Monday, June 17, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut‘बूढ़ी गंगा’ पर भारत से कदमताल करेगी दुनिया

‘बूढ़ी गंगा’ पर भारत से कदमताल करेगी दुनिया

- Advertisement -
  • केन्या में यूएन की बैठक, हस्तिनापुर की बूढ़ी गंगा पर मंथन
  • बूढ़ी गंगा के पुर्नजीवन में दुनिया करेगी मदद

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शासन प्रशासन की बेरूखी का शिकार महाभारतकालीन हस्तिनापुर की बूढ़ी गंगा पर अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय की नजर ए इनायत हो गई है। अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो बहुत जल्द बूढ़ी गंगा का यौवन लौट आएगा और इसकी अमृत जलधारा से देश वासी फिर फैजयाब (लाभान्वित) होंगे।

मंगलवार को केन्या में संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें भारत से नेचुरल साइंसेज ट्रस्ट के प्रो. प्रियंक भारती आॅनलाइन जुड़े और बूढ़ी गंगा के हर पहलु पर विस्तार से चर्चा की। अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय ने बूढ़ी गंगा को लेकर प्रियंक भारती की पीपीटी के हर पहलु पर फोकस किया और आश्वासन दिया कि दुनिया के विभिन्न देश भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर बूढ़ी गंगा के उद्धार के सहभागी बनेंगे।

19 27

हांलाकि इस दौरान प्रियंक भारती ने बूढ़ी गंगा को लेकर स्थानीय प्रशासन व शासन की ढुलमुल नीतियों का भी मुद्दा उठाया। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के यूनाइटेड नेशन एनवायरमेंट कार्यक्रम के अंतर्गत आयोजित इस बैठक में बूढ़ी गंगा का मुद्दा प्रमुखता से छाया रहा। बैठक में तय किया गया कि वर्ल्ड वॉटर एलायंस और नेचुरल साइंसेज ट्रस्ट बूढ़ी गंगा को खुद उसके पैरों पर खड़ा करने के लिए संयुक्त रूप से काम करेंगे।

वर्ल्ड वॉटर एलायंस की कोआॅर्डिनेटर एन्हम ने बूढ़ी गंगा पर नेचुरल साइंसेज ट्रस्ट के विशेष प्रयासों की सराहना करते हुए आश्वासन दिया कि इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र से जो कुछ भी संभाव होगा वो किया जाएगा। इस दौरान बूढ़ी गंगा पर हो रहे अतिक्रमण से लेकर सरकार द्वारा गलत तरीके से किए गए आवंटन का मुद्दा भी छाया रहा। कोआॅर्डिनेटर एन्हम ने इस दौरान चर्चा करते हुए कहा कि पूरी दुनिया में नदियों पर हो रहा अतिक्रमण चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा कि इससे पूरी दुनिया को एकजुट होकर लड़ना होगा। उन्होंने बूढ़ी गंगा के मुद्दे पर कहा कि इसके पुनर्जीवन के लिए हमें संयुक्त दुनिया के साथ मिलकर काम करना होगा। कुल मिलाकर संयुक्त राष्ट्र में बूढ़ी गंगा के उद्धार की जो किरण जगी है उससे हस्तिनापुर की महाभारतकालीन बूढ़ी गंगा को शायद उसका खोया हुआ रूतबा मिलने में मदद मिल जाए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments