Friday, January 27, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutडिलीवरी में कटी नस, जच्चा-बच्चा की गई जान

डिलीवरी में कटी नस, जच्चा-बच्चा की गई जान

- Advertisement -
  • पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा
  • नर्सिंग होम संचालक के खिलाफ दी तहरीर
  • झोलाछाप की लापरवाही उजागर, हंगामा-तोड़फोड़

जनवाणी संवाददाता |

मवाना: मवाना-परीक्षितगढ़ रोड स्थित रत्न नर्सिंग होम में डिलीवरी के लिए देर रात भर्ती कराई महिला की झोलाछाप चिकित्सक की लापरवाही से जच्चा-बच्चा की जान चली गई। आरोप है कि प्रसव पीड़ा के दर्द से कहरा रही गर्भवती महिला का आपरेशन के दौरान नस कटने से केस बिगड़ गया। रक्त स्राव अधिक होने पर चिकित्सकों के हाथ-पैर फूल गये और परिजनों को अन्य नर्सिंग होम में भर्ती करने की सलाह दी।

महिला की जान पर बनने पर परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा करते हुए नर्सिंग होम में तोड़फोड़ कर दी। हंगामा तोड़फोड़ होते हुए देख चिकित्सक एवं कर्मचारी नर्सिंग होम छोड़कर भाग निकले। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी पर भेज दिया। मृतका के परिजनों ने नर्सिंग होम संचालक एवं चिकित्सकों के खिलाफ तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग उठाई है।

मवाना के गांव कोल निवासी कृष्णदत्त ने देर रात करीब साढ़े नौ बजे प्रसव पीड़ा के दर्द से कहरा रही पत्नी सीमा को डिलीवरी कराने के लिए मवाना-परीक्षितगढ़ रोड स्थित रत्न नर्सिंग होम में भर्ती कराया था। इस दौरान नर्सिंग होम में मौजूद स्टाफ ने महिला का आपरेशन कराने की बात कहते हुए भर्ती कर लिया। झोलाछाप चिकित्सक द्वारा आपरेशन के दौरान गर्भवती महिला सीमा के पेट की नस कटने से केस बिगड़ गया और रक्तस्राव अधिक होने पर महिला की जान पर बन गयी।

हालत खतरे में देख चिकित्सकों के हाथ-पैर फूल गये और परिजनों को बुलाकर अन्य नर्सिंग होम में भर्ती करने की सलाह दी। रक्त स्राव नहीं रुकने पर कुछ देर बाद जच्चा-बच्चा दोनों की जान चली गई। मृत घोषित होने पर महिला के परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा और हंगामा कर नर्सिंग होम में तोड़फोड़ कर दी। हंगामा एवं तोड़फोड़ होने की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और हंगामा कर रहे परिजनों को समझाने का प्रयास किया,

लेकिन मृतका के परिजनों ने नर्सिंग होम संचालक एवं चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग उठाई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी पर भेज दिया है। मृतका के पति कृष्ण दत्त ने रत्न नर्सिंग होम संचालक एवं चिकित्सकों के खिलाफ तहरीर दी है।

स्वास्थ्य विभाग की सांठगांठ से अवैध नर्सिंग होम संचालित

स्वास्थ्य विभाग की सांठगांठ से मवाना नगर एवं देहात क्षेत्र में जगह-जगह अवैध नर्सिंग होम से लेकर पैथालॉजी लैब, मेडिकल स्टोर संचालित हो रहे हैं। नर्सिंग होम संचालकों की पोल खुल गई है। आये दिन झोलाछाप चिकित्सकों एवं दाई अपने घरों में डिलीवरी को अंजाम देते हुए उनकी जान एवं स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। आरोप है कि शिकायत करने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इन पर कोई शिकंजा कसता नजर नहीं आ रहा है। स्वास्थ्य विभाग की सांठगांठ से मवाना क्षेत्र में धड़ल्ले से बिना रजिस्ट्रेशन से संचालित हो रहे हैं।

महिला के चेकअप के दौरान थी खून की कमी

रत्न नर्सिंग होम के संचालक अर्जुन कुमार ने बताया कि प्रसव पीड़ा महिला को परिजनों द्वारा भर्ती कराया गया था, लेकिन महिला के चेकअप के दौरान खून की कमी थी। खून की कमी होने से महिला की मृत्यु हुई है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments