Saturday, February 27, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Muzaffarnagar ऐतिहासिक सौरम की चौपाल से थाने के घेराव का ऐलान, मचा हड़कंप

ऐतिहासिक सौरम की चौपाल से थाने के घेराव का ऐलान, मचा हड़कंप

- Advertisement -
+1
  • मंत्री समर्थकों व किसानों के बीच मारपीट करने का आरोप प्रत्यारोप
  • कई गांवों से ट्रैक्टर-ट्रॉलियां लेकर पहुंच रहे किसान, पुलिस विभाग में हड़कम्प

जनवाणी संवाददाता |

मुजफ्फरनगर: एक तेहरवीं में शामिल होने के लिए सौरम पहुंचे केन्द्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान के किसानों द्वारा विरोध किये जाने के बाद किसानों व मंत्री समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हुई, जिसमें कई लोग घायल हो गये। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में ले लिया।

इस प्रकरण के बाद सौरम की ऐतिहासिक चौपाल में किसानों की एक पंचायत आयोजित की गई। जिसमें भाजपा का सामाजिक बाईकॉट करने तथा आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किये जाने तक थाने का घेराव करने का निर्णय लिया गया। इस निर्णय के बाद किसान शाहपुर थाने की ओर रवाना हो गये, जिसकी सूचना पर पुलिस में हड़कम्प मच गया।

गौरतलब है कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों द्वारा एक पंचायत कर भाजपा नेताओं का सामाजिक बहिष्कार किये जाने तथा उन्हें गांव में न घुसने देने का फरमान जारी किया गया था, वहीं दूसरी ओर केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भाजपा सांसदों, विधायकों व पार्टी पदाधिकारियों को खाप चौधरियों व आंदोलनरत किसानों के परिवार में जाने तथा मामले को सुलझाने के लिए कहा गया था।

जिसके बाद केन्द्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान ने अपने समाज के नेताओं से बातचीत कर इस मामले में जुटने का आह्वान किया था और तभी से संजीव बालियान गांवों में जाकर लोगों को समझाने का प्रयास कर रहे थे। बताया जाता है कि सोमवार को संजीव बालियान सौरम में एक तेहरवीं में शामिल होने के लिए गये थे, जहां पर कुछ किसानों ने उनका विरोध किया, तो संजीव बालियान के समर्थक व किसानों में मारपीट हो गई।

इस मारपीट में कई किसान घायल हो गये। इस घटना के बाद सौरम की ऐतिहासिक चौपाल में किसानों की एक पंचायत आयोजित की गई। जिसमें सर्वसमाज के लोग शामिल हुए और इस घटना की निंदा करते हुए आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराये जाने की मांग की।

पंचायत में भाजपा का बहिष्कार किये जाने की भी मांग की गई। पंचायत में मुकदमा दर्ज न होने तक थाने का घेराव का भी निर्णय लिया गया। इस निर्णय के बाद सैकड़ों की संख्या में किसान थाने की ओर रवाना हो गये हैं। आसपास के गांवों से भी ट्रैक्टर-ट्रॉलियां भरकर किसान थाने की ओर पहुंचना शुरू हो गये हैं। इस मामले की सूचना मिलने पर पुलिस में हड़कम्प मच गया और एहतियातन भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments