Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबार-बार मांगे जाने पर क्यों नहीं भेजी जा रही प्रमोशन को न...

बार-बार मांगे जाने पर क्यों नहीं भेजी जा रही प्रमोशन को न करने वालों की सूची

- Advertisement -
  • 31 अक्तूबर तक भेजी जानी थी अहसमत कर्मियों की सूची मुख्यालय
  • अधीक्षण अभियंता हाइडिल ने तत्काल सूची भेजे जाने को लिखा पत्र

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: टीजी-टू से अवर अभियंता के प्रमोशन से इंकार करने वाले कर्मचारियों की सूची डिस्कॉम स्तर पर बार-बार मांगे जाने के बाद भी लखनऊ स्थित शक्ति भवन में बैठने वाले अफसरों को नहीं भेजी जा रही है। यह सूची 31 अक्तूबर तक भेजी जानी थी, लेकिन नहीं भेजे जाने के बाद अब तमाम प्रकार के सवाल उठ रहे हैं। प्रमोशन को लेकर जो टीजी-टू इंकार (फॉरगो) कर चुके हैं

उनकी सूची मुख्यालय को भेजे जाने में देरी के पीछे एक बार फिर कहा जाने लगा है कि अपने चहेतों को एडजेस्ट करने का खेल चल रहा है। दरअसल इसको लेकर पूर्व में जो कर्मचारी दिवंगत हो चुके हैं या जो कर्मचारी सालों से गायब हैं, जिनका कोई अतापता नहीं है ऐसे कर्मचारियों के नाम सूची में शामिल कर मुख्यालय भेज दी गयी थी। हालांकि इस कारगुजारी का खुलासा भी जनवाणी ने किया था। उसके बाद मेरठ से लखनऊ तक हड़कंप मच गया। सूची तैयार करने व भेजने वालों को फटकार लगायी गयी।

दिवंगतों के नाम सूची से किए बाहर

फटकार व फजीहत होने के बाद प्रमोशन के लिए जिन कर्मचारियों की सूची भेजी गयी थी उस सूची से ऐसे कर्मचारियों के नाम बाहर किए गए जो इस दुनिया में अब नहीं हैं। इसके अलावा जिन कर्मचारियों का कोई अतापता नहीं है उनके नाम भी सूची से बाहर किए गए। हालांकि इस सूची में जो टीजी-टू प्रमोशन लेना चाहते हैं

उनके नाम सूची में शामिल किए गए हैं या नहीं यह साफ नहीं। लेकिन अधीक्षण अभियंता हाईडिल जमील अहमद के आज सोमवार 31 अक्तूबर को डिस्कॉक के अफसरों को भेजे गए रिमांडर में तत्काल ऐसे टीजी-टू की सूची भेजने को कहा गया है जिन्होंने किसी भी कारण के चलते प्रमोशन लेने से साफ इंकार कर दिया है।

लखनऊ के निर्देशों का हवाला

अधीक्षण अभियंता के सोमवार को प्रेषित पत्र में पूर्व में दिए गए लखनऊ के आदेशों व पत्रों का हवाला देते हुए बताया गया है कि मुख्य अभियंता हाईडिल उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के पूर्व में भेजे गए पत्र में जिन 40 फीसदी कोर्ट के अंतर्गत लंबित/ असहमत तकनीशियन कार्मिकों की शार्टस्टेड लिस्ट सूची के अनुसार मांगी गयी सूचना अभिलेख शीर्ष प्राथमिकता के स्तर पर 31 अक्तूबर तक शत प्रतिशत रूप से अपलोड कर कार्यालय मुख्य अभियंता उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लखनऊ को उपलब्ध कराते हुए कार्यालय को सूचित करने के निर्देश दिए हैं ताकि ग्रेतर कार्रवाई अविलंब संपन्न की जा सके।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments