Wednesday, February 28, 2024
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजिसका डर था वही खेला मौसम ने खेल

जिसका डर था वही खेला मौसम ने खेल

- Advertisement -
  • सूर्यदेव ठंड और कोहरे के सामने पूरी तरह से लाचार आए नजर

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मौसम को लेकर जैसी आशंकाएं जताई जा रही थी, वह भामाशाह क्रिकेट मैदान पर उत्तर प्रदेश और बिहार के बीच होने वाले रणजी मैच पर भी सही साबित हुई। शुक्रवार को सूर्य देव ठंड और कोहरे के सामने पूरी तरह लाचार नजर आए एक लम्हे के लिए भी सूर्य की किरणें पृथ्वी तक नहीं पहुंच सकी जिसके कारण कड़ाके की ठंड बनी रही इसी के साथ दिन भर छाए रहे कोहरे के बीच विजिबिलिटी बहुत कम रही।

रणजी ट्रॉफी के वर्तमान सीजन में यह पहला मौका नहीं है, जब मौसम के बिगड़ते तेवरों ने मैच को प्रभावित किया हो। इससे पहले भी कोहरे और नमी में कई मैचों के परिणाम खोकर रह गए हैं। जनवाणी ने दो दिन पहले ही यह आशंका जताई थी, कि मौसम की बेरुखी उत्तर प्रदेश और बिहार के बीच होने वाले रणजी मैच को प्रभावित कर सकती है। दरअसल कोहरे और शीतलहर के मौसम ने इस बार पूरे उत्तर भारत को अपनी चपेट में ले रखा है। जिसकी जद में रणजी के कई मैचों के परिणाम गुम होकर रह गए हैं।

04 23

इससे पहले के मैचों पर नजर डाली जाए, तो मोइन उल हक स्टेडियम, पटना में बिहार और छत्तीसगढ़ के बीच खेले गए मैच में यूपी और बंगाल के बीच कानपुर के ग्रीनपार्क में खेले गए मैच में सर्द मौसम में सबसे ज्यादा असर कोहरे व ओस का रहा है। जहां मौसम की मार मैच पर भारी पड़ी। टॉस हारने के बाद मेजबान यूपी के बल्लेबाजों को बंगाल की धारदार गेंदबाजी को नर्म मौसम और घातक बना रहा था। यही वजह रही यूपी टीम 60 रनों पर सिमट गई। चौथे और अंतिम दिन खराब मौसम के चलते खेल बिना गेंद फेंके कॉल आॅफ के साथ ही मैच को ड्रा घोषित किया गया।

ग्रीनपार्क में हुए इस मैच में पहली पारी की बढ़त के आधार पर बंगाल टीम ने तीन अंक लिए। मेजबान यूपी टीम को मात्र एक अंक से संतोष करना पड़ा। जम्मू कश्मीर के सीए हॉस्टल ग्राउंड में तीसरे दिन का खेल सोमवार दोपहर बाद शुरू हुआ और दो ओवर के बाद ही पर्याप्त रोशनी नहीं होने के कारण खेल को रोकना पड़ा। खराब मौसम के कारण ही जम्मू-कश्मीर और हिमाचल के बीच रणजी का पहला मुकाबला पूरा नहीं हो सका था और ड्रॉ रहा था। पहली पारी में पिछड़ने के कारण जम्मू-कश्मीर को एक अंक से ही संतोष करना पड़ा था।

03 21

महाराजा बीर बिक्रम स्टेडियम में त्रिपुरा और तमिलनाडु के बीच खेला गया मैच सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। दिन की शुरूआत में घना कोहरा, हल्की बूंदाबांदी और अत्यधिक बादल छाए रहने के कारण मैच रेफरी और अंपायरों को दोपहर बाद मैच समाप्त करने के लिए मजबूर होना पड़ा। जेके सीए के हॉस्टल ग्राउंड पर शुक्रवार को दिल्ली बनाम जेएंडके मैच में केवल छह गेंदें ही फेंकी जा सकीं। असम में घरेलू टीम और केरल के बीच मैच के दौरान केवल 37 ओवर ही खेले जा सके और खराब रोशनी के कारण खिलाड़ियों को मैदान से बाहर जाना पड़ा।

पीसीए ग्राउंड पर पंजाब बनाम रेलवे के दौरान, खराब रोशनी के कारण स्टंप जल्दी निकाले जाने से पहले मेहमान केवल 34 ओवर तक ही बल्लेबाजी कर सके। यही सब कुछ उत्तर प्रदेश और बिहार के बीच मेरठ के भामाशाह क्रिकेट मैदान पर होने वाले मैच के पहले दिन हुआ जिसमें दिनभर एक भी बोल नहीं फेंकी जा सकी। आने वाले दिनों में मौसम के तेवर कैसे रहते हैं यह देखना दिलचस्प होगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments