Tuesday, June 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबेचारी जाए तो जाए कहां! गुहार सबसे लगाई, मदद किसी ने नहीं...

बेचारी जाए तो जाए कहां! गुहार सबसे लगाई, मदद किसी ने नहीं की

- Advertisement -
  • तीन दिन पहले युवक को उठाकर ले गए पुलिस वाले सीसीटीवी में हुए कैद
  • अज्ञात नंबर से आयी काल से पता चला परतापुर पुलिस ने भेज दिया जेल

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: तीन दिन पहले परतापुर पुलिस उसके शौहर को उठाकर ले गई। वाक्या लोहिया नगर थाना क्षेत्र के गांव बजौट का है। पीड़िता के अधिवक्ता वीरेन्द्र वर्मा काजीपुर ने बताया कि पूरी घटना मकान पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। किस मामले में लेकर जा रहे हैं कहां ले जा रहे हैं क्या कोई मामला दर्ज किया है या किसी ने कोई शिकायत की है, बकौल पीड़िता फरहाना पत्नी सलाउद्दीन पुलिस वालों ने कुछ नहीं बताया। उठाया और गाड़ी में डालकर ले गए। परतापुर पुलिस का यह दूसरा वाक्या है जब सलाउद्दीन को इस प्रकार से उठाकर लेकर गयी है।

पहले जब उठाकर ले गयी थी उसके बाद पीड़िता ने दोबारा इसी प्रकार की घटना की आशंका के चलते अपने यहां सीसीटीवी कैमरे लगवा लिए थे। इस बार पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है। वर्दी और सादीवर्दी में जो पुलिस वाले उठाकर ले गए थे वो सीसीटीवी में कैद हो गए। अगले दिन पीड़िता सीसीटीवी की फुटेज लेकर अफसरों की डयोढी पर मिन्नतें करने जा पहुंची। फरहाना ने बताया कि शौहर का पता लगाने को वह एसएसपी, आईजी व एडीजी सरीखे अफसरों से फरियाद करने पहुंची। सीसीटीवी के सबूत दिखाए।

अफसरों ने उसकी अर्जी तो लेकर रख ली, लेकिन उसका शौहर कहां है यह पता करने में किसी ने भी मदद नहीं की। पीड़िता ने यह भी बताया कि उसने 112 पर भी सूचना दे दी थी, लेकिन वहां से भी उसके शौहर की कोई जानकारी नहीं दी गयी। अधिवक्ता वीरेन्द्र वर्मा ने बताया कि रविवार की शाम को पीड़िता के पास अज्ञात नंबर से काल आयी। काल करने वाले बताया कि उसके पति ने उसका नंबर दिया है और कहा है कि पुलिस ने उसको जेल भेज दिया है। किस मामले में भेजा किस थाने से भेजा यह जानकारी कुछ नहीं दी गयी। वहीं दूसरी ओर इस मामले में परतापुर इंस्पेक्टर ने बताया कि सलाउद्दीन पहले भी कई बार गोकशी के मामले में जेल जा चुका है। इस बार भी उसको गोकशी के मामले में जेल भेजा है।

सरकारी चिकित्सक पर चाकू से हमला, घायल

दौराला: मुजफ्फरनगर में तैनात मोदीपुरम निवासी एक सरकारी चिकित्सक पर खतौली बाइपास पर एक युवक ने चाकू मारकर घायल कर दिया। चिकित्सक लहूलुहान हालत में टोल प्लाजा पर कार लेकर पहुंचा। कार से उतरते ही चिकित्सक नीचे गिर गया, जिसके बाद टोल कर्मियों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने चिकित्सक को निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

मूलरूप से दौराला के चिरौड़ी गांव निवासी डॉ. विवेक चौधरी पिछले दो साल से परिवार के साथ मोदीपुरम में रहते हैं। विवेक सरकारी चिकित्सक है और मुजफ्फरनगर में तैनात है। रविवार को वह अपनी कार में सवार होकर मुजफ्फरनगर जा रहे थे। खतौली थाना क्षेत्र में खतौली बाईपास पर पहुंचते ही एक युवक ने उनकी कार के अगले शीशे पर अंडा फेंककर मारा। शीशे पर अंडा मारने के चलते उन्हें कुछ दिखाई नहीं दिया, जिस पर उन्होंने कार को रोक दिया। शीशा साफ करने के लिए जैसे ही चिकित्सक विवेक चौधरी कार से उतरे, तो एक युवक ने उन पर चाकू से हमला बोल दिया।

आरोपी ने उन पर चाकू से दो बार हमला किया। पेट में चाकू लगने से विवेक गंभीर रूप से घायल हो गए। किसी तरह विवेक कार में बैठकर मौके से भाग निकले। लहूलुहान हालत में कार चलाकर विवेक टोल प्लाजा तक पहुंचे और टोल पर जैसे ही वह कार से उतरे तो सड़क पर गिर पड़े। विवेक चौधरी को लहूलुहान हालत में देख टोलकर्मी मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। जानकारी मिलने पर दौराला पुलिस मौके पर पहुंची और चिकित्सक को टोल के पास स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया।

यहां, से चिकित्सक को कंकरखेड़ा व गंभीर हालत देख मेरठ स्थित एक निजी अस्पताल में रेफर कर दिया गया। फिलहाल चिकित्सक की हालत गंभीर बनी हुई है और वह आईसीयू में भर्ती है। जानकारी मिलने पर परिजन अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने चाकू बरामद कर लिया। हालांकि, आरोपी भाग निकला। आरोपी दौराला निवासी बताया गया है और मामला लेनदेन का सामने आ रहा है। दौराला थाना प्रभारी संजय कुमार शर्मा का कहना है कि मामला खतौली थाना क्षेत्र से जुड़ा है। तहरीर नहीं आई है। जांच की जा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments