Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसोतीगंज कमेला किसी कीमत पर नहीं होगा गुलजार: एएसपी कैंट

सोतीगंज कमेला किसी कीमत पर नहीं होगा गुलजार: एएसपी कैंट

- Advertisement -
  • कुछ कबाड़ी सोतीगंज में कमेला चलाने को कर रहे हैं इंतजार
  • अंदरुनी तौर पर कबाड़ियों में चल रहा मंथन

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: सोतीगंज चोरी के वाहनों का कमेला फिर से सुर्खियों में है। तीन दिन पहले जहां सोतीगंज के नामचीन कबाड़ियों में वाहनों के पार्टस की दुकानें फिर से खोले जाने के लिए रात में जश्न का माहौल बनाया। इतना ही नहीं रातोंरात होर्डिंग्स लगाकर ऐलान कर दिया गया कि अब फिर से सोतीगंज का वह बाजार खुलने वाला है। जहां खुलेआम चोरी किये गए वाहनों के हर तरह के पार्टस मिल जायेंगे। इसके लिए बाकायदा कबाड़ियों ने लड्डू व मिठाइयां बांटी, लेकिन जब पुलिस अफसरों को इसकी जानकारी हुई तो पुलिस हरकत में आई।

सोतीगंज में कबाड़ियों के बीच यह चर्चा जोरों पर है कि कोर्ट ने दुकानों को खोलने का आर्डर दिया है। सोतीगंज में अंदरुनी तौर पर पूरे बाजार के कबाड़ियों में इस बात का प्रचार प्रसार किया गया कि हाइकोर्ट ने दुकानों में वाहनों के पुराने नये वाहनों के पार्टस व अन्य सामान बेचे जाने का निर्णय सुनाया है, लेकिन जब कबाड़ियों से इस बाबत जानकारी की गई तो वह बगलें झांकने लगे।

उन्होंने बताया कि अभी कोई आर्डर नहीं आया है। वहीं, जिस सोतीगंज में गैर जनपद और राज्यों से चोरी के वाहनों को चोरी कर यहां लाकर काटा जाता था। उन चोरी के वाहनों के पार्टस को सरेआम दुकानों पर सजाकर उन्हें मोटे मुनाफे के तौर पर बेचा जाता था। उस कमेले पर अंकुश लगाने वाले तत्कालीन एसएसपी प्रभाकर चौधरी के चले जाने के बाद सोतीगंज में यह अवैध धंधा पूरी तरह से बंद हो गया था,

लेकिन कुछ कबाड़ियों ने इस धंधे को फिर से शुरु करने के लिए कोर्ट की शरण ली ओर वहां एक वाद दायर कर दिया, लेकिन आठ महीने पहले से बंद पड़ा यह चोरी के वाहनों के कमेले का धंधा क्या फिर से शुरु हो पायेगा। कबाड़ियों के बीच से आई यह अवैध धंधे की आवाज आखिर पुलिस तक नहीं पहुंची। इस अवैध धंधे पर पूर्णत: विराम लगने के बाद सदर थाना जहां पूरी तरह कबाड़ियों से गुलजार रहता था।

07 17

वहां आखिर उस थाने में नाम मात्र के यदा कदा कबाड़ी दिखाई देते हैं, लेकिन जब सोतीगंज कमेले के खुलने की जानकारी सदर कैंट प्रभारी एएसपी विवेक यादव के कानों तक पहुंची तो उन्होंने सीधे तौर पर इसे गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा है कि सोतीगंज में इस काले कमेले के धंधे को वे किसी भी सूरत में शुरु नहीं होने देंगे। जब तक वह यहां हैं इस धंधे को कोई चालू नहीं करवा सकता।

सोतीगंज व्यापार संघ अध्यक्ष पर लगे कटान के आरोप

मेरठ: पूर्व एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने वाहनों के कटान के लिये बदनाम सोतीगंज के कबाड़ियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए चार पहिया और दो पहिया वाहनों के कटान पर पूरी तरह से रोक लगा दी थी। इस बीच सोतीगंज व्यापार संघ के अध्यक्ष मौहम्मद ताहिर और कार्यकारिणी के सदस्यों ने एसएसपी और एसपी सिटी से कई बार मिलकर दुकानों को खुलवाने के लिये ज्ञापन तक दिये थे। शुक्रवार को जिस तरह से वाहन चोरों ने मौहम्मद ताहिर और शाहिद उर्फ सईद पर चोरी की गाड़ी खरीदने और काटने का आरोप लगाया है उसने पूरे सिस्टम पर अंगूली खड़ी कर दी है।

पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में दो वाहन चोरों दिलीप कुमार और गौरव मल्ल ने सोतीगंज में फिर से शुरु हुए वाहन कटान का खुलासा करते हुए कहा कि गाड़ियों को सोतीगंज मेरठ के ताहिर पुत्र नसरुद्दीन निवासी दिल्ली रोड सोतीगंज थाना सदर बाजार मेरठ व शाहिद उर्फ सईद पुत्र शमसुद्दीन निवासी दिल्ली रोड सोतीगंज थाना सदर बाजार मेरठ को बेच देते हैं। ये लोग सोतीगंज से कही बाहर ले जाकर इन्हे खोलकर बेच देते है। सोतीगंज की दुकानों को फिर से खुलवाने के लिये इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्णय का कबाड़ी इंतजार कर रहे है, अब नये खुलासे ने एक बार फिर से पूरे सोतीगंज को अंधेरे में डाल दिया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments