Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरैपिड को लेकर उठते यह वाजिब सवाल

रैपिड को लेकर उठते यह वाजिब सवाल

- Advertisement -
  • मेरठ में रेलवे स्टेशन और न ही रोडवेज बस अड्डे पर जाएगी रैपिड और मेट्रो
  • रेलवे स्टेशन और रोडवेज के यात्रियों को रैपिड के लिए बेलने पड़ेंगे पापड़
  • प्रतिदिन हजारों यात्री उतरते हैं रेलवे स्टेशन और रोडवेज बस अड्डे पर

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: दिल्ली (सराय काले खां) से मेरठ (मोदीपुरम) के बीच 82.2 किलोमीटर लम्बे कॉरिडोर पर रैपिड (नमो भारत) ट्रेन का सपना भले ही हकीकत में बदल रहा हो, लेकिन कॉरिडोर के निर्माण के अन्तिम चरण में एक सवाल अचानक लोगों के दिमाग में कौंध गया। सवाल चूंकि वाजिब (उचित) है लिहाजा इसका उत्तर ढूंढना भी जरूरी है।

दरअसल, दिल्ली से मेरठ के बीच दौड़ने वाली रैपिड और शहर के अंदर दौड़ने वाली मेरठ मेट्रो ट्रेन का शहर में जो रूट तय किया गया है वो लोगों को किसी हद तक अखर रहा है और लोग उस पर अब सवाल भी उठा रहे हैं। शहर के कई लोगों का कहना है कि शहर में रैपिड और मेट्रो ट्रेन का रूट तय करते समय प्लानिंग बोर्ड (रणनीतिकार) ने चूक कर दी। इन लोगों का मानना है कि शहर में रैपिड और मेट्रो अंडर ग्राउंड दौड़ेंगी,

04 18

लेकिन इन दोनों ट्रेनों का जो रूट तय किया गया है उस रूट में न तो रेलवे स्टेशनों (शहर व कैंट) का और न ही बस अड्डे (भैंसाली) के यात्रियों का ध्यान रखा गया। दलील यह दी जा रही है कि प्रतिदिन मेरठ सिटी और कैंट रेलवे स्टेशनों पर और भैंसाली बस अड्डे पर हजारों यात्रियों का आवागमन होता है और ऐसे में यदि रैपिड और मेट्रो ट्रेन रेलवे स्टेशन और बस अड्डे तक नहीं पहुंचेंगी तो इससे सीधे तौर पर यात्रियों के हित प्रभावित होंगे। रैपिड ओर मेट्रो जब शहर में चलेंगी तो यह परतापुर (दिल्ली रोड) से सीधे मोदीपुरम तक जाएंगी

और इस रूट पर रेलवे स्टेशन नहीं है और रोडवेज (भैंसाली बस स्टैंड) भी शीघ्र ही यहां से स्थानांतरित होना प्रस्तावित है। यह शहर से बाहर जाना है। ऐसे में जब यात्री रेलवे स्टेशनों और बस अड्डे पर उतरकर मेट्रो या रैपिड लेना चाहेंगे तो उन्हें पहले यातायात का दूसरा साधन इस्तेमाल करना होगा। लोगों के अनुसार यदि प्लानिंग के समय इन बातों का ध्यान रखा जाता तो इससे मेट्रो और रैपिड की आय में भी वृद्धि होती और यात्रियों को भी सुविधा होती। बहरहाल अब इस चूक का खमियाजा तो इच्छुक यात्रियों को ही भुगतना पड़ेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments