Wednesday, January 26, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutक्रिसमस की तैयारियां तेज, सजे गिरजाघर

क्रिसमस की तैयारियां तेज, सजे गिरजाघर

- Advertisement -
  • चर्च में सोशल डिस्टेंसिंग के तहत कम ही लोगों को मिलेगा प्रवेश
  • संक्रमण काल में बरती जाएंगी विशेष सावधानियां

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: क्रिसमस को लेकर ईसाई समाज ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। केरल गीतों का दौर जारी है। वहीं, इस बार कोरोना संक्रमण के कारण विशेष प्रबंध गिरजाघरों में किए गए हैं। हर साल क्रिसमस के मौके पर धूमधाम से सभी गिरजाघरों पर मेले लगाए जाते हैं। जिनमें काफी लोगों की चहल पहल दिखाई देती है।

वहीं, सुबह से ही श्रद्धालु चर्च में आना शुरु हो जाते हैं, लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते गिरजाघरों ने भी कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं। वहीं, कार्यक्रमों में भी थोड़ा फेरबदल किया गया है। शहर में बच्चा पार्क स्थित सेंट थॉमस चर्च, कैंट स्थित सेंट जोजफ चर्च, सिटी मैथोडिस्ट चर्च आदि में क्रिसमस के मौके पर विशेष तैयारियां हर साल की जाती हैं।

इस बार भी गिरजाघरों को रंगबिरंगी लाइटों से सजा दिया गया है। वहीं, कुछ में अभी भी तैयारियां जोरों पर हैं, लेकिन कोरोना काल के बीच इस बार क्रिसमस का पर्व मनाया जा रहा है। ऐसे में विशेष सावधानियां बरती जा रही हैं। कैंट स्थित सेंट जोजफ चर्च में भी इस बार कार्यक्रमों में कुछ बदलाव किए गए हैं।

पेरिस काउंसिल के सदस्य सैमसन मैथ्यूज ने बताया कि कोरोना काल को देखते हुए इस बार क्रिसमस के दिन चर्च में कम ही लोगों को प्रवेश दिया जाएगा। आम तौर पर क्रिसमस के दिन 1500 लोगों के आने की व्यवस्था चर्च में रहती है, लेकिन इस बार सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए सिर्फ 150 के करीब लोगों को प्रवेश दिया जाएगा।

वहीं, एक सीट पर दो ही लोगों को बैठाया जाएगा। जिससे कि उचित दूरी का पालन हो सके। इसके अलावा दस वर्ष से कम और 60 वर्ष के अधिक उम्र के लोगों को भी प्रवेश नहीं दिया जाएगा। बताया कि क्रिसमस के दिन चर्च दो बार सुबह 7.30 बजे और सुबह नौ बजे लगाया जाएगा।

वहीं, क्रिसमस के बाद चर्च में होने वाले क्रिसमस ट्री प्रोग्राम को भी इस बार रद कर दिया गया है। वहीं, सिटी मैथोडिस्ट चर्च में भी तीन सर्विस क्रिसमस के दिन होंगी। जिसमें चर्च सुबह नौ बजे से 10 बजे, दस बजे से 11 बजे और फिर 11 बजे से 12 बजे तक लगेगा।

ब्रदर ललित स्टीफन ने बताया कि कोरोना काल को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन चर्च में किया जाएगा। आम तौर पर चर्च में 300 लोग एक साथ प्रार्थना कर सकते हैं, लेकिन इस बार सिर्फ 150 लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा। जिसमें एक सीट पर सिर्फ तीन लोग बैठ सकेंगे। वहीं, क्रिसमस पर पूरे दिन चर्च श्रद्धालुओं के लिए खुला रहेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments