Friday, June 14, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutशिवमय और केसरिया रंग में रंगने लगा एनएच-58

शिवमय और केसरिया रंग में रंगने लगा एनएच-58

- Advertisement -
  • डीजे की धुन पर मंजिल की ओर बढ़ रहे भगवान शिव के मतवाले

जनवाणी संवाददाता |

मोदीपुरम: एनएच-58 पर शनिवार को दिन भर बारिश रही। बारिश में शिवभक्तों की तादाद लगातार अपनी मंजिल की ओर बढ़ती हुई दिखाई दी। भारी बारिश के बीच शिवभक्त डगर की ओर बढ़ते दिखाई दिए। धीरे-धीरे शिवभक्तों की तादाद हाइवे पर बढ़ने लगी है। हरिद्वार से जल लाने वाले शिवभक्तों की तादाद में लगातार इजाफा हो रहा है। दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा के शिवभक्त हरिद्वार से जल ला रहे हैं। फिलहाल इन शिवभक्तों की तादाद बढ़ रही है।

08 6

शिवभक्त बोल बम-बम के उद्घोष के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हाइवे पर शिवभक्तों की सुरक्षा के लिए जगह-जगह पुलिस बल भी तैनात है। डीजे की धुन पर शिव के मतवाले अपनी मंजिल की ओर बढ़ रहे हैं। शिवभक्तों की बढ़ी तादाद अब हाइवे पर केसरिया रंग में रंगी हुई है। फिलहाल दूरदराज राज्यों के शिवभक्त फिलहाल हरिद्वार से जल ला रहे हैं। अभी लोकल के शिवभक्त हरिद्वार से जल लाने के लिए अगले तीन से चार दिनों में उनकी भीड़ में इजाफा होगा।

केसरिया रंग से सजने लगी माइनर पटरी

रोहटा: कांवड़ मार्ग गंगनहर पटरी पर केसरियां और भगवा रंग में रंगे में रंगे भोले के भक्तों की टोली बोल बम के नारों से गूंज उठी है। मन में आस्था और मंजिल पाने की जुनून में भोले के भक्त थकान होने के बावजूद भोले जोश के साथ आगे बढ़ रहे हैं। राजस्थान, हरियाणा व और दिल्ली के भोले कांवड़ मार्ग से रात दिन गुजर रहे हैं। जगह-जगह भोलों के लिए शिविरों में जलपान की व्यवस्था की गई है।

आस्था पर चोट पैचवर्क

कांवड़ मार्ग गंगनहर पटरी पर भोलों की आस्था पर जर्जर पटरी चोट पहुंचा रही है। बारिश में पैचवर्क उखड़ने से रोडियां सड़क पर बिखर कर दूर तक फैली हुई हैं। जब भोलों के नंगे पैरों में जख्म देने का काम कर रही हैं। कांवड़ मार्ग नहर पटरी जगह जगह से टूटने के कारण क्षतिग्रस्त हो चली है, लेकिन बावजूद सरकार की चेतावनी के कारण मार्ग पर गड्ढों को भरने का काम महज खानापूर्ति करके किया गया।

09 8

उधर, सरूरपुर, करनावल, डाहर, लाहौरगढ़, मीरपुर, भदौडा आदि गांव में राइट सलावा माइनर रजवाड़े की पटरी पर शिविर लगाने का सिलसिला शुरू कर दिया है। दयनीय हालत में पहुंच चुकी राइटस अलावा माइनर की पटरी पर इस बार भोलों को कड़ी अग्निपरीक्षा से गुजरना पड़ेगा। जर्जर हालत और टूट चुकी पटरी के साथ बेहद संकरी होने के कारण भोलों के लिए यह सफर काफी कठिन भरा होने वाला है। मुजफ्फरनगर के नावला से पुरामहादेव तक जाने वाले राइट सलावा माइनर रजवाहे की पटरी पर काफी संख्या में लाखों कांवड़ियां गुजरते हैं।

राहत: अभी चलते रहेंगे वाहन

मेरठ: एनएच-58 हाइवे पर पुलिस ने बैरीकेडिंग कर दी। जो कट थे, उन्हें बंद कर दिया, लेकिन अभी हाइवे पर वाहनों का आवागमन बंद नहीं किया हैं। अभी वाहन चलते रहेंगे। महाशिवरात्रि से तीन दिन पहले वाहनों का आवागमन बंद किया जा सकता हैं। हाइवे पर शिविर में लग गए हैं। अब शिवभक्त कांवड़ियों की आमद हाइवे पर आरंभ हो गई हैं। हरिद्वार से पवित्र गंगा जल लेकर शिवभक्त कांवड़िये क्रांतिधरा पर पहुंचने लगे हैं।

ज्यादातर शिव भक्त कांवड़िये राजस्थान और हरियाणा के यहां से होकर गुजर रहे हैं। आस्था का सैलाब बढ़ रहा हैं। इसको दृष्टिगत रखते हुए पुलिस-प्रशासन ने शिवभक्तों को किसी तरह की दिक्कत नहीं हो, इसीलिए हाइवे पर जो कट थे वो बंद कर दिये गए हैं, ताकि वन-वे करने के बाद एक तरफ सिर्फ शिवभक्त कांवड़िये ही चलते रहेंगे। उस तरफ आम आदमी की बाइक और कार भी नहीं चलेगी। इसी वजह से दूसरे हाइवे को ओपन रखा जाएगा। इससे कार और बाइक लेकर लोगों का आवागमन रहेगा। पल्लवपुरम से लेकर मोदीपुरम तक चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती कर दी गई हैं।

02 8

सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट अपनी हर रोज रिपोर्ट दे रहे हैं। शिवभक्त कांवड़ियों के आगमन की रिपोर्ट शासन स्तर पर भी हर रोज जा रही हैं। प्रशासन का स्पष्ट आदेश है कि वन-वे होने के बाद एक तरफ वाहनों का संचालन रहेगा, वो भी कार और बाइक ही चल सकते हैं। ट्रकों का संचालन बंद कर दिया गया हैं। हाइवे पर ट्रकों का संचालन फिलहाल बंद हैं।

कांवड़ उलखने को लेकर झगड़ा

रोहटा: शनिवार को पलवल निवासी सतीश हरिद्वार से जल लेकर चौधरी चरण सिंह कांवड़ मार्ग चलते हुए पूठखास गंगनहर चौराहे पर पहुंचा। जहां पर उसने जल को सड़क किनारे रख दिया। कांवड़ियां ने उसके जल को उलख दिया। जिसको लेकर दोनों में मारपीट शुरू हो गई। शोर-शराबा होने पर पुलिस ने दोनों का बीच बचाव करते हुए शांत कराया। पुलिस ने सतीश को समझाते हुए शांत कराकर आगे के लिए रवाना कर दिया।

कांवड़ खंडित होने पर हंगामा

दौराला: दिल्ली के सागरपुर निवासी रोशन उर्फ गोलू शनिवार देर रात हरिद्वार से 40 लीटर गंगाजल लेकर अपने गंतव्य को लौट रहा था। रुहासा कट के पास दुकान के बाहर कांवड़ रखकर रोशन आराम कर रहा था। इस दौरान मटौर गांव निवासी अनिल लोईया गांव से दूध गाड़ी में लेकर आ रहा था।

अंधेरा होने के चलते हाइवे किनारे रखी कांवड़ उसे दिखाई नहीं दी और गाड़ी कांवड़ से टकरा गई। कांवड़ खंडित होने पर कांवड़ियों ने हंगामा शुरू कर दिया। सीओ दौराला अभिषेक पटेल व दौराला पुलिस मौके पर पहुंची। रोशन को शांत कराया और गंगाजल मंगाकर देने का आश्वासन दिया।

10 बेडों का वार्ड तैयार

मेरठ: मेडिकल में 20 बेड का कांवड़ वार्ड तैयार कराया गया है। शिवभक्तों को चिकित्सा सुविधा की जरूरत पड़ती है तो इसके लिए मेडिकल में बनाया गया कांवड़ वार्ड पूरी तरह तैयार है। 10 बेडों पर वेंटिलेटर की सुविधा है। जबकि एक क्रैश कार्ट दवाओं के लिय रखा गया है। एक स्ट्रेचर है साथ ही आॅक्सीजन सप्लाई है, सक्शन प्वाइंट लगाये गए हैं और पोर्टेबल सक्शन मशीन तैयार रखी गई है।

तीन लोगों का नर्सिंग स्टाफ जिसमें एक नर्स, एक वार्ड ब्वाय व एक सफाइकर्मी की तैनाती की गई है। जबकि हर एक घंटे में डाक्टर भी मरीजों को देखने आते रहेंगे। यह स्टाफ तीन शिफ्टों में काम कर रहा है, पहली शिफ्ट सुबह सात बजे से दोपहर एक बजे तक, दूसरी दोपहर एक बजे से शाम सात बजे तक और तीसरी शिफ्ट शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक रहेगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments