Friday, June 14, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutपरिवार को बंधक बनाकर लाखों का डाका

परिवार को बंधक बनाकर लाखों का डाका

- Advertisement -
  • लाखों के जेवरात, नकदी ले गए बदमाश, पुलिस मान रही घटना को संदिग्ध, रसोई में खाना खाकर हुए फरार

जनवाणी संवाददाता |

किठौर: नंगलामल में बीती रात आधा दर्जन से अधिक सशस्त्र नकाबपोश बदमाशों ने एक मकान में धावा बोलकर छत पर सो रहे दंपति व मासूम बेटे को गनप्वाइंट पर ले लिया। बदमाश दंपति को बेटे सहित नीचे कमरे में ले गए और सेफ की चाबी मांगी।

चाबी न मिलने पर पति के साथ मारपीट कर सेफ का ताला तोड़ जेवरात निकाल लिए। दंपति और मासूम के हाथ-पैर बांध, कमरे में बंद कर बदमाश दूसरे कमरे में घुसे और वहां रखे संदूक से नकदी जेवरात कपड़े निकाल लिए। डेढ़ घंटा तांडव मचाने के बाद बदमाश रसोई में रखा खाना खाकर फरार हो गए।

19 22

मुंडाली का नंगलामल निवासी शिवम पुत्र अनिल तोमर समयपुर मार्ग स्थित गांव के बाहरी छोर पर रहता है। शनिवार रात वह अपनी पत्नी प्रियंका, बेटे प्रांजल के साथ छत पर सोया हुआ था। रात करीब 12 बजे तमंचों व धारदार हथियारों से लैस 10-11 नकाबपोश बदमाश जंगल की ओर से दीवार फांदकर उसके घर में घुसे और छत पर पहुंच गए।

शिवम दंपति व मासूम बेटे को घेराबंदी कर बदमाश रोटी मांगते हुए गनप्वांइट पर तीनों को नीचे कमरे में ले गए। बदमाशों ने शिवम से सेफ अलमारी की चाबी मांगी तो शिवम ने चाबी दूसरे घर मम्मी के पास होने की बात कह दी। जिस पर बदमाशों ने शिवम को पीटा और ताला तोड़कर सेफ में रखे प्रियंका 75 ग्राम सोने व 400 ग्राम चांदी के जेवरात निकाल लिए।

21 24

तीनों को हाथ-पैर बांधकर इसी कमरे में बंद करने के बाद बदमाश दूसरे कमरे में घुसे और वहां रखे संदूक का ताला तोड़कर उसमें से शिवम की मम्मी प्रीति के 30 ग्राम सोने के जेवरात, कपड़े और 50 हजार नकदी निकाली। अंत में बदमाश रसोई में रखा खाना खाकर फरार हो गए। किसी तरह बंधनमुक्त हुए शिवम ने अपने भाई विशाल और पीआरवी को घटना से अवगत कराया। विशाल ग्रामींणों के साथ मौके पर पहुंचा तब तक पीआरवी भी आ गई। इंस्पेक्टर घटना को संदिग्ध मान रहा है।

पुलिस ने लिखवाई चोरी की तहरीर

घटनास्थल पर पहुंची पीआरवी ने इंस्पेक्टर को डकैती की सूचना दी। आरोप है कि आराम फरमा रहे इंस्पेक्टर ने हल्का दारोगा निर्दोश कुमार को मौके पर भेजा। दारोगा घटना की जानकारी के साथ शिवम और विशाल को भी थाने ले गया और खुद बोलकर उनसे चोरी की तहरीर लिखवा ली। बाद में एसएसपी आदेश पर डकैती की रिपोर्ट दर्ज हुई।

आलाधिकारियों को किया गया गुमराह

डकैती प्रकरण में पुलिस के रवैये से नाराज ग्रामींणों ने सांसद राजेंद्र अग्रवाल से शिकायत की। सांसद ने एसएसपी को पूरा घटनाक्रम बताया। एसएसपी के आदेश पर एसपी देहात ने इंस्पेक्टर से उसकी लोकेशन पूछी तो इंस्पेक्टर ने थाने में रहते हुए खुद को घटनास्थल पर बता दिया। हालांकि घटनास्थल पर इंस्पेक्टर से पहले सीओ रूपाली राय उपस्थित हो गईं। इंस्पेक्टर एसपी देहात के साथ-साथ घटनास्थल पर पहुंचे।

घटनास्थल पर घंटों डटीं रही स्पेशल टीमें

एसपी देहात कमलेश बहादुर के बाद फोरेंसिक, सर्विलांस और डॉग स्क्वायड टीमें मौके पर पहुंची और करीब एक डेढ़ घंटे तक घटनास्थल का सूक्ष्म निरीक्षण किया। 10:50 बजे एसएसपी रोहित सिंह सजवाण भी मौके पर पहुंचे और लगभग 1:20 घंटे पीड़ित परिवार से बंद कमरे में पूछताछ की।

बदमाशों ने सबसे पहले कब्जाया मोबाइल

प्रियंका ने बताया कि शिवम दंपति बेटे को मोबाइल चलाता छोड़ सो गए थे। रात में बदमाशों ने पहुंचते ही पहले प्रांजल से मोबाइल छीना तो प्रांजल ने अपने माता-पिता को जगाया।

20 26

आंख खुलने पर तीनों लोग बदमाशों से घिरे हुए थे। बताया कि जाते वक्त बदमाश मोबाईल को बाइक पर रखा छोड़ गए।

खड़ी बोली बोल रहे थे युवा बदमाश

शिवम ने बताया कि सभी बदमाश 22 से 27 वर्ष की उम्र के लगे रहे थे और खड़ी बोली बोल रहे थे। एक-दूसरे को सोनू, छोटे और सरदार नाम लेकर पुकार रहे थे। बता दें कि गत वर्श भी नंगलामल में मैली कारोबारी के घर पर डकैती की घटना इसी पैटर्न पर हुई थी। बदमाश छत पर सो रहे दो दंपति को पकड़ नीचे ले गए। जेवरात, कपड़ा नकदी लूटा और खाना खाकर फरार हुए थे।

एडीजी, आईजी ने किया घटनास्थल का निरीक्षण

रविवार शाम करीब 4:00 बजे एडीजी राजीव सबरवाल और आईजी नचिकेता झा ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। दोनों अधिकारियों ने पीड़ित परिवार से काफी देर पूछताछ की।

15 लाख की लूट के मामले में एडीजी पहुंचे मवाना

मवाना: निर्माणाधीन एनएच-119 पर तीन दिन पूर्व कौल पुल के समीप एटीएम कर्मचारी के साथ हुई 15 लाख की लूट के मामले में एडीजी राजीव सभरवाल रविवार को मवाना पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने लूट की जानकारी ले घटना स्थल का निरीक्षण किया।

बता दें कि शुक्रवार देर शाम निर्माणाधीन एनएच-119 पर कौल बाइपास के समीप इंडिया वन एटीएम कंपनी के मेरठ डिस्ट्रीब्यूटर कविंद्र चतुर्वेदी के साथ उस समय 15 लाख की लूट हो गई थी। जब वह बहसूमा से फलावदा में कैश डालने के लिए जा रहा था। लूट के बाद बदमाश एनएच-119 बाइपास पर कौल फ्लाईओवर के पास पीछे से और गोली मारने की धमकी देते हुए 15 लाख रुपये से भरा बैग लूट कर फरार हो गये थे।

18 24

रविवार को लूट के मामले की जानकारी लेने के लिए एडीजी मेरठ राजीव सभरवाल मवाना पहुंचे। जहां उन्होंने थाना पुलिस के साथ घटना स्थल का निरीक्षण करते हुए थाना पुलिस लूट के बार में जानकारी ली और जल्द से जल्द लूट का खुलासा करने का आश्वासन दिया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments