Wednesday, February 28, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकरा दिए थे मोबाइल बंद, लेकिन राज्यमंत्री की वीडियो फिर भी वायरल

करा दिए थे मोबाइल बंद, लेकिन राज्यमंत्री की वीडियो फिर भी वायरल

- Advertisement -
  • जिला पंचायत की बजट बैठक के दौरान पुलिस अधिकारियों की कार्यशैली को लेकर हुए थे नाराज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जिला पंचायत की बजट बैठक के दौरान तमाम सदस्यों व अन्य के मोबाइल स्वीच आॅफ करा दिए गए थे, लेकिन उसके बाद भी राज्यमंत्री की दिनेश खटीक की वीडियो वायरल हो गयी। इस वीडियो में वह अधिकारियों की कार्यशैली को लेकर नाराजगी का इजहार करते हुए देखे व सुने जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि अफसर से लेकर थानेदार तक की लगाम का कसा जाना जरूरी है। उन्होंने इस बात को लेकर भी नाराजगी जतायी कि थानों में आम आदमी की सुनवाई नहीं हो रही है।

17 25

एसपी देहात कमलेश बहादुर की ओर मुखातिब होते हुए वह कह रहे हैं कि थानों में जो कार्यप्रणाली है, उससे वह खुद भी संतुष्ट नहीं है। केवल थाने ही नहीं बल्कि तहसील व दूसरे विभागों के अफसर भी शासन की मंशा के अनुरूप काम नहीं कर रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। इस मनोवृत्ति पर अंकुश का लगाया जाना बेहद जरूरी है।

उनकी बातों के लबोलुआव की यदि बात की जाए तो उनका कहना था कि अफसरों की जवाबदेही तय की जाए। हम सभी का प्रयास लोगों को राहत पहुंचाने का होना चाहिए, लेकिन दुखद है कि ऐसा नहीं हो हो रहा है। अफसर मनमानी पर उतरे हुए हैं। इन पर अंकुश का लगाया जाना बेदह जरूरी है। इसको लेकर यहां मौजूद सभी अफसर इस बात को अच्छी तरह से समझ लें। गांठ भी बांध लें।

सपा नेता मुकेश सिद्धार्थ की जमानत खारिज

मेरठ: न्यायालय अपर जिला जज कोर्ट संख्या 9 मेरठ बृजेश मणि त्रिपाठी ने सरकार के विरुद्ध आपत्तिजनक बयानबाजी करने पर समाजवादी पार्टी के नेता मुकेश सिद्धार्थ पुत्र सुखबीर सिंह निवासी गंगानगर का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया। अभियोजन के अनुसार वादी मुकदमा उप निरीक्षक आशीष कुमार ने थाना सिविल लाइन मेरठ में गत 6 जनवरी 2024 को दोपहर 3:50 पर थाना सिविल लाइन मेरठ में रिपोर्ट दर्ज कराई कि चौधरी चरण सिंह पार्क में काफी संख्या में लोग मौजूद थे।

16 25

तभी वहां से आरोपी मुकेश सिद्धार्थ द्वारा कलक्ट्रेट परिसर में अपने साथियों के साथ सरकार के विरुद्ध आपत्तिजनक नारेबाजी करने लगे। जिसमें ऊर्जा राज्यमंत्री डा. सोमेंद्र तोमर को जिंदा जलाने के बयान माइक पर दिए गए थे। इस मामले में आरोपी नेता जेल में बंद है। न्यायालय में आरोपी ने बताया कि उन्हें राजनीतिक रंजिश के चलते फसाया जा रहा है। जिसका विरोध मंत्री सोमेंद्र तोमर के अधिवक्ता राहुल भड़ाना द्वारा किया गया। न्यायालय ने दोनों पक्षों को सुनकर आरोपी का जमानत प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया।

पूर्व पार्षद से अभद्रता, आफिस में तोड़फोड़

मेरठ: मीनाक्षीपुरम कॉलोनी में एक युवक ने दबंगई दिखाते हुए साथियों के साथ मिलकर पूर्व पार्षद के आॅफिस में तोड़फोड़ कर दी। बीती सोमवार की रात मीनाक्षीपुरम कॉलोनी निवासी पूर्व कांग्रेस पार्षद सुशील सैनी के आॅफिस में एक युवक साथियों के साथ पहुंच गया। इस दौरान उसने सुशील सैनी से अभद्रता करते हुए आॅफिस व कार में तोड़फोड़ कर दी।

इसके बाद आरोपी युवक आॅफिस में रखी 50 हजार रुपये की नकदी लेकर फरार हो गया। पीड़ित ने बताया कि आरोपी युवक क्षेत्र में खुलेआम दबंगई करते हुए लोगों को धमका रहा है। उसके खिलाफ पहले भी कई गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। वहीं, घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घटना की जांच पड़ताल करते हुए आवश्यक कार्रवाई करने की बात कही।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments