Wednesday, February 24, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Bijnor निजी स्कूलों की तर्ज पर बच्चों की शिक्षा की तैयारी को प्रशिक्षण...

निजी स्कूलों की तर्ज पर बच्चों की शिक्षा की तैयारी को प्रशिक्षण शुरू

- Advertisement -
+1
  • बीआर सी पर आंगनबाड़ियो के 4 दिवसीय प्रशिक्षण का कार्य शुरू
  • शिक्षा मित्रों व शिक्षकों का भी शुरू हुआ दो दिवसीय प्रशिक्षण

जनवाणी संवाददाता |

नजीबाबाद: शाला पूर्व शिक्षा कार्यशाला के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को प्रशिक्षण देकर अब सरकारी स्कूलों में कक्षा एक में प्रवेश लेने से पहले बच्चों की आधार शिला मजबूत करने की कवायद शुरू कर दी गई है। नौनिहाल अब सरकारी स्कूलों में निजी स्कूलों की तर्ज पर जूनियर केजी व सीनियर केजी की शिक्षा ले सकेंगे।

बुधवार को बीआरसी में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को प्रशिक्षण देते हुए मास्टर ट्रेनर अर्चना त्यागी ने कहा कि बच्चों की शिक्षा को मजबूत करने के लिए जूनिर केजी व सीनियर केजी की शिक्षा सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों पर दी जाएगी जिसमें आंगनबाड़ी अब नन्हें शिशुओं को शिक्षित करने का काम करेंगी ताकि शिशु को सरकारी स्कूलों में कक्षा एक मेंप्रवेश के लिए तैयार कर सकें।

उन्होंने सभी आंगनबाड़ियों से प्रशिक्षण को गंभीरता से लेकर उसका अपने कार्य के दौरान लाभ उठाने को कहा। प्रशिक्षका रेखा अम्बेडकर,गजाला परवीन ने भी प्रशिक्षण दिया। उधर मिशन प्ररेणा के अन्तर्गत प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों व शिक्षा मित्रों को दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में खंड शिक्षा अधिकारी ईशक लाल ने कहा कि भी शिक्षक व शिक्षा मित्र प्रशिक्षण को गंभीरता से लेकर शिक्षण कार्य में इसका लाभ लें और बच्चों को लाभान्वित करें।

खंड शिक्षा अधिकारी ईशक लाल ने कहा कि प्रशिक्षण से एक शिक्षक को बच्चों के मनोविज्ञान को समझने में काफी आसानी होती है। आधार शिला क्रियान्वयन संदर्शिका सम्बद्ध,हस्त पुस्तिका,एवं गणित पर आधारित प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए मास्टर ट्रेनर /एआरपीमोबीन हसन ने प्रिंट रिच मैटेरियल को माध्यम से विद्यालयों की व्यवस्था सुधार तथा परिषदीय विद्यालयों में शिक्षण सुधार के संबंध में जानकारी दी।

उन्होंने बच्चों की बुनियादी शिक्षा को मजबूत करने पर बल दिया। मिशन प्ररेणा के अन्तर्गत 100 दिन का उपचारात्मक कार्य करने,कोरोना काल में बच्चों की शिक्षा में पिछड़ेपन को दूर करने के संबंध में उपाय बताए। प्रशिक्षक सुखदेव, नरेन्द्र, जयप्रकाश आदि ने भी प्रशिक्षण दिया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments