Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमेडा के खिलाफ टिकैत की महापंचायत, तैयारी शुरू

मेडा के खिलाफ टिकैत की महापंचायत, तैयारी शुरू

- Advertisement -
  • धरने में 14 को शामिल होंगे राकेश टिकैत

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत 14 सितंबर को मेडा के खिलाफ महापंचायत कर रहे हैं। इस महापंचायत की तैयारी शुरू कर दी हैं। भाकियू के कुछ नेता रविवार को धरना स्थल पर पहुंचे तथा जहां पर महापंचायत होगी उस स्थल को भी देखा। जेसीबी मशीन लगाकर मैदान की सफाई कराई गयी। दस हजार किसानों और व्यापारियों के पहुंचने का दावा भाकियू नेता कर रहे हैं। गांव-गांव से ट्रैक्टर ट्रालियों से किसान इस महापंचायत में पहुंचेंगे।

किसान मेडा अफसरों से भिड़ने के पूरे मूड में हैं। कई मुद्दों को लेकर ये महापंचायत होने जा रही हैं, जिसमें लंबे आंदोलन का भी ऐलान किया जा सकता हैं। पहले भी मेरठ कमिश्नरी पर भाकियू का आंदोलन एक माह से ज्यादा चल चुका हैं, फिर से किसान उसी आंदोलन के दौर में लौटना चाहते हैं। उधर, भाकियू के राष्टÑीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का कहना है कि किसानों का उत्पीड़न किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दरअसल, ग्रीन वर्ज किसानों की जमीन पर लगा दिया गया, लेकिन मेरठ विकास प्राधिकरण ने अपनी जमीन वेदव्यासपुरी, श्रद्धापुरी, पल्लवपुरम में क्यों नहीं लगाया। तब एनजीटी भी अस्तित्व में नहीं था। प्राधिकरण ने मास्टर प्लान में ग्रीन वर्ज छोड़ दिया। ये सिर्फ किसानों की जमीन में छोड़ा गया। किसान दबे-कुचले है, जिसके चलते उनकी आवाज को बंद करने की कोशिश की गई, अब किसान चेन से नहीं बैठने वाले। भाकियू जिलाध्यक्ष अनुराग चौधरी ने बताया कि महापंचायत की तैयारी गांव-गांव स्तर पर प्रचार के साथ आरंभ कर दी हैं।

अच्छी-खासी इसमें भीड़ जुटेगी। भाकियू मेरठ के जिलाध्यक्ष अनुराग चौधरी ने बताया कि 14 मार्च को डाबका एनएच 58 पर चल रहे धरने स्थल पर होने वाली किसानों की महापंचायत में व्यापारी भी हिस्सा लेंगे। विकास प्राधिकरण मेरठ (मेडा) के खिलाफ चल रहे किसानों का धरना जोर पकड़ता जा रहा है। धरने को 14 सितंबर को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत धरने को संबोधित करने के लिए आ रहे है। धरने को महापंचायत में तब्दील कर दिया जाएगा। इसको लेकर धरना समिति व किसान पूरी तैयारी में लग गए हैं।

रविवार को भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश संगठन मंत्री राजकुमार करनावल भाकियू नेताओं के साथ धरना स्थल पर पहुंचे। उन्होंने धरना समिति से बातचीत की और जिस स्थान पर महापंचायत होगी, उस स्थल को देखा। यहां पर जेसीबी मशीन लगाकर मैदान को दुरुस्त किया जा रहा हैं। भारतीय किसान यूनियन संगठन किसानों के साथ है। इसका व्यापक स्तर पर किसानों ने प्रचार आरंभ कर दिया हैं। प्राधिकरण के रवैये से किसान खफा हैं। ग्रीन वर्ज की जमीन का प्राधिकरण अधिग्रहण करके मुआवजा दे। ये भी अस्वीकार हैं,

लेकिन नहीं तो मुआवजा देंगे और जमीन भी खाली छोड़कर रखी जाएगी, ये कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। किसान प्राधिकरण अफसरों को मुंह तोड़ जवाब देने के लिए तैयार हैं। प्रतिनिधि मंडल ने पत्रकारों को बताया कि 14 तारीख में बड़ी महापंचायत होगी। उधर, धरने पर भाकियू के मंडल महासचिव प्रशांत सकौती, चौधरी महकार सिंह दौराला, उपेंद्र प्रधान, कैलाश चपराना, मास्टर सुभाष, डा. विकास आदि पहुंचे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments