Sunday, June 13, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutआउटर रिंग रोड: छह दिन बाद होगी पैमाइश

आउटर रिंग रोड: छह दिन बाद होगी पैमाइश

- Advertisement -
0
  • मवाना रोड और एनएच-58 (दौराला) को किया जाएगा आपस में लिंक
  • 13.4 किमी लंबा होगा आउटर रिंग रोड
  • हापुड़ और गढ़ रोड को जोड़ने के लिए आउटर रिंग रोड बनेगा 12 किमी लंबा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मवाना और एनएच-58 को आपस में जोड़ने वाली आउटर रिंग रोड का गजट जारी हो चुका है। अब छह दिन बाद इसकी पैमाइश की प्रक्रिया आरंभ की जाएगी। इसके बाद ही भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया चलेगी। यह 13.4 किमी लंबी और फोर लेन का निर्माण एनएचएआई करायेगा।

सलारपुर (मवाना रोड) से दौराला को भी इसमें शामिल किया गया है। इस आउटर रिंग रोड का ज्वाइंट दौराला के पास किया जाएगा। बारह गांवों के किसानों की जमीन का इसमें अधिग्रहण किया जाएगा। इसके अलावा दूसरा आउटर रिंग रोड का ही हिस्सा बुलंदशहर रोड के शाकरपुर गांव से आरभ होगा, जो गढ़ रोड स्थित सिसौली गांव तक बनेगा। इसकी लंबाई भी 12 किमी रहेगी तथा चौड़ाई फोर लेन होगी।

दरअसल, पहले इनर रिंग रोड की प्लानिंग की गई थी, लेकिन एमडीए ने बजट नहीं होने की बात कहकर हाथ खड़े कर दिये थे। फिर इनर रिंग रोड के निर्माण की प्लानिंग पीडब्ल्यूडी ने की, लेकिन वहां भी दो वर्ष तक फाइल घूमती रही। धरातल पर काम कुछ नहीं हुआ। पिछले वर्ष इनर रिंग रोड की बजाय आडटर रिंग रोड एनएचएआई को बनाने का प्रस्ताव केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को भेजा गया था। उसके बाद ही आउटर रिंग रोड के निर्माण पर काम चालू हुआ।

वैसे देखा जाए तो मेरठ विकास प्राधिकरण की महायोजना 2021 में आउटर रिंग रोड का प्लान किया गया था। उसी पर एनएचएआई अब काम कर रही है। एनएचएआई ने 25 मई को आउटर रिंग रोड का गजट जारी किया था। नियम यह है कि गजट जारी होने के 21 दिन बाद ही एनएचएआई जमीन की पैमाइश कराती है, इसके बाद ही आउटर रिंग रोड के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रकिया आरंभ की जाएगी। अब से छह दिन बाद पैमाइश का काम किया जाएगा।

इसके लिए एनएचएआई के अधिकारियों ने प्रशासन को पत्र लिखकर जमीन की पैमाइश में राजस्व टीम गठित कर सहयोग करने की मांग की है, ताकि तेजी के साथ आउटर रिंग रोड के प्रोजेक्ट पर काम चालू किया जा सकेगा। मेरठ-पौढ़ी हाइवे पर काम चल रहा है। एनएच-58 व मेरठ-पौढ़ी हाइवे का आपस में कहीं कोई लिंक नहीं है। इसलिए भी इन दोनों को आपस में जोड़ा जा रहा है।

मवाना रोड के सलारपुर गांव से आउटर रिंग रोड की शुरूआत होगी, जो दौराला के समीप आपस में ज्वाइंट किया जाएगा। यह आउटर रिंग रोड फोर लेन की होगी, जिसमें बारह गांव के किसानों की जमीन अधिग्रहण की जाएगी। इसी तरह से हापुड़ रोड के शाकरपुर गांव से गढ़ रोड के सिसौली गांव तक आउटर रिंग रोड बनाया गया जाएगा। इसकी लंबाई 12 किमी रहेगी तथा यह भी फोर लेन ही बनेगा।

हालांकि दौराला से जंगेठी होते हुए रोहटा रोड व बागपत रोड को भी आउटर रिंग रोड प्रस्तावित है, लेकिन इस पर फिलहाल एनएचएआई ने काम आरंभ नहीं किया है। दोनों प्रोजेक्ट पर काम करने के बाद आगे भी आउटर रिंग रोड की प्लानिंग की जा सकती है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments