Tuesday, November 28, 2023
HomeUttar Pradesh NewsMeerut5जी: वेस्ट यूपी में 200 शेयरिंग टावर अपग्रेड नहीं

5जी: वेस्ट यूपी में 200 शेयरिंग टावर अपग्रेड नहीं

- Advertisement -
  • कॉलिंग फेल और बढ़ी कॉल ड्रॉप, शेयरिंग टावर बन रहे परेशानी की वजह

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मोबाइल आॅपरेटरर्स के बीच 5जी सेवा लॉच करने की प्रतिस्पर्द्धा ने उपभोक्ताओं के लिए परेशानी खड़ी कर दी हैं। एयरटेल ने वेस्ट यूपी में 5 जी सेवा लॉच कर दी हैं। आधे-अधूरे तंत्र के साथ 5जी शुरू एयरटेल ने चालू तो कर दिया, लेकिन वर्तमान में ज्यादातर शेयरिंग टावर अपग्रेड नहीं किये हैं। इससे सुविधा बढ़ने की बजाय कॉल ड्राप बढ़ गई हैं। वेस्ट यूपी में ज्यादातर मोबाइल कंपनी आॅपरेटर शेयर कर रहे हैं। यहां बीटीएस बेस ट्रांसवीर स्टेशन को अपग्रेड नहीं किया गया और नहीं 5जी लैस किया गया।

5जी नेटवर्क से कॉल करने वाले उपभोक्ता का 4 जी नेटवर्क पर कॉलिंग फेल हो रही हैं। वैसे वेस्ट यूपी में सिर्फ एयरटेल ने ही 5जी सेवा आरंभ की हैं, अभी दूसरी मोबाइल कंपनी 5जी पर काम कर रही हैं। एक ही टावर पर एक से अधिक मोबाइल आॅपरेटर अपने बीटीएस लगाते हैं, जिससे भी यह दिक्कत पैदा हुई हैं। ऐसा इसलिए भी किया जा रहा हैं कि अलग-अलग टावर के निर्माण पर खर्चें से बचा जा सकता हैं।

जब भी आप फोन पर किसी से बात करते है और अचानक कॉल कट जाती है तो आप समझ नहीं पाते है कि क्या हुआ है? बता दें कि आज कल लोग कॉल ड्रॉप की समस्या से जूझ रहे है, इसकी समस्या 5जी सेवा चालू करने से पैदा हुई हैं। अभी एक कंपनी ने 5जी सेवा चालू की हैं, बाकी सेवा चालू करने के लिए कतार में खड़े हैं। इसकी वजह शेयरिंग टावर बताए जा रहे हैं। एक कारण ये भी बताया जा रहा है

02 24

5जी के पूरी तरह से अपग्रेड ना होने से मोबाइल उपभोक्ता परेशान हो रहे हैं। निजी मोबाइल कंपनियां इस परेशानी से निपटने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं कर रही है। वैसे तो यह समस्या कई वर्षों से चली आ रही है उम्मीद लगाई जा रही थी कि 5जी लांच होने के बाद कॉल ड्राप की समस्या कम हो जाएगी। मेरठ में भी एयरटेल की ओर से कुछ इलाकों में 5जी सेवा शुरू कर दी गई है। सभी टेलीकॉम कंपनी लगातार बेहतर सर्विस के लिए निवेश कर रही है।

क्यों नहीं हल हो रही कॉल ड्राप की समस्या?

पिछले कुछ दिनों से लगातार यूजर्स कॉल ड्राप की शिकायत कर रहे है। जिसकी वजह से अचानक बात करते हुए कॉल ड्राप हो जाती है। जिससे यूजर्स को दिक्कत होती है। ऐसे में टेलीकॉम आॅपरेटर्स को अपने नेटवर्क क्वालिटी बेहतर करनी होगी। मौजूदा स्थिति सही नहीं है।

बीएसएनल के अधिकारी मनीष का कहना है कि पूरी तरह से 5जी अपडेट होने के बाद ही पूरी तरह से इस समस्या को खत्म किया जा सकेगा। क्योंकि 5जी नेटवर्क अभी कुछ ही जगहों पर काम शुरु कर पाया है। जबकि जियो 2023 के अंत तक पूरे देश में अपनी 5जी सर्विस लांच करने का ऐलान कर चुका है।

यूजर्स दर्ज करा रहे आॅनलाइन शिकायत

यूजर्स की ओर से सोशल मीडिया पर खराब नेटवर्क को लेकर लगातार शिकायत की जा रही है। बता दें कि शेयरिंग टावर की वजह से भी यह समस्या हो रही है। क्योंकि एयरटेल नॉन स्टैंड अलोन नेटवर्क पर काम करता है। मतलब 4जी टॉवर के सहारे ही एयरटेल 5जी की सुविध दे रहा है।

- Advertisement -

Recent Comments