Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutछात्र को चाकुओं से गोदा, पुलिस से आरोपी छीना

छात्र को चाकुओं से गोदा, पुलिस से आरोपी छीना

- Advertisement -
  • घंटों चला बवाल, पिता बोला-खून का बदला खून, तीन हिरासत में
  • परिजनों ने नहीं दी तहरीर, शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: एक छात्रा के साथ छेड़खानी और टार्चर करने को लेकर छात्रों के दो गुटों में जमकर लाठी-डंडे चले और काफी देर तक हंगामा हुआ। इस बीच एक छात्र को चाकुओं से गोद कर मार दिया गया। पुलिस ने हमला करने वाले तीन छात्रों को हिरासत में लिया है। वहीं, आधा दर्जन छात्र फरार बताये जा रहे हैं।

पुलिस ने घायल छात्र को पहले न्यूटिमा अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। आरोपियों को पकड़ने के लिये तीन टीमें बनाई गई है और पुलिस ताबड़तोड़ दबिशें दे रही है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। वहीं, मृतक के परिजनों ने मोर्चरी पर जमकर हंगामा करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की।

10 19

सूरजकुंड में रहने वाली स्नातक की एक छात्रा की शौकीन नामक युवक से खास दोस्ती है। छात्रा को कालियागढ़ी निवासी तरुण ने एक बार छात्रा को प्रपोज किया तो छात्रा ने मना कर दिया। आरोप है कि इस पर तरुण अक्सर छात्रा को परेशान करता और छेड़खानी की कोशिश करता था। इससे आजिज आकर छात्रा ने दोस्त शौकीन से मदद मांगी कि तरुण और उसके भाई वरुण को समझाओ।

एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि शौकीन ने दोस्त की परेशानी को दोस्त कार्तिक भड़ाना पुत्र संजय भड़ाना निवासी फंफूड़ा को बताया। कार्तिक बीएससी कृषि प्रथम वर्ष का माछरा कालेज का छात्र था। कार्तिक बुधवार दोपहर दोस्त उज्जवल के साथ वैगनआर कार से एक परिचित की सगाई समारोह में जा रहा था। तभी उसे शौकीन ने बीडीएस कालेज के पास बुला लिया।

कार्तिक दोस्तों के साथ करीब 3.30 बजे बीडीएस स्कूल के सामने पहुंचा तभी तरुण और वरुण अपने साथ छह सात लोगों को लेकर पहुंचे हुए थे। शौकीन और कार्तिक को देखकर तरुण और वरुण ने गाली-गलौज करने के बाद मारपीट करनी शुरु कर दी और देखते-देखते दोनों पक्षों के बीच लाठी-डंडे चलने लगे और पथराव भी हो गया। बवाल करने वालों ने कार्तिक की कार में तोड़फोड़ कर दी। विरोध करने पर आरोपियों ने कार्तिक और उज्जवल को जमकर पीटा।

11 18

इस दौरान आरोपी तरुण, वरुण और उसके साथियों ने चाकू से गोदकर कार्तिक की हत्या कर दी। कार्तिक की मौके पर ही मौत हो गई। हालांकि उसे न्यूटिमा अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। सूचना पर पहुंचे परिजनों और गांव के लोगों ने मौके पर हंगामा कर दिया। इस दौरान कई थानों की फोर्स को बुलाया गया। स्थिति बेकाबू हो गई और भीड़ ने राहगीरों पर हमला कर दिया।

हालात काबू करने के लिए पुलिस ने लाठियां फटकारी। स्थानीय लोगों राहुल ठाकुर आदि ने बताया कि हमलावर छात्र को बेरहमी से पीट रहे थे, लेकिन किसी ने भी बीच-बचाव नहीं किया। मौके पर करीब तीन घंटे तक माहौल गरमाया रहा और फोर्स तैनात रही। पुलिस ने मौके से आयुष, अवनी और लवनीत को हिरासत में लिया है। पोस्टमार्टन हाउस पर भी कुछ ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया। देर रात तक मृतक के परिजनों ने तहरीर नहीं दी थी।

छात्रा ने पुलिस को दिया बयान

एसपी सिटी पीयूष कुमार सिंह ने बताया कि सूरजकुंड निवासी छात्रा ने बताया कि वरुण उसके साथ छेड़खानी करता था और परेशान करता था। उसने इस बारे में अपने दोस्त शौकीन को बताया था। आज तरुण और वरुण ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर मेरे दोस्त कार्तिक की हत्या कर दी।

बेटे की मौत से परिवार सदमे में

कार्तिक के पिता संजय भड़ाना की परचून की दुकान है। घर में कार्तिक के अलावा एक और छोटा बेटा है। बेटे का लहुलुहान शव देखकर माता-पिता गश खाकर गिर पड़े। आरोपी छात्रों ने कार्तिक को पहले लाठी-डंडों से पीटा फिर बेरहमी से चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी।

अहम् सवाल…

जब छात्रा की दोस्ती शौकीन से थी फिर आरोपियों ने कार्तिक को निशाने पर क्यों लिया? खुद एसएसपी का कहना है कि कार्तिक बेकसूर था और उसकी इस बवाल से कोई नजदीकी नहीं थी वो तो शौकीन के कहने पर मदद के लिये गया था।

लोग बने रहे तमाशबीन

बीडीएस कालेज के पास काफी देर तक खुलेआम गुंडागर्दी होती रही और आसपास के लोग तमाशबीन बने रहे। छात्रों का एक गुट हिंसक था और दौड़ा-दौड़ाकर पीट रहे थे। सीसीटीवी कैमरे में भी हमलावरों की तस्वीर साफ आ रही है। इसी आधार पर पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर ली है। सीओ कोतवाली अरविन्द चौरसिया के नेतृत्व में गई पुलिस टीम ने आरोपियों के घर दबिशें दी।

पुलिस मौजूदगी में चला बवाल

कार्तिक की हत्या के बाद जब पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ कर गाड़ी में बैठाने का प्रयास किया तो उत्तेजित भीड़ ने आरोपी को पकड़ कर पीेट दिया। भीड़ आरोपी को छीन कर ले जाना चाहते थी। कार्तिक की हत्या के बाद पुलिस जब पहुंची तो एक आरोपी को मौके से पकड़ लिया और जीप में बैठाने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिस को घेर लिया। बाद में पुलिस ने भी आरोपी को पकड़ कर पीट दिया। किसी तरह आरोपी को भीड़ से बचाकर थाने भेजा गया।

खून का बदला खून

पुलिस के सामने मृतक छात्र कार्तिक भड़ाना के पिता संजय भड़ाना बेहद उत्तेजित नजर आये और बोले खून का बदला खून लिया जाएगा और उन लोगों को मार दूंगा। दुखी पिता ने कहा कि आरोपियों को फांसी दी जाए। उस वक्त माहौल और गरमा गया जब कुछ लोगों ने आरोपियों के घरों पर हमला करने की बात करनी शुरु कर दी। पुलिस ने किसी तरह से उत्तेजित लोगों को समझा कर शांत किया।

करियर बर्बाद होगा

सीओ अरविन्द चौरसिया ने मौके पर हंगामा कर छात्रों से कहा कि अगर सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में किसी की फोटो आ गई तो उसका करियर बर्बाद हो जाएगा। सीओ के बार बार कहने के बाद भी हंगामा कर रहे छात्रों पर कोई खास फर्क नहीं पड़ा।

12 20

मोर्चरी पर कार्तिक के पिता के गुस्से से भरे तेवरों को देख कर लोग हंगामा करने लगे। मौके पर पहुंचे एसपी सिटी से भी परिजनों ने आरोपियों को पकड़ने की मांग की। हंगामे के कारण गढ़ रोड पर काफी देर तक जाम की स्थिति बन गई और पुलिस के पसीने छूट गए।

आशिकी बना रही युवकों को हिंसक, हो रही हत्याएं

आशिकी में पड़कर युवक जहां हिंसक होते जा रहे हैं वहीं लोग मरने मारने उतारु हो रहे हैं। हाल फिलहाल की घटनाओं में ज्यादातर के पृष्ठभूमि में कोई न कोई लड़की या महिला सामने आ रही है। मेडिकल थानांंतर्गत जागृति विहार में जिस कार्तिक का बेरहमी से कत्ल किया गया उसकी कोई गलती नहीं थी। सारा बवाल एक छात्रा और उसके दोस्त से जुड़ा हुआ था। कार्तिक तो सिर्फ मदद के लिये गया था। गत वर्ष प्रेम संबंधों को लेकर 14 लोगों की हत्याएं हुई थी।

मवाना में 22 साल के युवक लक्ष्य की दोस्तों ने घर से बुलाकर हत्या कर दी थी। 16 जनवरी को मेरठ कॉलेज में घुसकर दो छात्रों से मारपीट और गोली भी चलाई। गत वर्ष गला कटी लाश थाना कंकरखेड़ा के गांव जंगेठी में मिली थी। जहां युवक की बड़ी बेरहमी से गर्दन काटकर हत्या कर दी गई। पल्लवपुरम क्षेत्र में पत्नी के अवैध संबंधों में बाधक बनने के कारण राधेश्याम की हत्या हुई थी।

बाग में मिला था शव। तीन दिन पूर्व लापता हुआ राधेश्याम का शव ललसाना चौक के पास बाग से बरामद हुआ था। पुलिस ने जांच पड़ताल में पाया कि राधेश्याम की पत्नी नीतू के अपने चचेरे देवर परवीन से अवैध संबंध थे। मेरठ कालेज में हुई फायरिंग की घटना के पीछे भी एक छात्रा को लेकर छात्रों के दो गुटों में टकराव बताया जा रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments