Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरैपिड: दिल्ली रोड धंसी, कई फीट गहरा गड्डा

रैपिड: दिल्ली रोड धंसी, कई फीट गहरा गड्डा

- Advertisement -
  • एनसीआरटीसी अधिकारी फौरन मौके पर पहुंचे, गड्डा भरवाया
  • रैपिड कार्रवाई: दीपावली के दिन हुई घटना, देर शाम तक चला कार्य
  • लोेगों की चर्चाओं पर रैपिड अधिकारियों की सफाई

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: दो दिन पूर्व ही मेरठ में रैपिड की पहली सुरंग का ब्रेकथ्रू हुआ था और एनसीआरटीसी के तमाम इंजीनियर्स, अधिकारियों और कर्मचारियों ने खूब जश्न मनाया था। भारत मां की जय के जयकारे लगे थे। लम्हा जरूर खुशी व गौरान्वित करने वाला था, लेकिन खुशी में दो दिन बाद ही उस समय फिर खलल पड़ गई जब रैपिड सुरंग के रास्ते में (केसरगंज पुलिस चौकी के पास) एक बार फिर से सड़क धंस गई।

12 21

सड़क धंसने की सूचना जैसे ही एनसीआरटीसी अधिकारियों को मिली तो वो फौरन मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। रैपिड अधिकारियों के साथ रैपिड कार्यों में लगे इंजीनियर्स भी मौके पर पहुुंचे। दीपावली के दिन हुई इस घटना ने रैपिड अधिकारियों की दीवाली का मजा भी कुछ फीका कर दिया। रैपिड अधिकारियों ने मौका मुआयना कर तभी गड्डे को भरवाने का काम शुरू कर दिया। कई घंटे की मशक्कत के बाद तभी इस गड्डे को भरवा दिया गया।

गड्डा कई फीट गहरा था। मौके पर मौजूद रैपिड सिक्योरिटी के गार्डों ने बताया कि जिस जगह गड्डा हुआ है सुरंग भी उसी के आस पास है। सूत्रों के अनुसार रैपिड की सुरंग इस समय मंडी के मुख्य द्वार के आस पास है और सड़क भी यहीं से धंसी है। उधर सड़क धंसते ही क्षेत्रीय लोगों में फिर से चर्चाओं का दौर शुरू हो गया, जबकि रैपिड अधिकारियों ने साफ किया कि सुरंग खुदाई पूरी तरह से सुरक्षित है।

दिल्ली रोड पर बैरिकेडिंग लगाकर रोका मार्ग

दिल्ली रोड पर केसरगंज पुलिस चौकी के पास जिस समय सड़क धंसी तो वहां फौरन सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई। दिल्ली रोड पर दोनों ओर बैरिकेडिंग लगाकर ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया गया।

13 21

किसी भी वाहन को घटना स्थल की ओर जाने नहीं दिया गया। पुलिस कर्मियों के अलावा एनसीआरटीसी के सिक्योरिटी गार्डों को भी घटना स्थल पर तैनात कर दिया गया।

फिलहाल दिल्ली रोड पर भारी वाहनों की आवाजाही बंद

केसरगंज पुलिस चौकी के पास सड़क धंसने से आवागमन बाधित हुआ। सड़क धंसते ही वहां बैरिकेडिंग लगा कर रूट को डायवर्ट कर दिया गया था। हांलाकि अगले दिन सुबह रूट तो खोल दिया गया, लेकिन भारी वाहनों की आवाजाही पूरे दिन बंद रही।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments