Tuesday, March 2, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut पुलिस ने दुत्कारा तो युवक ने काटी हाथ की नस

पुलिस ने दुत्कारा तो युवक ने काटी हाथ की नस

- Advertisement -
0

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जिस पुलिस के पास लोग न्याय मांगने जाते है और वही दुत्कार कर भगा दे तो फिर पीड़ित के पास जान देने के अलावा कुछ नहीं बचता। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार शाम को टीपीनगर थाने में देखने को मिला। थाने में मदद मांगने गए युवक को जब पुलिस ने दुत्कार कर भगा दिया तो उसने क्षुब्ध होकर थाने के बाहर अपने हाथ की नस काटकर जान देने का प्रयास किया। हालांकि वहां मौजूद जीवनदान फाउंडेशन के सदस्यों ने युवक को तत्काल जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर उसका ईलाज चल रहा है।

काशीराम कॉलोनी के रहने वाले युवक ने बताया कि वह तीन माह से नशा मुक्ति केंद्र में था। शुक्रवार को वह नशा मुक्ति केंद्र से अपने घर पहुंचा तो परिजनों ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। इसके बाद वह घूमता हुआ ट्रांसपोर्टर नगर में पहुंचा तो कुछ लोगों ने उसे बाइक चोर बताकर मारपीट शुरू कर दी।

सूचना पर पहुंची टीपीनगर थाने की फैंटम पुलिस युवक को थाने लेकर पहुंची। जहां पर युवक ने थाना पुलिस से अपने परिजनों को बुलाने की बात कही। युवक के काफी देर तक थाने में गिड़गिड़ाने के बाद भी किसी ने उसकी फरियाद नहीं सुनी और फटकार लगाकर थाने से भगा दिया।

जिसके बाद युवक ने थाने से बाहर आकर अपने हाथ की नस काटकर जान देने का प्रयास किया। युवक की हालत बिगड़ने पर किसी ने जीवनदान फाउंडेशन के सदस्यों को मामले की जानकारी दी। जिसके बाद फाउंडेशन के सदस्यों ने मौके पर पहुंचकर घायल युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर उसका इलाज चल रहा है।

प्रदीप को वारंट पर नहीं ला सकी परतापुर पुलिस

आकाश हत्याकांड के आरोपी पशु चिकित्सक को परतापुर शुक्रवार को वारंट पर नहीं ला सकी। हालांकि मजिस्ट्रेट ने पशु चिकित्सक की सुनवाई के लिए परतापुर पुलिस को 15 फरवरी की तारीख दी है। विदित रहे कि परतापुर थाना क्षेत्र के कंचनपुर घोपला निवासी आकाश को प्रेम प्रसंग चलते गांव के ही पशु चिकित्सक प्रदीप ने पीट-पीटकर बुरी तरह घायल कर दिया था।

परिजनों ने आकाश को गंभीर हालत में निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां पर उसने 17 दिन बाद उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था। जिसके बाद पशु चिकित्सक परिवार समेत अपने घर पर ताला लगाकर फरार हो गया था। हालांकि एक सप्ताह तक पशु चिकित्सक का कोई सुराग नहीं लगने पर परतापुर पुलिस ने उसके घर की कुर्की करते हुए पूरा सामान जब्त भी कर लिया था।

इसके बाद पशु चिकित्सक ने जिला बागपत के थाना दाह में सरेंडर कर दिया था। परतापुर पुलिस ने अब पशु चिकित्सक को पूछताछ के लिए कोर्ट से बी वारंट पर लाने के लिए अरजी लगाई थी। मजिस्ट्रेट ने पशु चिकित्सक की सुनवाई के लिए 12 फरवरी नीयत की थी। लेकिन 12 फरवरी को भी पशु चिकित्सक को बी वारंट पर लाने की इजाजत नहीं मिल सकी। अब मजिस्ट्रेट ने पशु चिकित्सक की सुनवाई के लिए 15 फरवरी नियत की है।

हापुड़ अड्डे पर चला फैमिली ड्रामा, पत्नी को भरे बाजार पीटा

एसएसपी आॅफिस से पति की शिकायत कर वापस लौट रही महिला के साथ उसके पति ने हापुड़ अड्डे पर मारपीट कर दी। आसपास के लोगों ने किसी तरह उनका बीच-बचाव कराया। इसके बाद महिला ने नौचंदी थाने पहुंचकर पति के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज कराया। पुलिस ने महिला का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया। लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के सोहेल गार्डन की रहने वाली अनीशा ने बताया कि उसका पति नुरुद्दीन आए दिन उसके साथ मारपीट करता रहता है।

गत सोमवार को उसने पति से घर खर्च के लिए पैसे मांगे तो उसे लाठी-डंडों से पीटकर घायल कर दिया। किसी तरह वह शुक्रवार को पति की शिकायत करने के लिए एसएसपी आॅफिस पहुंची थी। शिकायत करने के बाद वह वापस लौट रही थी। जब वह हापुड़ अड्डे पर पहुंची तो उसका पति अपने एक साथी के साथ मिला और उसके साथ सरेराह मारपीट शुरू कर दी।

इस दौरान पति ने उससे अपनी शिकायत वापस लेने के लिए दबाव बनाया और तलाक देने की धमकी दी। आसपास के लोगों के जमा होने पर आरोपी पति व उसका साथी मौके से फरार हो गया। इसके बाद अनीशा ने नौचंदी थाने पहुंचकर पति नुरुद्दीन के खिलाफ केस दर्ज कराया।

दिल्ली रोड पर तेज गति से ट्रैक्टर, कई जगह टकराने से बचा

तीन युवक नशे की हालत में दिल्ली रोड पर तेज गति से ट्रैक्टर दौड़ा रहे थे। ट्रैक्टर की गति इतनी तेज थी कि वह कई जगह टकराने से बचा। जानकारी होने पर पुलिस ने पीछा कर ट्रांसपोर्ट नगर गेट के सामने ट्रैक्टर चालक समेत तीन लोगों को हिरासत में ले लिया। शुक्रवार रात को तीन युवक शॉप्रिक्स मॉल से तेज गति से ट्रैक्टर दौड़ाते हुए मेट्रो प्लाजा की ओर जा रहा थे।

ट्रैक्टर की गति इतनी तेज थी कि वह रास्ते में कई वाहनों से टकराने से बचा। जानकारी होने पर पीआरवी की गाड़ी ने ट्रैक्टर का पीछा करते हुए ट्रांसपोर्ट नगर गेट के सामने ट्रैक्टर को घेर लिया। इसके बाद पुलिस ने चालक समेत तीन लोगों को हिरासत में लेकर टीपीनगर थाने पहुंची। जहां पर पुलिस पूछताछ में उन्होंने अपने नाम सलाउद्दीन पुत्र शाहनवाज निवासी श्यामनगर गड्ढे वाली गली, फरमान पुत्र नदीम निवासी तारापुरी और सोनू बताया। पुलिस ने तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments