Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमुकेश सिद्धार्थ दिल्ली से गिरफ्तार

मुकेश सिद्धार्थ दिल्ली से गिरफ्तार

- Advertisement -
  • मुकदमा दर्ज होने के बाद हो गए थे अंडर ग्राउंड

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सपा नेता मुकेश सिद्धार्थ को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें मेरठ लाया जा रहा है। इससे पहले सपा नेता मुकेश सिद्धार्थ की तलाश में पुलिस ताबड़तोड़ दबिश दीं। उनके खिलाफ आपत्तिजनक भाषा प्रयोग किए जाने के आरोप के चलते गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं, दूसरी मुकेश सिद्धार्थ अपने साथ मोबाइल फोन लेकर नहीं गए। उनका मोबाइल फोन परिजनों के पास घर पर ही था।

14 5

मुकदमा दर्ज होने के बाद से उनकी तलाश में पुलिस ताबड़तोड़ दबिश दे रही थी। शनिवार देर रात और रविवार को भी कई ठिकानों पर दबिशें दी गयी, लेकिन दबिश को गयी टीम को वापस लौटना पड़ा। पुलिस उनकी तलाश जुटी थी। इस बीच यह भी जानकारी मिली है कि सपा नेता से जुड़े पुराने मामलों को फाइलों की भी धूल झाड़ी जा रही है। इसके चलते आशंका व्यक्त की जा रही है कि सपा नेता की मुश्किलें और भी ज्यादा बढ़ने वाली हैं।

संगठन का साथ नहीं

वहीं, दूसरी ओर आपत्ति जनक भाषा का प्रयोग करने वाले सपा नेता के खिलाफ मुकदमा लिखे जाने के बाद अब संगठन ने भी उनसे दूरी बना ली है। सपा के तमाम बडेÞ नेताओं ने उनके बयानों से पल्ला झाड़ लिया है। संगठन ने भी दो टूक कह दिया है कि जो बयान दिया गया है उसका समर्थन नहीं करते हैं। इतना ही नहीं सपा के जो गुर्जर नेता हैं उनमें भी ऊर्जा राज्यमंत्री डा. सोमेंद्र तोमर को लेकर दिए गए कठोर शब्दों में आलोचना की है।

15 6

यहां तक कि सपा के गुर्जर नेताओं शनिवार को मुकेश सिद्धार्थ का पुतला भी फूंक डाला। सपा के गुर्जर नेताओं का यहां तक कहना है कि पार्टी संगठन अलग है और बिरादरी का मामला अगल है। केवल सपा के गुर्जर नेता ही नहीं बल्कि गैर भाजपा दूसरे दलों के नेता भी इस मामले को लेकर खासे नाराज हैं।

लीड लेने के चक्कर में हो गयी फजीहत

वहीं, दूसरी ओर जानकारों का कहना है कि कलक्ट्रेट में जो भी घटना क्रम शनिवार को हुआ उसमें अतुल प्रधान ने महफिल लूटी और चलते बने। बची कसर पूर्व विधायक योगेश वर्मा ने पूरी कर दी। बाद में एकाएक मुकेश सिद्धार्थ ने मोर्चा संभाला और वो सब कह डाला जिसको लेकर उनके खिलाफ पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

जानकारों का यह भी कहना है कि यह सब केवल कलक्ट्रेट में एक दूसरे नेता से लीड लेने के चक्कर में दिया गया बयान मुसीबत का सबब बन गया। मुसीबत भी ऐसी कि मुकदमा दर्ज हो गया। पुलिस की दबिश शुरू हो हो गयी और रविवार लेट नाइट उन्हें दिल्ली से दबोच लिया गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments