Monday, September 20, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutखुले स्कूल, पहले दिन उपस्थिति कम

खुले स्कूल, पहले दिन उपस्थिति कम

- Advertisement -
  • छठीं से आठवीं तक के सात माह बाद जूनियर स्कूलों में लौटी रौनक
  • तिलक लगाकर छात्रों का किया स्वागत

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: उत्तर प्रदेश में लंबे समय के बाद मंगलवार को कक्षा छह से आठवीं तक के स्कूल खुल गए। इस दौरान छात्र-छात्राओं को थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद स्कूल में प्रवेश दिया गया। साथ ही कोरोना गाइड लाइन का पालन भी किया गया।

बेसिक, माध्यमिक व सीबीएसई के कक्षा छह से आठवीं तक सभी स्कूल 20 मार्च 2020 से कोरोना के चलते बंद चल रहे थे। मगर डेढ़ साल बाद 50 फीसदी उपस्थिति के साथ इन स्कूलों को खोल दिया गया है। स्कूलों का संचालन दो शिफ्टों में किया जाएगा।

हालांकि पहले दिन सरकारी स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम दिखाई दी। कुछ स्कूलों ने बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत किया। वहीं बेसिक शिक्षा विभाग से संचालित नगरीय क्षेत्र के स्कूलों में पहले दिन 20 छात्र-छात्राएं ही पहुंचे।

छात्र-छात्राओं के बीच सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने की जिम्मेदारी शिक्षकों को निभानी होगी। वहीं शिक्षक चेक करेंगे कि बच्चे एक साथ न बैठे, टिफिन, पानी, मास्क और नोटबुक एक-दूसरे के साथ शेयर न करे। अगर किसी बच्चे को जरा सी परेशानी या फिर उसमें किसी प्रकार के लक्षण दिखते है तो फोरन उस बच्चे को घर भेजा जाएगा।

सीबीएसई सिटी कोआॅर्डिनेटर सुधांशु शेखर ने बताया कि छात्र-छात्राओं पर स्कूल आने के लिए शिक्षक दवाब नहीं बना सकेेंगे। क्योंकि जो बच्चे आॅफलाइन पढ़ना चाहते है वह आॅफलाइन पढ़ सकते है जो आॅनलाइन कक्षा लेना चाहते है वह कक्षाएं ले सकते है। उन पर किसी तरह का दबाव नहीं रहेगा।

कम संख्या में पहुंचे छात्र

नगर में बेसिक शिक्षा विभाग से संचालित कंपोजिट विद्यालय समेत जूनियर हाईस्कूल में पहले दिन न के बराबर छात्र-छात्राएं नजर आए। वहीं सीबीएसई से संचालित एमपीएस, सिटी वोकेशनल, गॉडविन आदि में छात्रों की संख्या सही देखने को मिली।

योग और पीटी पर रोक

अभी केवल शिक्षण कार्य के लिए स्कूलों को खोला गया है। छात्र-छात्राओं को ग्राउंड की ग्रुप एक्टिविटीज नहीं कराई जाएगी। स्कूलों में योग, गेम, लंच ब्रेक और प्रार्थना सभाओं पर रोक रहेगी। लंच ब्रेक होगा, लेकिन छात्र-छात्राओं को अपनी कक्षा में बैठकर ही लंच करना होगा। कक्षा शुरू होने से पहले शिक्षक कोविड गाइड लाइन की जानकारी छात्रों को देंगे।

  • स्कूलों को इन बातों का करना होगा पालन
  • स्कूल आने के लिए बच्चों को अभिभावकों की अनुमति लेनी जरूरी होगी।
  • स्कूल के मुख्यद्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग होगी।
  • स्कूल की ओर से बच्चों को मास्क और सैनिटाइजर उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • केवल 50 फीसदी छात्र ही एक शिफ्ट में बुलाए जा सकेंगे।
  • स्कूलों में चिकित्सा व्यवस्था रहेगी।
What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments