़की वालों से आमने सामने बैठकर मीटिंग होगी। उसके बाद अगर युवक को लड़की पसन्द आ जाती है तो बात आगे बढ़ेगी। उसके बाद मैरिज ब्यूरों में काम करने वाली लड़कियों में से ही एक लड़की

और उसके साथ फर्जी तरीके से नकली पिता और भाई को असली बताकर युवक के सामने पेश कर मीटिंग करा दी जाती है। लेकिन बाद में लड़की शादी करने से मना कर देती है। विवाह केन्द्र द्वारा ठगी का शिकार हुए ज्यादातर गैर राज्यों व गैर जिलों गाजियाबाद , कानपुर, मथुरा , बरेली, हापुड़, बाजपुर, मध्यप्रदेश, राजस्थान के अलवर आदि अनेक ऐसे शहर शामिल हैं। ऐसे तमाम लोगों ने जो ठगी का शिकार हुए हैं उनसे बातचीत की गई तो कई बातें चौंकाने वाली सामने आई।

मैरिज ब्यूरो संचालक का हथियार तस्करों से कनेक्शन

पीड़ित लोगों की मानें तो उन्होंने बताया कि संचालक मनोज सोम अपना नाम योगी शर्मा बताता है। इस ध्ांधे में उसके साथ उसकी पत्नी व भाई, ससुर सहित अनेक दर्जनों युवतियां शामिल हैं। जो अलग अलग लोगों के सामने एक परिवार के रुप में फर्जी तरीके से पेश किया जाता है। संचालक मनोज सोम की कुछ तस्वीरे मिली तो लोगों ने जानकारी दी कि उसका हथियार तस्करों से कनेक्शन है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments