Friday, July 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजलती चिता से लाश उठाकर ले गई पुलिस

जलती चिता से लाश उठाकर ले गई पुलिस

- Advertisement -
  • तनाव के चलते विवेक ने लगा थी फांसी, हत्या का आरोप

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मेडिकल थानांतर्गत जेल चुंगी क्षेत्र में एक युवक की मौत पर जब परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए सूरजकुंड ले गए तभी पत्नी ने पुलिस को फोन करके पति की हत्या का आरोप लगा दिया। पुलिस ने जलती हुई चिता से शव को निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

सीओ सिविल लाइंस अरविंद चौरसिया ने बताया कि मेडिकल इलाके के जेल चुंगी निवासी विवेक (37) का पत्नी भावना से कई महीने से विवाद चल रहा था। भावना इन दिनों पिता के घर ब्रह्मपुरी गणेशपुरी में रह रही है। शनिवार शाम को विवेक भावना के पास पहुंचा और देर शाम वहां से वापस घर लौटा था। विवेक के परिजनों के मुताबिक विवेक बेड पर मरा हुआ मिला।

परिजन जब विवेक के शव को सूरजकुंड श्मशान घाट लेकर पहुंचे तो वहां चिता जलाने के लिए उसकी लाश को लकड़ियों के ऊपर रखा था और दाह संस्कार कर दिया गया था। तभी मौके पर पहुंची पुलिस ने जलती हुई चिता से शव निकलवा लिया। सिविल लाइन सीओ के मुताबिक विवेक की पत्नी भावना ने पुलिस को विवेक की हत्या किए जाने की सूचना दी थी। भावना को किसी ने फोन करके बताया कि उसके पति की लाश फांसी पर टंगी हुई मिली है।

भावना को शक है कि परिजनों ने ही विवेक की हत्या कर दी है। पुलिस ने फिलहाल पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पोस्टमार्टम के बाद मृत्यु का कारण निकल कर सामने आ पाएगा। शव का ऊपरी हिस्सा जल चुका है। इसलिए मेडिकल परीक्षण के बगैर मृत्यु के कारण का सुराग मिलना भी मुमकिन नहीं है। विवेक की पत्नी को उसकी मौत के बाद सूचना न देना और उसे अंतिम संस्कार के लिए न बुलाना भी विवेक के परिजनों के शैली पर सवाल खड़े करता है।

06 22

पत्नी भावना ने बताया कि 2019 में शादी हुई थी। पति को ससुराल वालों ने मार डाला। सुबह साढ़े सात बजे मुझे पड़ोसियों का फोन आया कि जल्दी से यहां जेलचुंगी ससुराल आ जाओ। तुम्हारे पति की मौत हो गई है। भावना ने बताया कि परिजनों के साथ घर से निकली तो ससुराल के लोग मुझे रास्ते में मिले। वो पति के शव को अंतिम संस्कार के लिए सूरजकुंड लेकर जा रहे थे।

मैंने कहा एक बार पति का चेहरा दिखा दो। बेटी पिहू को उसके पापा का आखिरी बार चेहरा तो दिखा दो। ससुराल वालों ने मुझे धक्का देकर गिरा दिया। भावना ने बताया कि इसकी जानकारी पुलिस को दी तो पुलिस सूरजकुंड गई और पति का शव चिता से निकलवा कर मोर्चरी में भिजवाया। शनिवार रात 10 बजे पति से बात हुई थी।

हालचाल पूछा था। 15 दिन पहले भावना बुआ के लड़के की शादी के लिये मायके आई हुई थी। ससुराल वालों का कहना है कि विवेक ने फांसी लगाकर जान दी है। परिवार का आरोप है कि आए दिन पति-पत्नी में झगड़ा होता था। झगड़े की वजह से पत्नी घर छोड़कर मायके चली गई है।

विवेक ने कई बार पत्नी से मायके आने के लिए कहा, लेकिन वो वापस नहीं आए। अपने साथ तीन साल की बेटी पिहू को भी मायके ले गई है। विवेक पत्नी, बेटी के बिना तनाव में रहता था। तनाव के चलते उसने शनिवार रात कमरे में फांसी लगा ली।

अधजली लाश का हुआ पोस्टमार्टम

सूरजकुंड स्थित श्मशानघाट से जलती हुई चिता से जिस लाश का मेडिकल पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया था, उसमें मौत के कारणों के बारे में स्पष्ट नहीं आया है। इस कारण बिसरा को जांच के लिये सुरक्षित रख दिया गया है। मेडिकल थाना प्रभारी ने बताया कि किडनी में थोड़ा पस आया है

और शराब के लक्षण भी मिले हैं। इस कारण बिसरा सुरक्षित रखा गया है। वहीं पत्नी भावना ने सुबह लिखित में पति की मौत को लेकर जो सूचना दी थी, उस आधार पर आधी जल चुकी लाश का पोस्टमार्टम कराया गया था। पत्नी की तरफ से कोई तहरीर नहीं आई है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments