Monday, June 27, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
Homeसंवादसप्तरंगअनिल कपूर ने एक्टर बनने के लिए काफी स्ट्रगल किया था

अनिल कपूर ने एक्टर बनने के लिए काफी स्ट्रगल किया था

- Advertisement -

 


नेटफ्लिक्स की फिल्म ‘एके वर्सेस एके’ (2020) में आखिरी बार नजर आए अनिल कपूर की हाल ही में एक और फिल्म ‘ठार’ (2022) नेटफ्लिक्स पर ही आॅन स्ट्रीम हुई। अनिल कपूर और उनके बेटे हषवर्धन कपूर द्वारा निर्मित इस फिल्म को राज सिंह चौधरी द्वारा निर्देशित किया गया था। इसमें अनिल कपूर पहली बार अपने बेटे हर्षवर्धन के साथ स्क्रीन शेयर करते नजर आए।

Weekly Horoscope: क्या कहते है आपके सितारे साप्ताहिक राशिफल 15 मई से 21 मई 2022 तक || JANWANI

 

 

अनिल कपूर राज मेहता के निर्देशन में ‘जुग जुग जियो’ की शूटिंग पूरी कर चुके हैं। इस फिल्म में उनके साथ ऋषि कपूर की पत्नी नीतू कपूर, वरूण धवन और कियारा आडवानी नजर आएंगे। इसे आगामी 24 जून को थियेटर्स में रिलीज किया जाएगा। अनिल कपूर ने अपने कैरियर की शुरुआत उमेश मेहरा की फिल्म ‘हमारे तुम्हारे’ (1979) के साथ की थी। इस तरह उन्हें इस इंडस्ट्री में 43 साल हो चुके हैं। अपने कैरियर में अब तक 100 से अधिक फिल्में कर चुके हैं।

अनिल कपूर बॉलीवुड के अलावा इंटरनेशनल फिल्मों में भी काम कर चुके हैं। 24 दिसंबर, 1956 को जन्मे अनिल कपूर 66 के होने के बावजूद बेहद जोशीले और यंग नजर आते है। जोश तो जैसे उनमें कूट कूट कर भरा है। इस उम्र में उनकी फिटनेस देखकर हर किसी को अचरज होता है। अनिल कपूर न केवल एक बेहतरीन एक्टर हैं बल्कि फिल्म प्रोडक्शन में कदम रखने के बाद वे अब तक कई फिल्मों का निर्माण कर चुके हैं। 2002 में अनिल कपूर ने पहली बार एक्टिंग से अलग प्रोडक्शन में कदम रखते हुए कॉमेडी फिल्म ‘बधाई हो बधाई’ का निर्माण किया। इसमें वे एक्टिंग करते हुए भी नजर आए थे।

इसके बाद उन्होंने ‘माई वाइफ्स मर्डर’ (2005) और ‘गांधी माई फादर’ (2007) बनाई। महात्मा गांधी और उनके बेटे हरिलाल गांधी के बीच संबंधों पर केंद्रित ‘गांधी माई फादर’ को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार-विशेष जूरी पुरस्कार/विशेष उल्लेख से सम्मानित किया गया। अनिल कपूर ने अक्षय खन्ना और अरशद वारसी अभिनीत ‘शॉर्टकट:द कॉन इज आॅन’ (2010) और ‘आयशा’ (2010) का भी निर्माण किया। ‘आयशा’ में उनकी बेटी सोनम कपूर और अभय देओल ने मुख्य भूमिकाएं निभाई थीं। अनिल कपूर के परिवार का नाता शुरू से बॉलीवुड के साथ रहा है। उनके पिता जाने माने फिल्म मेकर रहे हैं। उनके बड़े भाई बोनी कपूर भी अब तक इस इंडस्ट्री को कई हिट फिल्में दे चुके हैं|

लेकिन इसके बावजूद अनिल कपूर को अपने कैरियर को स्थापित करने के लिए काफी स्ट्रगल करना पड़ा। शायद यह बात बहुत कम लोगों को पता है कि जब सुनील दत्त ने अपने बेटे संजय दत्त के लिए ‘रॉकी’ की घोषणा की, अनिल कपूर दत्त साहब से मिलने महबूब स्टूडियो जा पहुंचे और उनसे संजय दत्त के अपोजिट वाले रोल की ख्वाहिश जाहिर की लेकिन दत्त साहब ने अनिल कपूर को वह अवसर न देते हुए उस किरदार के लिए गुलशन ग्रोवर को साइन किया।

केवल इतना ही नहीं, कुछ फिल्म मेकर्स ने तो अनिल कपूर से साफ-साफ कह दिया था कि वह कभी स्टार नहीं बन सकते क्योंकि उन्होंने कभी किसी मूंछ वाले को स्टार बनते नहीं देखा है लेकिन अनिल कपूर ने उस रिजेक्शन को एक चुनौती मानते हुए उन्हें मूछों के साथ शानदार कामयाबी हासिल करते हुए हर किसी को हैरत में डाल दिया।


What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments