Friday, January 21, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutशहर में बिजली कटौती ने खूब रुलाया

शहर में बिजली कटौती ने खूब रुलाया

- Advertisement -
  • लाइनमैन छुट्टी पर शहर भर में बत्ती गुल, बरसात के मौसम में शहर के कई इलाकों में रही बिजली की कटौती

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: संविदा लाइनमैनों के हड़ताल पर होने से इसका सीधा असर विद्युत आपूर्ति पर देखने को मिल रहा है, जिसके चलते रविवार को शहर के कई इलाकों में नौ घंट तक बिजली गुल रही और लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। पानी को भी लोग तरस गए। उधर, लोगों द्वारा शिकायत करने पर भी तुरंत कार्रवाई नहीं की गई। कई क्षेत्रों में बारिश के चलते लाइन खराब होने के कारण सुबह से लेकर दोपहर तक शाम पांच बजे तक बिजली कटौती रही।

गौरतलब है कि आउटसोर्सिंग के साथ अनुबंध पूर्ण न होने और फर्म द्वारा कर्मचारियों को प्राथमिक चिकित्सा का लाभ नहीं दिए जाने को लेकर संविदा लाइनमैन हड़ताल पर हैं। ऐसे में हजारों लाइनमैनों के हड़ताल पर होने के कारण विद्युत आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई है। रविवार को शहर भर में भारी बारिश हुई, जिस कारण कई क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति चरमरा गई, लेकिन लाइनमैनों के हड़ताल पर होने के चलते समय रहते लाइन ठीक नहीं हो सकी।

ऐसे में रोहटा रोड और कैंट क्षेत्र में बीसी लाइंस में घंटों तक बिजली ने लोगों को परेशान किया। एनएच-58 पर स्थित ग्रीन वुड सिटी में सुबह आठ बजे से बिजली आपूर्ति बाधित रही, जो शाम पांच बजे आयी, लेकिन बाद में फिर से कट हो गई। इस तरह से पूरा दिन लोगों को बिजली कटौती का सामना करना पड़ा। उधर, शास्त्रीनगर, जागृति विहार, सूरजकुंड पर भी बिजली के लंबे कट से लोग परेशान रहे। इसके अलावा सदर क्षेत्र में आठ घंटे बिजली गुल रही।

रंगोली, नौचंदी, माधवपुरम, एमईएस बिजलीघर से जुड़े क्षेत्र बिजली कटौती से परेशान रहे। बताते चले कि लाइनमैनों की हड़ताल के चलते पहले भी पिछले दिनों यह परिस्थिति देखने को मिली थी, लेकिन रविवार को बारिश ने आग में घी डालने वाला कार्य कर दिया। बारिश के कारण कई बिजली घरों की आपूर्ति प्रभावित रही। साथ ही शहर के अलावा कुछ ग्रामीणी क्षेत्रों में बत्ती गुल रही। हालांकि वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर विभाग द्वारा कर्मचारी लगाए गए हैं, लेकिन वह कर्मों जल्दी फाल्ट ठीक करने में नाकाम साबित हो रहे हैं।

बिजली की आपूर्ति बाधित शहर ही नहीं, बल्कि पूरे जनपद प्रभावित रहा। दिन भी बिजली की कटौती से लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ा। उधर, निविदा संविदा सेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह के आह्वान पर वे पिछले चार दिन से बिजली घर पर कोई कार्य नहीं कर रहे हैं। बताया कि उनका वेतन बेसिल कंपनी देती थी। बेसिल कंपनी उन्हें प्राथमिक चिकित्सा भी देती थी, लेकिन ठेका अब नई कंपनी के पास चला गया है। नई कंपनी उन्हें प्रथमिक उपचार नहीं दे रही है। संविदाकर्मियों ने उपरोक्त मांगे पूरी न होने तक हड़ताल जारी रखने की बात कही।

आकाशीय बिजली से टूटा छज्जा, मकानों में आई दरार

कंकरखेड़ा: संत विहार कालोनी में रविवार दोपहर के समय तेज बरसात के साथ आकाशीय बिजली गिरने से रिटायर हवलदार फौजी के घर का छज्जा टूट गया और मकानों में दरार पड़ गई। इस घटना में कई घरों के बिजली उपकरण फुंक गए। क्षेत्र में हाहाकार मच गया। हालांकि गनीमत रही कि कोई जनहानि नहीं हो सकी। बिजली की तेज आवाज से काफी लोग भयभीत हो गए थे। पूरे दिन हर तरफ बिजली गिरने की चर्चा रही।

रविवार दोपहर को घनघोर घटा आने के बाद तेज बरसात हो रही थी। इस दौरान संत बिहार निवासी रिटायर हवलदार परवीन बालियान फौजी के घर के छज्जे पर आकाशीय बिजली तेज आवाज करते हुए गिरी। जिसके बाद छज्जे का काफी हिस्सा टूटकर नीचे गिर गया और इनके बराबर में बने मकान में भी दरार आ गई। बराबर में दारोगा सौदान सिंह का मकान है। सौदान सिंह और प्रवीण सिंह के मकान के बीच गहरी दरार पड़ी है और रणवीर त्यागी, मनीष शर्मा, सोमबीर व धर्मेंद्र सहित आधा दर्जन लोगों के मकान में बिजली के उपकरण फुंक गए।

आकाश से बिजली की गिरने के साथ ही यह घटना घटी। आकाश से बिजली की कड़कड़ाती आवाज के लोग भयभीत हो गए। घरों से बाहर निकल कर देखा तो छज्जे का का शीशा टूटा हुआ नीचे पड़ा था। सन्त विहार निवासी सोहन वीर का कहना है कि हादसे में काफी लोगों का बड़ा नुकसान हो गया है।

हालांकि जनहानि होने से बच गई। इस घटना के बाद से कॉलोनी में बिजली गुल रही। रात को भी कॉलोनी में बिजली आपूर्ति करने के लिए लोग बिजलीघर के चक्कर लगाते रहे, लेकिन ट्रांसफार्मर में भी धुंआ उठता रहा। भाजपा के वरिष्ठ नेता विनय चौधरी का कहना है कि बिजली विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया जा रहा है।

मोदीपुरम में विद्युत आपूर्ति ठप, लोग रहे परेशान

मौसम में खराबी होने के कारण मेरठ शहर के कई इलाकों में विद्युत आपूर्ति की लाइनों में फाल्ट हो गया। जिसके चलते दिनभर कई इलाकों में आपूर्ति नहीं हो सकी। उधर, संविदा पर तैनात लाइनमैनों द्वारा की गई हड़ताल से लाइन का फाल्ट ठीक नहीं हो सका और सुबह से लेकर शाम तक विद्युत आपूर्ति न होने के कारण शहर के कई हिस्सों में हाहाकार मच गया।

शहर के मोदीपुरम, पल्लवपुरम और रुड़की रोड के अलावा माधवपुरम, गंगानगर, साबुन गोदाम के कई हिस्सों में रविवार को मौसम की खराबी के चलते लाइनों में फाल्ट हो गया, क्योंकि रविवार सुबह से ही बारिश के कारण विद्युत आपूर्ति की लाइनों में फाल्ट के चलते इन इलाकों में आपूर्ति ठप हो गई। आपूर्ति के ठप होने से घरों में पानी की सप्लाई नहीं हो सकी। जिसके चलते लोगों को परेशानी से जूझना पड़ा।

लोगों ने इसकी शिकायत विद्युत विभाग के अधिकारियों से की, लेकिन विद्युत विभाग में संविदा पर नौकरी कर रहे लाइनमैन मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। जिसके चलते लाइनों का फाल्ट ठीक नहीं हो सका। सुबह से लेकर शाम तक इन इलाकों के लोग अधिकारियों के फोन घनघनाते रहे, लेकिन अधिकारी सिर्फ आश्वासन के अलावा कुछ नहीं दे सके। हालांकि शाम के समय इन इलाकों में विद्युत आपूर्ति शुरू हो सकी। सुबह 8:00 बजे से लेकर शाम के 5:00 बजे तक विद्युत आपूर्ति इन इलाकों में नहीं हो सकी।

बूंद-बूंद पानी को तरसे लोग

विद्युत आपूर्ति न होने से शहर की कई पॉश कालोनियों के लोग पानी की बूंद-बूंद को तरस गए। कॉलोनीवासी दिनभर विद्युत अधिकारियों से गुहार लगाते नजर आए। पल्लवपुरम के जेई का कहना था कि लाइनमैनों की हड़ताल के कारण फाल्ट समय रहते ठीक नहीं हो सका है। जिसके चलते परेशानी से जूझना पड़ा।

मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है। जिसके चलते अक्टूबर माह में जहां अभी तक गर्मी देखने को मिल रही थी। वहीं, रविवार को हुई बारिश ने एक बार फिर से मौसम में परिवर्तन ला दिया है। मौसम में लगातार हो रही परिवर्तन के कारण वैज्ञानिक भी चिंता में डूबे हुए हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अब ठंड का प्रकोप शुरू हो जाएगा। यह बारिश ठंड की पहल है। फिलहाल बारिश होने के कारण तापमान में भी गिरावट आई है।

राजकीय मौसम वैधशाला पर रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 28.0 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 22.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम आर्द्रता 100 एवं न्यूनतम आर्द्रता 79 प्रतिशत दर्ज की गई है। बारिश 11.6 मिमी दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिक डा. समीम अहमद का कहना है कि बारिश से मौसम में बदलाव आएगा और ठंड का प्रकोप शुरू होगा।

धान की फसल के लिए बेहद खराब है बारिश

सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कृषि वैज्ञानिक डा. आरएस सेंगर का कहना है कि यह बारिश धान की फसल के लिए बेहद खराब है। यह बारिश आलू की बुवाई के लिए भी बेहद खराब बताई है। डा. सेंगर ने बताया कि बेल वाली फसलों के लिए भी यह बारिश खतरनाक है। इस बारिश के चलते बेल की फसलें सड़ जाएंगी। किसानों को अपने खेत में रुके हुए पानी को तुरंत उस की निकासी करें। जिससे किसान भारी नुकसान से बच सकेगा।

मवाना: बारिश ने कराया ठंड का अहसास

बदलते मौसम में रविवार को हुई बारिश व हवाएं चलने से लोगों ने ठंड का अहसास किया। अलसुबह शुरू हुआ बारिश का सिलसिला दिनभर चलता रहा। बारिश के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त रहा। बारिश से धान की फसल खराब होने से किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें उभर कर सामने आ गई है। भीषण गर्मी से लोगों का बुराहाल था, लेकिन अक्टूबर माह शुरू होने के बाद मौसम में बदलाव हो रहा है। मौसम में तेजी से परिवर्तन के चलते सुबह व शाम में ठंड का अहसास होने लगा है। मोसम मे हो रहे बदलाव से लोगों ने पंखा-कूलर चलाने भी बंद कर दिये हैं। बदलते मौसम के बीच रविवार को अलसुबह आकाश में बादल छा गए और बारिश होने लगी।

बारिश के साथ हवाएं भी चली। सुबह शुरू हुआ बारिश का सिलसिला शाम तक चलता रहा। बारिश व हवा ने ठंड का अहसास कर दिया है। उधर, सरधना में पिछले कई दिन से पड़ रही गर्मी ने लोगों का बुरा हाल कर दिया था। मगर रविवार अलसुबह मौसम का मिजाज बदल गया। दिन निकलने से पहले की बादल झमाझम बरसने शुरू हो गए थे। बारिश का यह सिलसिला पूरे दिन चलता रहा। बारिश से मौसम खुशगवार हो गया।

मौसम में ठंडक पैदा हो गई। ठंडक का असर यह रहा कि लोगों को पंखे बंद करने पड़ गए। वहीं, बारिश के कारण हुए जलभराव के चलते लोगों को परेशानी भी उठानी पड़ी। तहसील रोड से लेकर गुजरान गेट, चौक बाजार, कालंद चुंगी, गंज बाजार, कुम्हारान समेत अधिकांश स्थानों पर जलभराव हो गया। देर शाम तक बारिश का सिलसिला जारी रहा।

बाजार भी रहे बेरौनक

सुबह से बारिश होने के कारण देहात से लोगों का आवागमन कम रहा है और व्यापार भी प्रभावित रहा। सुभाष बाजार, दयानंद बाजार, गोल मार्केट, सराफा बाजार सूने रहे। दुकानदार ग्राहकों की बाट जोहते नजर आए।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments