Friday, March 5, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Shamli पुलवामा के शहीद अमित कोरी की प्रतिमा का अनावरण

पुलवामा के शहीद अमित कोरी की प्रतिमा का अनावरण

- Advertisement -
0
  • कैबिनेट मंत्री, प्रभारी मंत्री और विधायक ने किया अनावरण

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: पुलवामा आतंकी हमले के शहीद अमित कोरी के बलिदान दिवस की द्वितीय बरसी पर हवन-यज्ञ का आयोजन किया गया। कैबिनेट सुरेश राणा, प्रभारी मंत्री अजित पाल सिंह, सदर विधायक तेजेंद्र निर्वाल, जिलाधिकारी जसजीत कौर पुलिस अधीक्षक शामली, केएम बुनकर सेकंड इन कमांडेंट 108 आरएफ मेरठ एवं अन्य सभी के द्वारा शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

कुड़ाना रोड स्थित शहीद अमित कोरी स्मारक पर कैबिनेट मंत्री, प्रभारी मंत्री और विधायक समेत अतिथियों ने शहीद अमित कोरी की प्रतिमा का अनावरण किया गया। प्रतिमा अनावरण के अवसर पर 108 बटालियन मेरठ सीआरपीएफ के जवानों द्वारा सलामी दी गई।

14 फरवरी 2019 को पुलवामा आंतकी हमले में सीआरपीएफ की 92वीं वाहिनी में जम्मू कश्मीर के बारामूला सौपोर में तैनात शहर के रेलपार निवासी अमित कोरी पुत्र सोहनपाल और कस्बा बनत निवासी प्रदीप कुमार पुत्र जगदीश शहीद हो गए थे।

द्वितीय बलिदान दिवस पर कुड़ाना रोड पर स्थित शहीद अमित कोरी स्मारक पर शहीद की प्रतिमा का अनावरण मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा, प्रभारी मंत्री अजितपाल सिंह तथा शामली सदर विधायक तेजेंद्र निर्वाल, कार्यक्रम अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल ने संयुक्त रूप से किया।

इस अवसर पर हवन-यज्ञ का आयोजन किया गया। यज्ञ आर्य समाज के पुरोहित डा. रविदत्त आर्य ने संपन्न कराया। शहीद की प्रतिमा अनावरण के अवसर पर सीआरपीएफ से आई सैनिक टुकड़ी ने गार्ड आॅफ दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल एवं संचालन पूर्व सभासद सुरेंद्र आर्य ने किया।

जिलाधिकारी जसजीत कौर, पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव, कमांडेंट 108 बटालियन मेरठ राजेंद्र प्रसाद, केएम बुनकर सेकंड इन कमांडेंट 108 आरएफ मेरठ, असिस्टेंट कमांडेंट मयंक रावत व निरीक्षक रंजीत कुमार, ग्रेटर नोएडा सीआरपीएफ कैंप, सहित शामली विधायक तेजेंद्र निर्वाल, भाजपा जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर, हरवीर मलिक, शहीद के पिता सोहनपाल सिंह, शहीद प्रदीप के पिता जगदीश प्रजापति, बाबा संजय कालखंडे, बाबा श्याम सिंह, पूर्व मंत्री किरणपाल कश्यप, घनश्याम दास गर्ग, सपा नेता विजय कौशिक, सुभाष धीमान, महेश धीमान, कैप्टन लोकेन्द्र सिंह, राजकिरण, प्रमेन्द्र निर्वाल, विजय पाठक, विनोद तोमर, यशपाल पंवार, कुलदीप पंवार, दीपक संगल, पंकज गुप्ता, सपन मित्तल, कर्मवीर, नीटू कश्यप, रजनीश कोरी समेत शहीद के भाई अर्जुन कोरी, सुनील कोरी व अनिल कोरी समेत हजारों की संख्या में जनमानस उपस्थित रहे।

शहीद अमित कोरी के नाम जाना जाएगा शामली-भौराकलां मार्ग: राणा

कैबिनेट मंत्री भारत देश की रक्षा के लिए शहीद हुए सुरेश राणा ने लाडले बेटे शहीद अमित कोरी और शहीद प्रदीप कुमार प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए उनको नमन किया। उन्होंने कहा कि शामली-भौराकलां मार्ग को पुलवामा आतंकी हमले के शहीद अमित कोरी मार्ग और बनत के एक मार्ग का नाम पुलवामा शहीद प्रदीप प्रजापति मार्ग के नाम से जाना जाएगा।

इसके लिए अनुमति देने पर उन्होंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का आभार जताया। उन्होंने कहा कि दोनों शहीदों के माता पिता जिन्होंने देश की रक्षा के लिए ऐसे वीर सपूत को जन्म दिया आज उनकी बहादुरी के लिए पूरा देश गौरवान्वित महसूस कर रहा है। उन्होंने कहा कि आज का दिन शहीदों की शहदत से प्रेरणा लेने का दिन है।

पुलवामा में जब यह घटना घटित हुई थीं तो शहीद प्रदीप शहीद अमित कोरी की अंतिम यात्रा में जनपद के कोने-कोने से आदमी एक छत के नीचे इकट्ठा हुआ था। जनपद शामली निराला जनपद है जनपद का ऐसा कोई गांव नहीं जिस घर में पुलिस या सेना में कोई जवान ना हो और गर्व के साथ देश की सेवा ना कर रहा हो।

कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस की भर्ती में पहला नंबर पाने वाला भी जनपद शामली का ही युवा था। शहीद अमित कोरी की प्रतिमा बच्चों के लिए एक प्रेरणादायक केंद्र बनेगा और बच्चों में जज्बा उत्पन्न होगा और वह देश की सेवा के लिए आगे बढ़ेंगे। गन्ना मंत्री ने पुलवामा हमले में शहीद हुए सभी को नमन किया। साथ ही, तत्कालीन जिलाधिकारी एवं वर्तमान जिला अधिकारी तथा कार्यक्रम अध्यक्ष व संयोजकों का इतनी सुंदर प्रतिमा स्थापित कराने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

14 दिन में दिया था पुलवामा हमले का जवाब

जनपद के प्रभारी मंत्री अजीत पाल सिंह ने कहा कि 14 फरवरी 2019 को कायरता पूर्ण पुलवामा हमला किया गया था। जिसने पूरे देश आहत था और हर तरफ से जवाब देने की मांग उठाई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसाी कार्य योजना बनाई और 14 दिन में ही एयर स्ट्राइक कर हमला करने वालों को करारा जवाब दिया। जिससे देश की सेना का मनोबल ऊंचा हुआ। हॉल ही में वीर सैनिकों की बदौलत ही चीन पीछे हटने को मजबूर है।

प्रत्येक जवान देश की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि जब तक हमारी सीमाएं सुरक्षित हैं जब तक देश का कोई कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता। सरहद पर खड़े रहकर सेवा करने वाले जवानों की वजह से हम खुले में सांस लेते हैं अमन चैन से रहते हैं। उन्होंने दोनों शहीदों के माता-पिता को नमन किया जिन्होंने देश की सेवा के लिए ऐसे वीर सपूतों को जन्म दिया।

शहीदों ने दिया देश के लिए सर्वोच्च बलिदान

शामली सदर विधायक तेजेन्द्र निर्वाल ने कहा कि शहीदों ने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद पूरे देश में आक्रोष था, अजीब सा माहौल देश के अंदर बना हुआ था। वयोवृद्ध लोगों में भी हमलावरों से शहीदों की शाहदत का बदला लेने का जुनून नजर आ रहा था। शामली शहीदों की धरती रही है। जनपद से भी अमित कोरी और बनत से प्रदीप कुमार ने शहादत दी। इन शहीदों के बाद जून माह में सतेंद्र कश्यप भी शहीद हुए थे।

देश की रक्षा संकल्प ले युवा: डीएम

जिलाधिकारी जसजीत कौर ने कहा कि युवा शहीदों से प्रेरणा लेकर देश की रक्षा का संकल्प ले। उन्होंंने कहा कि अधिक से संख्या में सेना में होकर मातृभूमि की रक्षा करें यही शहीदों को सच्ची श्रद्धाजंलि होगी।

मातृभूमि पर न्यौछावर होने से बड़ा कोई गर्व नहीं: एसपी

पुलिस अधीक्षक सुकीर्तिमाधव ने कहा कि शामली ने कहा कि आज गर्व का दिन है। हीद कभी मरता नहीं शहीद हमेशा जिंदा रहता है, शहीद की प्रतिमा उसी जीवंता की निशानी है। शहीद देश पर जान न्यौछावर करने के लिए प्रेरित करते हैं। ऐसी मिट्टी ऐसे परिवार को सलाम है जिन्न्होंने ऐसे वीर सपूत पैदा किए हैं। जब वर्दी वाले ट्रेनिंग करते हैं तो गर्व होता है।सबसे बड़े गर्व की बात होती है जब शहीद तिरंगे में लिपट कर आते हैं। इस अवसर पर उन्होंने अपनी कविता मैं खाकी हूं भी सुनाई।

बनत में शहीद प्रदीप की प्रतिमा स्थापना की दी प्रेरणा

पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल ने शहीद अमित कोरी और शहीद प्रदीप कुमार की शाहदत पर नमन किया। दोनों शहीदों के परिवारों को नमन किया। उन्होंने कहा शामली में शहीद अमित कोरी की प्रतिमा स्थापित कराई गई है। उन्होंने कहा कि कस्बा बनत में भी शहीद प्रदीप कुमार की प्रतिमा स्थापित कराई जानी चाहिए। यदि बनत में स्थान न हो तो शामली के एसटी तिराहे पर मूर्ति स्थापित कराने के लिए स्थान है। उन्होंने शहीद प्रदीप की मूर्ति स्थापना में हर प्रकार से सहयोग का आश्वासन दिया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments