Saturday, June 15, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजनता लापरवाह, न मास्क, न सोशल डिस्टेंसिंग

जनता लापरवाह, न मास्क, न सोशल डिस्टेंसिंग

- Advertisement -
  • तीन दिन में उपलब्ध होगी नोजल वैक्सीन, चुकाने होंगे दाम
  • कोरोना की दस्तक, फिर भी नहीं चेत रही जनता

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना एक बार फिर वापस लौट आया है, देश में कोरोना की चौथी लहर ने दस्तक दे दी है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार जनता से कोरोना गाइडलाइनों का पालन करने की अपील के बाद भी जनता लापरवाह नजर आ रही है।

बाजारों व सार्वजनिक स्थानों पर मौजूद लोग न तो मास्क लगा रहे हैं न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहें है। हालांकि कोरोना के नए वेरिएंट बीएफ.7 से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह तैयार है, लेकिन आम जनता को भी इसे लेकर सावधानियां बरतनी चाहिए।

कोरोना जांच की बढ़ाई जाएं टेस्टिंग

सरकारी व निजी अस्पतालों में खांसी-जुखाम के मरीजों की कोरोना जांच कराने के आदेश स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए है। ऐसे मरीजों का रिकार्ड भी अस्पतालों व डाक्टरों को विभाग को उपलब्ध कराना होगा। जांच के लिए सरकारी व निजी अस्पतालों में कैंप लगाए गए है। इनमें मरीजों की जांच की सुविधा उपलब्ध है। वहीं मामूली बुखार आने पर भी कोरोना की जांच होगी।

बाजारों में उमड़ रही भीड़

कोरोना की दूसरी लहर ने जिस तरह कोहराम मचाया था वह मंजर आज भी दिलों में खौंफ पैदा करता है। लेकिन शहर की जनता शायद उसे भुला चुकी है। देश में कोरोना की चौथी लहर ने दस्तक दे दी है, स्वास्थ्य मंत्रालय से कोरोना से निपटने के लिए गाइडलाइन जारी हो चुकी है।

01 22

लेकिन आम जनता को इनसे कोई सरोकार नहीं है। बाजारों में भारी भीड़ उमड़ रही है, लोगों ने मास्क लगाना छोड़ दिया है जबकि सोशल डिस्टेंसिंग को तो जैसे जनता भूल ही गई है। शायद आम लोगो को इस बात का अंदाजा नहीं है कि कोरोना कोरोना वायरस से बचाव के लिए सिफ गाइडलानों का पालन करना ही उपाय है।

मेडिकल-जिला अस्पताल में तैयारी पूरी

मेडिकल में कोरोना मरीजों के लिए बीस बैडों का इंतजाम किया गया है। हालांकि अभी यह बैड खाली है लेकिन जरूरत पड़नें पर इनकी संख्या बढ़ाई जाएगी। वहीं जिला अस्पताल में कोरोना की जांच करने के लिए अलग से काउंटर बनाया गया है।

02 24

हालांकि यहां कोरोना वार्ड नहीं बनाया गया है लेकिन इसको लेकर पूरी सावधानियां बरती जा रही है। मेडिकल व जिला अस्पताल में बिना मास्क के किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। इसके साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर भी मास्क जरूरी कर दिया गया है।

कोरोना की नोजल वैक्सीन तीन दिन में होगी उपलब्ध

सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया जिले में कोरोना वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। तीन दिनों में नाक द्वारा दी जाने वाली वैक्सीन भी उपलब्ध हो जाएगी। हालांकि इसको लेने के लिए इसके दाम चुकानें होगें लेकिन वह बेहद मामूली रहेंगे। शुरूआती दौर में नाक से लेने वाली वैक्सीन निजी अस्पतालों में उपलब्ध कराई जाएगी, जिसके दाम वैक्सीन आने पर ही निर्धारित होगे। कोरोना को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सतर्क है, लेकिन अभी मरीज नहीं है।

कोरोना ग्रस्त बच्चे का आज लिया जाएगा सैंपल

गढ़ रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती बिजनौर के रहने पांच साल के बच्चे का आज फिर से सैंपल लिया जाएगा। सीएमओ ने बताया बच्चे का बिजनौर में सैंपल पॉजिटिव आया था। जिसके बाद उसे मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उसकी अभी जिनोम सिक्वेसिंग जांच नहीं हुई है। आज फिर से सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments