Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबंद है लेकिन सब उपलब्ध है, अब शटर के नीचे से बेची...

बंद है लेकिन सब उपलब्ध है, अब शटर के नीचे से बेची जा रही शराब

- Advertisement -
0
  • लॉकडाउन में भी शराब ठेकों पर लग रही भीड़, नहीं हो रहा था सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में सरकार ने शराब ठेकों को खोलने की अनुमति दी थी, लेकिन शराब ठेका संचालकों ने सरकार की गाइड लाइन की धज्जियां उड़ाते हुए सारी हदें पार कर रखी थी। जिसके चलते बुधवार दोपहर में सरकार ने सभी शराब ठेके बंद करने के आदेश जारी कर दिए, लेकिन अब ठेका संचालकों ने सेल्समैनों से शटर के नीचे से शराब बेचनी शुरू कर दी है।

जिस कारण शराब खरीदने वालों की अब भी ठेकों पर भीड़ बरकरार बनी हुई है। प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए दिन-रात किए हुए है। इसके बावूजद शराब ठेकों पर प्रशासन की गाइड लाइन का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा था।

शराब ठेकों पर किए जा रहे नियमों के उल्लंघन से जिला प्रशासन ही नहीं बल्कि पुलिस अधिकारी भी वाकिफ थे, लेकिन सरकार के आदेश के चलते सभी अधिकारी मजबूर थे। यही नहीं शहर में लॉकडाउन होने के बावजूद लोग शराब खरीदने के बहाने सड़कों पर भी खुलेआम घूम रहे थे। जिसके चलते बुधवार दोपहर को सरकार के आदेश के बाद जिले के सभी शराब ठेके बंद करा दिए गए है।

हालांकि कुछ घंटों तक शराब ठेकों के आसपास कोई नहीं दिखाई दिया, लेकिन शाम होते ही शराब ठेकों के आसपास पियक्कड़ों की टोली मंडराती हुई दिखाई दी और शटर के नीचे से लगातार शराब की बिक्री भी होती रही। शराब ठेका संचालकों का यह सब खेल पुलिस के संज्ञान में है, लेकिन पुलिस भी इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहंी कर रही है।

ठेके बंद होने से तस्करी की शराब की बढ़ी बिक्री

लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए सरकार ने जिले के सभी शराब ठेके बंद करा दिए। शराब ठेके बंद होने से अब तस्करी की लाई जा रही शराब की बिक्री बढ़ गई है। टीपीनगर व ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र की जिन बस्तियों में तस्करी की शराब बेची जाती है, उन बस्तियों में बुधवार शाम को शराब खरीदने वालों की अन्य दिनों के मुकाबले ज्यादा भीड़ दिखाई दी। कुछ लोगों की मानें तो शराब ठेके बंद होने से अब तस्करी की शराब बेचने वालों ने भी अवैध शराब के दाम बढ़ा दिए हैं। इसके बावजूद तस्करी की शराब की बिक्री धड़ल्ले से हो रही है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments