Wednesday, April 21, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliबस की टक्कर से बुझ गया घर का इकलौता चिराग

बस की टक्कर से बुझ गया घर का इकलौता चिराग

- Advertisement -
0
  • चार बहनों का अकेला सबसे बड़ा भाई था मृतक
  • पुलिस ने आरोपी बस चालक को हिरासत में लिया

जनवाणी संवाददाता |

थानाभवन: दिल्ली-यमुनौत्री नेशनल हाइवे पर हींड पुलिया के पास बड़ौत डिपो की रोडवेज बस ने गांव हींड निवासी बाइक सवार युवक को सामने से जोरदार टक्कर मार दी। दुर्घटना में बाइक सवार की मौके पर ही मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। जबकि पिता की तहरीर पर आरोपी बस चालक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। मृतक शाहिद घर में चार बहनों का अकेला भाई था। शाहिद के मौत के बाद परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

जनपद शामली के थानाभवन क्षेत्र की हींड पुलिया भट्ठे के पास बड़ौत डिपो की रोडवेज बस ने गांव हींड निवासी शाहिद (20) वर्ष पुत्र साजिद को उस समय सामने से जोरदार टक्कर मार दी। जब शाहिद कस्बा थानाभवन से वापस अपने घर पर लौट रहा था। परिजनों के अनुसार शाहिद फेरी कर क्षेत्र में सब्जी बेचने का काम करता है। वह सुबह सवेरे घर से थानाभवन के लिए सब्जी लेने के लिए मंडी गया था। मंडी से लौटते वक्त जब वह हींड पुलिया भट्ठे के पास पहुंचा तभी शामली की ओर से आ रही बड़ौत डिपो की बस ने शाहिद की बाइक में सामने से टक्कर मार दी। दुर्घटना में शाहिद की मौके पर ही मौत मौके पर ही हो गई।

आसपास के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। जबकि मृतक शाहिद के पिता की तहरीर पर आरोपी बस चालक के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। इस मामले में थानाभवन थाना प्रभारी प्रभाकर कैंतुरा ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक के पिता की तहरीर पर आरोपी बस चालक राहुल के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। जबकि पुलिस ने बस को कब्जे में लेकर आरोपी चालक को हिरासत में ले लिया है।

परिवार में अकेला कमाने वाला था मृतक

दुर्घटना में मृतक शाहिद अपने घर में अकेला कमाने वाला था। मृतक की उम्र 20 वर्ष थी। परिजनों के अनुसार गांव-गांव सब्जी बेचकर शाहिद परिवार का गुजर-बसर कर रहा था। शाहिद ने 8 दिन पहले ही अपने से छोटी बहन की बागपत में शादी की थी। मृतक शाहिद चार बहनों में सबसे बड़ा भाई था। अब शाहिद की मौत के बाद जहां परिवार आर्थिक रूप से टूट गया है। तो वही घर का अकेला चिराग बस की टक्कर से बुझ गया। जिसके बाद रोजी रोटी का भी संकट खड़ा हो गया है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments