Saturday, January 29, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनर्क जैसा जीवन जी रहे कंकरखेड़ा के बाशिंदे

नर्क जैसा जीवन जी रहे कंकरखेड़ा के बाशिंदे

- Advertisement -
  • सीवर लाइन टूटी, गंदगी के लगे अम्बर
  • श्रद्धापुरी फेज-वन के आसपास की कई कॉलोनियों को जीना मुश्किल

जनवाणी संवाददाता |

कंकरखेड़ा: सिटी के पॉश एरियाज के अलावा कुछ गिने चुने मोहल्लों में ही सफाई व्यवस्था पर ध्यान दिया जा रहा है। जबकि अन्य एरिया की हालत बद से बदतर बनी हुई है। लोगों को सफाई के लिए अपने पास से पैसा खर्च करना पड़ रहा है। शहर के एक किनारे बसे सैनिक कॉलोनी, ओम नगर व केंद्रीय विहार के निकट स्थित मोहल्ले का हाल भी कुछ ऐसा ही है। जहां बरसों से रह रहे लोगों को उन सुविधाओं को आज भी बुनियादी सुविधाओं का इंतजार है।

श्रद्धापुरी फेज-वन के लोगों के लिए जीवन नर्क से कम नहीं है। हालात इस कदर बदतर है कि नगर निगम की गाड़ी खुद गलियों से कूड़ा उठाकर लाती है और मुख्य रोड पर केंद्रीय विहार के निकट डाल देती है। यहां कई जगह सीवर टूटे पड़े हैं। गंदगी के अंबार लगे हुए हैं। यहां से गुजर ना राहगीरों के लिए भी बहुत मुश्किल है।फिर जो यहां आसपास में लोग रह रहे हैं। उनका जीवन तो किसी नरक से कम नहीं है।

यहां पर हर समय बदबू फैली रहती है। सैनिक कॉलोनी, ओम नगर व केंद्रीय विहार के लोग नर्क से छुटकारा पाने के लिए छटपटा रहे हैं। अधिकारियों को शिकायत करते हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती। यहां यह प्रतिदिन का दस्तूर हो गया है कि गंदगी कालोनियों से उठाकर इस क्षेत्र में डाल दी जाती है। यहां के निवासियों का कहना है कि कई बार नगर निगम में शिकायत की जा चुकी है। इसके बावजूद कालोनियों के बीच में गंदगी डाली जा रही है और कोई सुनवाई नहीं होती। टेलर मास्टर संजू का कहना है कि जनप्रतिनिधियों से वह शिकायत करते हुए थक चुके है।

कई बार जनप्रतिनिधियों के साथ अधिकारियों को भी फोन करके शिकायत दी गई, लेकिन आश्वासन तो मिला। धरातल पर कोई काम नहीं हुआ। यहां जीवन बहुत बदबू में बीत रहा है। सीवर टूटने से यहां के हालात ऐसे हो गए हैं कि थोड़ी सी बरसात होने पर रास्ते तालाब जैसे हो जाते हैं। दरअसल सीवर नाले टूटे पड़े हैं और चौक हो जाते हैं। जिस कारण से बरसात का पानी झेलने में असमर्थ रहते हैं।

सीवर और नाली जाम

सैनिक कॉलोनी, ओम नगर व केंद्रीय विहार में सैकड़ों परिवार के लोग गंदगी के बीच गुजर बसर करने को मजबूर हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि जब से वह इन कॉलोनियों में आकर बसे हैं। तब से लेकर आज तक नगर निगम की तरफ से कोई भी सुविधाएं नहीं मिली हैं। सीवर लाइन न बिछने और नाली जाम की समस्या तो आम बात है। टायलेट और घरों से निकलने वाली गंदगी नाली के माध्यम से रोड पर फैली हुई है। गंदगी का आलम इस कदर है कि लोगों को घर से निकलते समय मुंह बंद करना पड़ता है। इससे लोग आए दिन बीमार हो जाते हैं। कई बार शिकायत की गई, लेकिन कोई हल नहीं निकल सका।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments