Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपीएल शर्मा रोड पर सड़क उखड़ी, व्यापारियों में आक्रोश

पीएल शर्मा रोड पर सड़क उखड़ी, व्यापारियों में आक्रोश

- Advertisement -
  • व्यापारियों ने संबंधित ठेकेदार और कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की
  • निर्माण के समय भी सड़क से रोड़ी उखड़ने की व्यापारियों ने की थी शिकायत
  • अधिकारियों पर आरोप नोटिस भेजकर जांच कराने के नाम पर की जाती है खानापूर्ति

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पीएल शर्मा रोड पर हाल ही में नगर निगम के ठेकेदार (कंपनी फर्म) द्वारा करोड़ों रुपये की लागत से जिस सड़क का निर्माण कराया गया था, वो फिर से उखड़ने लगी है। व्यापारियों का आरोप है कि जिस दौरान सड़क निर्माण चल रहा था। उस समय भी अधिकारियों से शिकायत की गई थी, जिसमें नोटिस जारी कर जांच कराकर संबंधित ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया गया था। शिकायत के बाद न तो ठेकेदार पर कोई कार्रवाई हुई न ही ठेकेदार के द्वारा सही तरह से सड़क निर्माण ही कराया जा सका, जिसको लेकर अधिकारियों के खिलाफ व्यापारियों में आक्रोश है।

नगर निगम क्षेत्र में निगम द्वारा बनाई जा रही सड़कों की गुणवत्ता की जांच अधिकारियों के द्वारा निर्माण के दौरान किस तरह से की जाती है। उसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पीएल शर्मा रोड पर दो माह पूर्व बनाई गई सड़क एक बार फिर से टूटने लगी है। इसी में वार्ड-48 माधवपुरम के प्रेम विहार में जो सड़क बनाई जा रही थी। उसकी रोड़ी चंद घंटों के बाद ही सड़क से उखड़ गई। स्थानीय लोगों के विरोध एवं मीडिया तक मामला पहुंचता है तो अधिकारी संबंधित ठेकेदार/कंपनी फर्म को नोटिस जारी कर उससे जवाब मांगने एवं जांच के बाद उसके खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी मात्र देते हैं।

जिसके कुछ दिनों बाद मामला फिर से ठंडे बस्ते में चला जाता है। स्थानीय लोगों की वर्षों की मांग के बाद तो सड़कों का निर्माण बमुश्किल होता है, ऊपर से सड़क निर्माण होते ही यदि सड़क उखड़ने लगे तो अधिकारी एवं ठेकेदार के खिलाफ स्थानीय लोगों का रोष प्रकट करना काफी हद तक जायज माना जाता है। पीएल शर्मा रोड पर जिस समय निर्माण चल रहा था उस समय भी स्थानीय लोगों ने निर्माण करने वाली कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

जिसके बाद अधिकारियों ने ठेकेदार को नोटिस जारी कर कार्रवाई का आश्वासन पीएल शर्मा रोड के व्यापारियों को दिया था, लेकिन कार्रवाई तो हुई नहीं बल्कि घटिया स्तर की निर्माण सामग्री से सड़क निर्माण का कार्य पूरा हो गया। अब दो माह बाद फिर से सड़क उखड़ने लगी है, सड़क में गड्ढे बने तो ठेकेदार द्वारा फिर से लीपापोती का पेंचवर्क कार्य शुरू करा दिया गया है।

होंडा शोरूम पर चला मेडा का बुलडोजर

परतापुर क्षेत्र में निर्माणाधीन होंडा शोरूम पर मेरठ विकास प्राधिकरण की टीम ने गुरुवार को बुलडोजर चला दिया। गुरुवार की सुबह मेडा इंजीनियरों की टीम दल-बल के साथ पहुंची तथा निर्माणाधीन शोरूम पर बुलडोजर चलाकर तोड़फोड़ कर दी। इस दौरान हलका विरोध भी हुआ, लेकिन मेडा इंजीनियरों की तरफ से तोड़फोड़ जारी रखी।
प्रवर्तन जोन प्रभारी अर्पित यादव ने बताया कि मेडा ने अवैध निर्माण के दौरान पहले नोटिस भेजा, फिर सील कीकार्रवाई भी की थी।

22 6

इसके बावजूद निर्माणकर्ता ने अवैध निर्माण जारी रखा। इसकी पुलिस में भी तहरीर दी गई थी। इसके बाद गुरुवार को टीम ध्वस्तीकरण करने के लिए पहुंची। होंडा शोरूम की अवैध तरीके से बिल्डिंग का यहां निर्माण किया गया था। होंडा शोरूम पर कुछ जगह पर अवैध बिल्डिंग बनी थी। जैसे ही यहां बुलडोजर पहुंचा तो होंडा शोरूम के कर्मचारियों और मैनेजर के हाथ पैर फूल गए। अफरातफरी का माहौल बन गया। होंडा शोरूम के मैनेजर व मेडा इंजीनियरों के बीच बातचीत भी हुई,

जिसके बाद टीम ने तब तक काफी तोड़फोड़ कर दी थी। होंडा के मैनेजर नीरज बंसल ने बार-बार आग्रह किया, जिसके बाद मेडा इंजीनियरों ने बुलडोजर रोक दिया। एक तरह से कम तोड़फोड़ की। लोगों का आरोप था कि मेडा इंजीनियरों की मिलीभगत से ही अवैध निर्माण होता हैं। शिकायत के बाद ही खानापूर्ति करने के लिए मेडा के इंजीनियर कार्रवाई करते हैं। जिस शोरूम पर तोड़फोड़ की कार्रवाई हुई हैं, ये थाना परतापुर क्षेत्र में है होंडा का शोरूम संचालित हैं।

काशी में कॉलोनी पर चला बुलडोजर

ग्राम काशी दयाल गगोल रोड पर लगभग 10000 वर्ग मीटर क्षेत्रफल के भू-भाग में निर्माणाधीन अवैध कॉलोनी को ध्वस्त किया गया है। काशी भारत एग्रो फैक्ट्री के सामने गगोल रोड पर लगभग 150 वर्ग गज भूमि में किये गये अनाधिकृत निर्माण को भी ध्वस्त किया गया है । कमल बंसल निकट मैन गगोल रोड निकट कैलाश डेरी मेरठ लगभग 600 वर्ग मीटर भूमि से किये गये अनाधिकृत निर्माण को ध्वस्त किया गया है ।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments