Tuesday, May 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsदेश को स्पोर्ट्स पॉवर बनाने का मार्ग है सांसद खेल महाकुंभ: प्रधानमंत्री

देश को स्पोर्ट्स पॉवर बनाने का मार्ग है सांसद खेल महाकुंभ: प्रधानमंत्री

- Advertisement -
  • सांसद खेल महाकुंभ गोरखपुर के समापन समारोह में वीडियो संदेश से पीएम मोदी ने किया खिलाड़ियों का मार्गदर्शन
  • 2014 की तुलना में तीन गुना बढ़ गया है खेल मंत्रालय का बजट

जनवाणी ब्यूरो |

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत को स्पोर्ट्स पॉवर बनाने के लिए नए रास्ते चुनने होंगे, नई व्यवस्थाएं बनानी होंगी। सांसद खेल महाकुंभ ऐसा ही नया मार्ग है, नई व्यवस्था है। सांसद खेल महाकुंभ खेल क्षेत्र का वह नींव है जिस पर भविष्य की भव्य इमारत का निर्माण होने जा रहा है। पीएम ने कहा कि जरूरी है कि स्थानीय स्तर पर निरंतर प्रतियोगिताओं का आयोजन होता रहे। इससे खेल प्रतिभाओं में निखार आता है। उनका मनोबल मजबूत होता है।

पीएम मोदी गुरुवार को गोरखपुर के क्षेत्रीय क्रीड़ांगन में आयोजित सांसद खेल महाकुंभ के समापन समारोह में खिलाड़ियों का मार्गदर्शन कर रहे थे। वीडियो संदेश के जरिये प्रधानमंत्री ने कहा कि खेल व खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के लिए सरकार ने बजट में कई प्रावधान किए हैं। 2014 की तुलना में खेल मंत्रालय का बजट तीन गुना कर दिया गया है। अनेक आधुनिक स्टेडियम बनाए जा रहे हैं। खिलाड़ियों को लाखों रुपये की मदद की जा रही है। हमें खेलों के प्रति होलिस्टिक विजन अपनाना होगा। ‘टॉप्स’ जैसी योजना से खिलाड़ियों के प्रशिक्षण पर ध्यान दिया जा रहा है। खेलो इंडिया के साथ साथ फिट इंडिया और योग जैसे अभियान भी आगे बढ़ रहे है।

63 3

तीन-चार पीढ़ियों तक नहीं बढ़ीं खेल की सुविधाएं

पीएम मोदी ने कहा कि किशोरावस्था में हम देखते हैं कि हर किशोर पेड़ पर या अन्य कहीं लटक कर अपनी लंबाई बढ़ाने का प्रयास करते हैं। यह इस बात का संकेत है कि फिट रहने की इच्छा हर किसी में होती है। हमारे परम्परागत मेलों में खेलकूद होते थे। अखाड़ों में भी भांति-भांति के खेल होते थे। पर, बाद में खेलकूद को उपेक्षित कर दिया गया। हालात यह हो गए कि पीटी के पीरियड को भी टाइम पास मान लिया गया। तीन-चार पीढ़ियों तक न खेल के लिए सुविधाएं बढ़ीं और न ही खेल का आकार।

बाहर आने को लालायित है खिलाड़ियों का गुप्त-सुप्त सामर्थ्य

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश के खिलाड़ियों में बहुत गुप्त और सुप्त सामर्थ्य है जो बाहर आने को लालायित भी है। इस सामर्थ्य को मंच देने, निखारने में सांसद खेल महाकुंभ की बड़ी भूमिका है। खुशी है कि भाजपा के सैकड़ो सांसद खेल महाकुंभ का आयोजन करा रहे हैं। इससे बड़ी संख्या में खेल प्रतिभाओं को मौका मिल रहा है। इन्ही खेल प्रतिभाओं में कुछ राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर खेलेंगे। आगे चलकर ओलंपिक जैसी प्रतियोगिताओं में देश के लिए मेडल जीतेंगे। पीएम मोदी ने खिलाड़ियों से कहा कि आप में से हजारों की संख्या में ऐसे युवा हैं जो किसी छोटे गांव या छोटे कस्बे से आये हैं। ये दिखाता है कि सांसद खेल प्रतियोगिताएं किस तरह युवा खिलाड़ियों को नये अवसर देने का नया प्लेटफार्म बन रही हैं। आप लोग जो टीवी पर तमाम तरह के टैलेंट हंट कार्यक्रम देखते हैं तो ये भी पाते हैं कि उसमें भी कितने भी बच्चे छोटे-छोटे शहरों से होते हैं।

यूपी में बड़े पैमाने पर हो रहा खेल सुविधाओं का विकास

प्रधानमंत्री ने खेलों के विकास व खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हें यह जानकर खुशी है कि उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर खेल सुविधाओं का विकास हो रहा है। गोरखपुर में रीजनल स्टेडियम इसका उदाहरण है। गोरखपुर में सौ से अधिक गांवों में खेल के मैदान बनाए गए हैं। चौरीचौरा में मिनी स्टेडियम का निर्माण हो रहा है।

हारने वालों ने भी जीतने के लिए बहुत कुछ सीखा

महायोगी गुरू गोरखनाथ जी की पवित्र धरती को श्रद्धापूर्वक नमन करने के साथ प्रधानमंत्री ने सांसद खेल प्रतियोगिता में शामिल सभी खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि आप सभी ने बहुत मेहनत की है। इस प्रतियोगिता में कुछ खिलाड़ियों को जीत मिली होगी कुछ को हार का सामना करना पड़ा होगा। खेल का मैदान हो या जीवन का मैदान हार-जीत हमेशा लगी रहती है। खिलाड़ी अगर यहां तक पहुंचे हैं तो वे हारे नहीं हैं। उन्होंने जीतने के लिए बहुत कुछ सीखा है, ज्ञान अर्जन किया है, अनुभव प्राप्त किया है। यही तो सबसे बड़ी पूंजी है। यही खेल भावना भविष्य में सफलताओं के दरवाजे खोल देगी।

खेल व कला प्रतिभा की भावना एक जैसी

पीएम मोदी ने कहा कि बीते कुछ सप्ताह में सांसद खेल महाकुंभ में आज उनका तीसरा कार्यक्रम है। उन्हें बताया गया है कि इस प्रतियोगिता में कुश्ती, कबड्डी, हॉकी जैसे खेलों के साथ चित्रकारी, लोकगीत, लोकनृत्य और तबला बांसुरी आदि के कलाकारों ने भी भाग लिया है। यह बहुत ही सुन्दर, सराहनीय और प्रेरणा देने वाली पहल है। प्रतिभा चाहे खेल की हो या फिर कला, संगीत की उसकी भावना और उसकी ऊर्जा एक जैसी ही होती है। खासकर जो हमारी भारतीय लोक विधाएं हैं, उन्हें आगे बढ़ाने की नैतिक जिम्मेदारी भी हम सब पर है। इससे पहले जब गोरखपुर में खेल महाकुंभ हुआ था तो उसमे लगभग 16 से 20 हजार खिलाड़ियों ने भाग लिया था। इस बार यह संख्या बढ़कर करीब 24 हजार से 25 हजार हो गई है। इनमें से करीब 9 हजार तो बेटियां भी हैं। उन्होंने आयोजन के लिए सांसद रविकिशन को कला की अहमियत बताने वाला कहकर तारीफ की और बधाई दी।

मिलेट्स के प्रति प्रोत्साहित कर बोले पीएम, सुपर फूड है श्रीअन्न

पीएम मोदी ने खिलाड़ियों को मिलेट्स के प्रति भी प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि अच्छे पोषण के लिए मिलेट्स जरूरी हैं। ज्वार बाजरा जैसे मिलेट्स या मोटे अनाज सुपर फूड की श्रेणी में आते हैं। अब देश में इन्हें श्रीअन्न की पहचान दी गई है। युवाओं का आह्वान करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आप सभी को इन अभियानों से जुड़ना है। देश के इस मिशन को लीड करना है। आज ओलंपिक से लेकर दूसरे बड़े टुर्नामेंट तक जिस तरह से भारत के खिलाड़ी मेडल जीत रहे हैं, इस लीगेसी को आप जैसे युवा खिलाड़ी ही आगे बढ़ायेंगे। पीएम ने कहा कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि युवा व खिलाड़ी इसी तरह चमकेंगे। अपनी सफलताओं की चमक से देश का नाम रोशन करेंगे।

खेलों में दिख रही सशक्त और समर्थ भारत की नई तस्वीर: मुख्यमंत्री

64 5

गोरखपुर में आयोजित सांसद खेल महाकुंभ में खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए खेलो इंडिया अभियान से खेलों के प्रति युवाओं में नई जागरूकता जागृत हुई है। फिट इंडिया अभियान से इसे और ऊंचाई मिली। इन अभियानों से आज खेलों के क्षेत्र में भी सशक्त और समर्थ भारत की नई तस्वीर दिख रही है।

क्षेत्रीय क्रीड़ांगन में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के मार्गदर्शन में शुरू हुए खेलो इंडिया व फिट इंडिया अभियान का परिणाम है कि ओलंपिक, एशियाड, कामनवेल्थ, विश्व कप जैसी प्रतियोगिताओं में पूर्व की तुलना में देश के अधिक खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे हैं और अधिक पदक जीत रहे हैं। खेलों के खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के लिए विगत छह सालों में उत्तर प्रदेश ने भी उत्कृष्ट प्रयास किए हैं। प्रदेश के हर गांव में खेल मैदान, ब्लॉक स्तर पर मिनी स्टेडियम और जिला स्तर पर स्टेडियम बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने खेल व खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। स्पोर्ट्स कॉलेजों स्टेडियमों आदि के जरिये खिलाड़ियों को बेहतरीन सुविधाएं दी जा रही हैं। साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता प्रदेश के खिलाड़ियों की सीधी भर्ती द्वारा राजपत्रित पदों पर नियुक्ति की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा प्रदेश के प्रतिभावान व कुशल खिलाड़ियों को प्रदेश के शासकीय-सार्वजनिक उपक्रमों में, लोक सेवा आयोग की परिधि के बाहर के पदों पर नियुक्ति हेतु दो प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण की व्यवस्था की गई है।

65 5

गांव-गांव तैयार हो रही खिलाड़ियों की नई पौध : मुख्यमंत्री

सीएम योगी ने कहा कि सांसद खेल महाकुंभ से गांव-गांव खिलाड़ियों की नई पौध तैयार हो रही है। एक-एक जिले में पांच से सात हजार तक नए खिलाड़ी तैयार हुए हैं। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में युवक व महिला मंगल दलों के जरिये ग्रामीण खिलाड़ियों को स्पोर्ट्स किट उपलब्ध कराया जा रहा है। अबतक हजारों गांवों में स्पोर्ट्स किट उपलब्ध करा दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने सभी खिलाड़ियों को आगे बढ़ने, कुछ नया करने व सीखने की प्रेरणा देते हुए कहा कि आप सभी प्रतियोगिताओं में बढ़चढ़कर प्रतिभाग करें, केंद्र व राज्य सरकार हर प्रकार का सहयोग करने के लिए तत्पर है।

सीएम योगी का नारा, खेलोगे तो भी मिलेगा रोजगार : गिरीश चंद्र यादव

इस अवसर पर प्रदेश सरकार के खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) गिरीश चंद्र यादव ने कहा कि सीएम योगी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में यूपी आज खेल की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। अभी तक कहा जाता था कि खेलोगे-कूदोगे तो बनोगे खराब लेकिन खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री ने नारा दिया है कि खेलोगे तो भी मिलेगा रोजगार। योगी सरकार पदक विजेता को सरकारी नौकरी दे रही है। खिलाड़ियों को आरक्षण देते हुए पुलिस विभाग में नौकरी का विज्ञापन जारी कर दिया गया है। यही नहीं खिलाड़ियों को हर तरह की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। नेशनल गेम्स में गए यूपी के खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करने के साथ सीएम योगी ने उन्हें एसी थ्री टियर में ट्रेन यात्रा की सुविधा दी।

66 6

खेल व खिलाड़ियों के लिए सीएम योगी ने खोला खजाना : रविकिशन

सांसद खेल महाकुंभ के मेजबान सांसद रविकिशन शुक्ल ने स्वागत संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खेल व खिलाड़ियों के लिए खजाना खोल दिया है। पीएम मोदी और सीएम मोदी के मार्गदर्शन में इस स्पर्धा के माध्यम से गोरखपुर के समृद्ध खेल इतिहास में नया अध्याय जुड़ गया है। ऐसी स्पर्धाओं से हमारे खिलाड़ी ओलंपिक में जाएंगे।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से बांसगांव के सांसद कमलेश पासवान, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष एवं एमएलसी डॉ धर्मेंद्र सिंह, विधायक फतेह बहादुर सिंह, विपिन सिंह, महेंद्रपाल सिंह, प्रदीप शुक्ल, राजेश त्रिपाठी, डॉ विमलेश पासवान, निवर्तमान महापौर सीताराम जायसवाल, अपर मुख्य सचिव (खेल) नवनीत सहगल, खेल निदेशक डॉ आरपी सिंह, हॉकी संघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष धीरज सिंह हरीश, कुश्ती संघ के जिलाध्यक्ष दिनेश सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता, जिला प्रभारी अजय सिंह गौतम, महंत रविंद्रदास, पुष्पदन्त जैन, डॉ विभ्राट चंद कौशिक, अतुल सराफ आदि भी उपस्थित रहे। संचालन डॉ श्रीभगवान सिंह ने किया।

हॉकी प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला देखा सीएम योगी ने

सांसद खेल महाकुंभ के समापन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने क्षेत्रीय क्रीड़ांगन में हॉकी प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला देखा और खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। फाइनल मुकाबला क्षेत्रीय क्रीड़ांगन की टीम और एमएलजेड स्पोर्ट्स टीम के बीच खेला गया जिसमें एमएल जेड स्पोर्ट्स की टीम 2-1 से विजेता बनी। सीएम ने दोनों टीमों के कप्तानों के साथ अन्य स्पर्धाओं में व विजयी व उप विजेता टीमों के कप्तानों को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने फील्ड में जाकर खिलाड़ियों से हाथ मिलाकर उनका परिचय प्राप्त किया और खूब आगे बढ़ने का आशीर्वाद देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments