Friday, June 14, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपुलिस ने सपाइयों पर किया लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

पुलिस ने सपाइयों पर किया लाठीचार्ज, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

- Advertisement -
  • छुटपुट हिंसा के बीच महानगर में हुआ 45.68 प्रतिशत मतदान, बूथ से 200 मीटर की दूरी पर बना रहे थे पर्चियां
  • पार्षद प्रत्याशी आपस में भिड़े, पुलिस ने हिरासत में लिया

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: छुटपुट मारपीट और पुलिस लाठीचार्ज के बीच 45.68 प्रतिशत मतदान महानगर में हुआ। फर्जी मतदान को लेकर पुलिस ने दो पार्षद प्रत्याशियों समेत दर्जन भर लोगों को हिरासत में लिया, जिनको छह घंटे तक थाने में बैठाये रखा। पुलिस लाठीचार्ज का लोगों ने विरोध भी किया। वार्ड-55 के फतेहउल्लापुर बूथ से दो सौ मीटर की दूरी पर बैठकर मतदाताओं के लिए पर्ची बना रहे सपाइयों पर पुलिस ने अचानक लाठीचार्ज कर दिया, जिसके बाद यहां भगदड़ मच गई।

पुलिस ने लोगों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। लाठीचार्ज के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई, जिसके बाद मतदान भी प्रभावित हुआ। सपा विधायक अतुल प्रधान ने इसे ट्यूटर पर ट्यूट कर दिया, जिसमें बेवजह लोगों पर लाठीचार्ज कर मतदान को प्रभावित करने की जांच कराने की चुनाव आयोग से मांग की। हालांकि इसमें पुलिस ने कोई कार्रवाई पुलिस कर्मियों के खिलाफ नहीं की हैं।

10 15

पुलिस ने भीड़ को गलियों में खड़ा नहीं होने दिया, जहां भी भीड़ दिखी पुलिस ने सड़क पर लाठी फटकारी और भीड़ को दौड़ा लिया। ऐसा कई स्थानों पर हुआ। फतेहउल्लापुर में मतदान केन्द्र के बूथ संख्या 661, 662, 674 से 200 मीटर की दूरी पर प्रत्याशियों के बस्ते लगे हुए थे।

यहां मतदाताओं की पर्चियां बनाई जा रही थी। अचानक पुलिस कर्मी पहुंचे और पर्चियां बना रहे लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस ने खूब लाठीभांजी और लोगों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। लोगों ने पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध कर दिया। इसके बाद लोगों की भीड़ भी एकत्र हो गई।

इसका एक वीडियो भी वायरल हो गया हैं। सपा विधायक अतुल प्रधान ने ये वीडियो ट्यूटर पर ट्यूट करते हुए वायरल कर दिया हैं। सूरजकुंड में वार्ड 58 के बूथ पर भाजपा पार्षद प्रत्याशी अंशुल गुप्ता और निर्दलीय प्रत्याशी सुमित शर्मा के बीच भिड़ंत हो गई। हाथापाई तक हो गई थी, जिसके बाद पुलिस ने दोनों को कस्टडी में ले लिया था तथा सिविल लाइन थाने के लॉकअप में बंद कर दिया गया।

शाम को पुलिस ने दोनों प्रत्याशियों को मुचलकों में पाबंद करने के बाद ही छोड़ा। इसी तरह से आरजी कालेज के बूथ पर भी फर्जी मतदान को लेकर खूब हंगामा हुआ। दो युवती फर्जी मतदान कर रही थी, जिसका लोगों ने विरोध कर दिया। इसके बाद पुलिस दोनों युवतियों को पकड़कर थाने ले गई।

09 12

जिस समय पुलिस दोनों युवतियों को पकड़कर आरजी कालेज के बूथ से ले जा रही थी तो युवती पक्ष के लोगों ने खूब हंगामा किया गया। पुलिस ने इन लोगों की मुंह भाषा तक हो गई। पुलिस ने करीब दर्जन भर लोगों को फर्जी मतदान करने के आरोप में गिरफ्तार किया, जिनको बाद में छोड़ दिया गया।

फ र्जी मतदान को लेकर भाजपा प्रत्याशी ने किया हंगामा

लालकुर्ती थाना क्षेत्र आरजी डिग्री कालेज बूथ केन्द्र में उस समय हंगामे की स्थिति बन गई। जब एक निर्दलीय प्रत्याशी अपने समर्थकों सहित बूथ केन्द्र पर फर्जी वोट डलवाने लगा। भाजपाइयों व अन्य निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थकों को जानकारी लगी तो उन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया। काफी देर तक बूथ केन्द्र पर अफरातफरी की स्थिति बनी रही। नगर निगम निकाय चुनाव गुरुवार सायं छह बजे समाप्त हो गया।

08 16

वार्ड-44 के मतदान स्थल आरजी डिग्री कालेज में गुरुवार को मतदान चल रहा था। इस बीच कुछ लोग और महिलाएं फर्जी मतदान के विरोध में खड़े होकर हंगामा करने लगे। निर्दलीय प्रत्याशी और भाजपा प्रत्याशी भी मौके पर पहुंच गये। फर्जी मतदान को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हो गई। जिसके चलते वहां कुछ देर तक मतदान रुका रहा। सूचना पर थाना सिविल लाइन पुलिस मौके पर पहुंची और दो युवतियों को हिरासत में ले लिया। शाम को पुलिस ने दोनों को छोड़ दिया।

भाजपा एमएलसी पर आरोप, कमरा बंद कर किया फर्जी मतदान

निकाय चुनावों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए वार्ड नम्बर 20 के दो बूथों पर कांग्रेस व भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच जमकर नोकझोंक हुई। इस दौरान कांग्रेसियों ने भाजपा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और चुनाव आयोग से यहां के दोनों बूथों का मतदान निरस्त कर पुर्नमतदान की मांग की। पुलिस फोर्स ने पहुंच कर यहां किसी तरह मामला शांत किया।

डिफेंस कॉलोनी स्थित कम्युनिटी सेंटर के बूथ संख्या 256 व 257 पर उस समय हंगामा हो गया जब भाजपा एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज और सुनील वाधवा वहां पहुंचे। इन दोनों नेताओं के यहां पहुंचते ही वहां पहले से मौजूद कांग्रेस समर्थकों ने इन दोनों नेताओं पर आरोप लगाया कि इन दोनों के यहां पहुंचते ही फर्जी मतदान शुरु करा दिया गया।

इन कांग्रेसियों का आरोप था कि कमरा बंद कर भाजपा के पक्ष में मतदान कराया गया। इसी बीच हंगामा कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इसकी सूचना फौरन जिलाध्यक्ष अवनीश काजला को दी। सूचना मिलते ही अवनीश काजला और पार्षद प्रत्याशी सुशील सैनी भी अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गर्इं। इस दौरान कांग्रेस नेता विनोद सोनकर और सुशील सैनी की भी भाजपा कार्यकर्ताओं से तीखी नोकझोंक हुई।

07 13

कांग्रेसियों ने आरोप लगाया कि जब एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज सुबह साढ़े नौ बजे अपना वोट डालकर चले गए तो वो पुन: शाम को साढ़े पांच बजे मतदान स्थल पर क्यों पहुंचे। इसी बीच हंगामा बढ़ता देख पुलिस फोर्स को हस्तक्षेप करना पड़ा। जिलाध्यक्ष ने कहा कि वो इस पूरे मामले में जिलाधिकारी से लेकर चुनाव आयोग तक शिकायत करेंगे।

फर्जी मतदान करने पर भाजपाइयों का हंगामा, तीन युवतियां हिरासत में

सिविल लाइन क्षेत्र पुरानी मोहनपुरी में निर्दलीय प्र्रत्याशी की समर्थक युवतियों नेमतदान केन्द्र पर तीन बार फर्जी मतदान करने का प्रयास किया तो भाजपाइयों ने हंगामा खड़ा कर दिया। युवतियों द्वारा फर्जी मतदान करने पर भाजपाइयों ने उन्हें रंगेहाथ पकड़ लिया। हंगामे की सूचना मिलते ही थाना सिविल लाइन पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों युवतियों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने तीनों को जीप में डालकर थाने भिजवा दिया। इस दौरान भाजपाई पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।

सिविल लाइन क्षेत्र नई पुरानी मोहनपुरी वार्ड-44 में बुधवार दोपहर बाद मतदान स्थल पर निर्दलीय प्रत्याशी के पक्ष में तीन लड़कियां आई और बूथ पर फर्जी मतदान करने लगी। इस बात की जानकारी अन्य लोगों को हुई तो वे भी भड़क उठे। उन्होंने लड़की को मतदान केन्द्र से बाहर आते हुए देख लिया।

इस बात की सूचना मिलते ही भाजपा के तमाम नेता एकत्र हो गए और पूर्व पार्षद के खिलाफ हंगामा खड़ा कर दिया। सूचना के बाद मौके पर थाना सिविल लाइन पुलिस पहुंची और हंगामा कर रहे लोगों को शांत किया। महिला पुलिस तीनों युवती को जीप में डालकर थाना सिविल लाइन ले गई। मतदान समाप्ति तक पुलिस ने तीनों युवती को थाने में बैठाये रखा। शाम को उन्हें थाने से छोड़ दिया गया।

फर्जी वोट डालने को लेकर कई मतदान केंद्रों पर हंगामा

सरधना: नगर में फर्जी वोट डालने को लेकर दिनभर हंगामा होता रहा। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठियां फटकारनी पड़ी। भीड़ को खदेड़ने में पुलिस को काफी पसीना बहाना पड़ा। फर्जी वोट डालने की शिकायतें शाम को सबसे अधिक रही।

गुरुवार को सुबह से ही बूथों पर वोटरों की लंबी-लंबी लाइन लगनी शुरू हो गई थी। वोट डालने के लिए लोग घरों से निकल आए थे। दोपहर बारह बजे तक बूथों पर सब ठीक-ठाक चलता रहा। दोपहर बाद बूथों पर फर्जी वोट डालने की शिकायत बढ़ती चली गई। जिसको लेकर बूथों के बाहर प्रत्याशी के समर्थक हंगामा काटने लगे। कई बूथों पर प्रत्याशी के समर्थकों में कहासुनी भी हुई।

भाटवाड़ा, बैरून सराय, तहसील रोड, जैन इंटर कॉलेज, केके पब्लिक स्कूल आदि स्थानों पर बने मतदान केंद्रों पर फर्जी वोट डालने को लेकर हंगामे हुए। इस दौरान पुलिस ने कई युवकों हिरासत में ले लिया। शाम को जैन कॉलेज में बने बूथ के बाहर एक प्रत्याशी के समर्थक द्वारा फर्जी वोट डालने को लेकर हंगामा हो गया। पुलिस ने उनके लाठी मारी तो मामला और बढ़ गया।

जिसको लेकर मौके पर जमकर हंगामा हुआ। बाद में पुलिस ने लाठी फटकारते हुए किसी तरह भीड़ को यहां से खदेड़ा। इसके अलावा केके पब्लिक स्कूल में बने केंद्र पर भी फर्जी वोट डालने का आरोप लगा दो प्रत्याशी के समर्थक आपस में भिड़ गए। मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर ने मामला संभाला। शाम को यह समस्या सबसे अधिक रही।

बीएलओ ने बैलेट पर लगाई मुहर, हंगामा

फलावदा: स्थानीय नगर पंचायत कार्यालय पर बने पोलिंग बूथ पर बीएलओ द्वारा बैलेंट पेपर पर मोहर लगाए जाने को लेकर हंगामा खड़ा हो गया। हंगामे बाजी के चलते बीएलओ को मतदान केंद्र से बाहर निकाल दिया गया। तब जाकर मामला शांत हुआ। नगर पंचायत में बने वार्ड-12 में शांतिपूर्वक मतदान चल रहा था। इसी बीच मतदान केंद्र पर तैनात महिला बीएलओ ने कई मतदाताओ के बैलेट पेपर पर खुद ही मुहर लगा दी।

इस बात को लेकर हंगामा हो गया। एक प्रत्याशी पक्ष द्वारा आरोप लगाया गया कि बीएलओ उनके प्रतिद्वंदी प्रत्याशी के निशान पर मुहर लगवा रही है। हंगामेबाजी के चलते हुए पुलिस ने बीएलओ को बाहर कर दिया गया। बीएलओ का कहना था कि मोहर ठीक न लगने के कारण उसने उसी निशान पर दोबारा मुहर लगाई थी।

जाटौली मतदान केंद्र पर ईवीएम एक घंटा खराब, हंगामा

कंकरखेड़ा: जाटौली गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय में मतदान केंद्र पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन खराब निकलने पर हंगामा हो गया। जब मतदाताओं ने वोट डालने का प्रयास किया। बूथ संख्या-3 की इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन नहीं चल सकी। गांव में मतदान के प्रति काफी उत्साह था। इसलिए थोड़ी ही देर में काफी लंबी लाइन लग गई।

जब मशीन नहीं चली तो महिलाएं धरने पर बैठ गई। लोगों ने हंगामा कर दिया। सूचना मिलने पर पहले कम का खड़ा इंस्पेक्टर पुलिस बल के साथ पहुंचे पीठासीन अधिकारी को मशीन का इंतजाम करने को कहा। करीब 7:45 डीएम दीपक मीणा और एसएसपी रोहित सिंह सजवाण पुलिस बल के साथ मतदान केंद्र पर पहुंच गए। इसी दौरान अचानक मशीन चल गई। जिसके बाद मतदान सुचारू रूप से चल सका।

मतदान केंद्र पर भाजपा-रालोद प्रत्याशियों के बीच हंगामा

कंकरखेड़ा: तक्षशिला स्कूल पर मतदान केन्द्र पर दोपहर को भाजपा व रालोद के प्रत्याशी आमने-सामने आ गए। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर बूथ कैपचरिंग का आरोप लगाया। जिसके बाद लगभग आधे घंटे तक हंगामे की स्थिति बनी रही सूचना पर सीओ दौराला अभिषेक पटेल पुलिस एसएसबी की एक बटालियन के साथ मौके पर पहुंचे। भाजपा मेयर प्रत्याशी हरिकांत अहलूवालिया, एमएलसी धर्मेंद्र भारद्वाज व पंडित सुनील भराला मतदान केन्द्र पर जायजा लेने पहुंचे थे।

इस दौरान भाजपा मेयर प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ स्कूल स्थित मतदान केंद्र पर अंदर जाने लगे। रालोद प्रत्याशी के समर्थकों ने हंगामा कर दिया। उनका कहना था कि बूथ पर किसी भी प्रत्याशी को अंदर नहीं जाना चाहिए। भाजपा नेताओं ने बताया कि रालोद समर्थक भाजपा के वोटरों को वोट नहीं डालने दे रहे हैं। रालोद नेता गौरव चौधरी का कहना था कि भाजपा नेता जबरन दबाव बना रहे हैं।

वहीं, रालोद नेताओं ने भाजपा नेता पर बूथ कैपचरिंग का आरोप लगाया है। जिसके बाद जमकर हंगामा हो गया। दोनों पक्षों के लोगों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाया सूचना पर सीओ दौराला अभिषेक पटेल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस ने किसी तरह दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामले को शांत किया।

मतदाता लिस्ट से 1200 वोट गायब, हंगामा

कंकरखेड़ा: जवाहर नगर में निर्दलीय प्रत्याशी और स्थानीय लोगों ने मतदाता सूची से 1200 मतदाताओं के नाम गायब होने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। स्थानीय लोगों का कहना था कि वार्ड-12 के जवाहरनगर में करीब तीन हजार मतदाता है। मतदाता सूची से करीब 1200 वोटरों के नाम गायब है। जो भी लोग यहां वोट डालने आ रहे हैं। तो मतदाता सूची में उसका नाम नहीं मिल रहा।

11 18

निर्दलीय प्रत्याशी नितिन कंबोज का कहना है कि यह राजनीति के तहत षड्यंत्र किया गया है। यहां पर चुनाव से पूर्व बीएलओ आए थे और सभी लोगों ने वोट बनवाई थी। हंगामे की सूचना पर जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्हें आश्वासन देकर चले गए। वहां पर दोपहर बाद तक स्थानीय लोग हंगामा करते रहे। क्षेत्रीय एक युवक ने बताया कि उनके परिवार में 19 वोट थी, लेकिन मात्र दो वोट ही मतदाता सूची में मिली है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments