Monday, June 14, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliचीनी मिलों पर किसानों का 813 करोड़ बकाया

चीनी मिलों पर किसानों का 813 करोड़ बकाया

- Advertisement -
0
  • शामली में 1122 करोड़ में से 308.97 करोड़ का भुगतान
  • जिलाधिकारी ने सौ फीसदी गन्ना भुगतान करने के दिए निर्देश

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: जिलाधिकारी जसजीत कौर ने जनपद की तीनों चीनी मिलों पर पेराई सत्र 2020-21 के बकाया गन्ना भुगतान की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान जनपद की तीनों चीनी मिलों पर किसानों को चीनी मिलों पर 813.35 करोड़ रुपये का बकाया भुगतान अभी तक नहीं होने की बात सामने आई जिस पर जिलाधिकारी चीनी मिल प्रतिनिधियों को शीघ्र सौ फीसदी गन्ना मूल्य भुगतान किए जाने के निर्देश दिए।

मंगलवार को जिलाधिकारी जसजीत कौर ने जनपद में बकाया गन्ना भुगतान को लेकर चीनी मिल प्रबंधन वर्ग के साथ बैठक शीघ्र भुगतान के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने पेराई सत्र 2020-21 का चीनी मिल वार किसानों के देय भुगतान की समीक्षा की। इस दौरान जिला गन्ना अधिकारी ने किसानों के गन्ना मूल्य भुगतान के संबंध में जिलाधिकारी को अवगत कराया कि शामली चीनी मिल ने 345़ 92 करोड़ के सापेक्ष 100़ 99 करोड़ का भुगतान किया है।

ऊन चीनी मिल द्वारा 337़10 करोड के सापेक्ष 124़ 99 एवं थानाभवन चीनी मिल ने 439़ 30 करोड़ के सापेक्ष 82़ 74 करोड़ का भुगतान किया है। इस तरह से जनपदकी तीनों चीनी मिलों पर पेराई सत्र 2020-21 का 1122.32 करोड़ रुपये का गन्ना मूल्य भुगतान है जिसमें उनको अभी तक सिर्फ 308.97 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। इस तरह से वर्तमान में जनपद की चीनी मिलों पर 813.35 करोड़ रुपये का गन्ना मूल्य भुगतान निकल रहा है।

जिस पर जिलाधिकारी ने किसानों का बकाया गन्ना मूल्य भुगतान नहीं किए जाने को लेकर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए चीनी मिलों के प्रतिनिधियों को किसानों का पेराई सत्र 2020-21 का अवशेष बकाया गन्ना मूल्य भुगतान प्रत्येक दशा में सौ फीसदी करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने चीनी मिल के प्रतिनिधियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि किसानों के गन्ना मूल्य भुगतान में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। चीनी मिल शामली द्वारा पेराई सत्र 2019-20 में एक्सपोर्ट की गई रॉ शुगर के सापेक्ष प्राप्त होने वाली सब्सिडी 3356़ 00 लाख प्राप्त हुई है। जिसका उपयोग पेराई सत्र 2020-21 के देय भुगतान में किया जाएगा।

इसके लिए डीएम द्वारा सचिव प्रभारी सहकारी गन्ना विकास समिति लिमिटेड शामली को निर्देश दिए गए कि उक्त धनराशि कृषकों के खातों में स्थानांतरित की जाए। उन्होंने कहा कि यदि किसानों के गन्ना मूल्य भुगतान में किसी भी प्रकार की कोताही बरती जाती है तो संबंधित चीनी मिल के कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
बैठक में जिला गन्ना अधिकारी विजय बहादुर सिंह, शामली चीनी मिल के गन्ना महाप्रबंधक डा. कुलदीप पिलानिया, थानाभवन चीनी मिल के गन्ना महाप्रबंधक से जेबी तोमर, एकाउंट हैड सुभाष बहुगुणा, ऊन चीनी मिल के गन्ना महाप्रबंधक से अनिल कुमार अहलावत आदि ने प्रतिभग किया।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments