Saturday, February 27, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut डीएम ने जियो टैगिंग एजेंसी को हड़काया

डीएम ने जियो टैगिंग एजेंसी को हड़काया

- Advertisement -
0
  • डीएम ने मंगलवार को डूडा कार्यालय का निरीक्षण किया

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: डीएम ने मंगलवार को परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास प्राधिकरण (डूडा) के कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां लाभार्थियो की वार्डवार सूची देखी तथा डीपीआर में उल्लिखित लाभार्थियों की कम्प्यूटर पर उपलब्ध डाटा व हार्ड कॉपी से मिलान किया।

जिलाधिकारी ने वेबकोस कंपनी की जनशक्ति जो जियो टैगिंग व सर्वे आदि का कार्य करती है, को 11़.30 बजे तक कार्यालय में ही रहने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की तथा कहा कि वह अपने-अपने क्षेत्रों मेें जाकर कार्य करें। पात्रों को ही योजनाओ का लाभ मिले यह सुनिश्चित किया जाये।

डीएम के. बालाजी ने मंगलवार को परियोजना अधिकारी डूडा के कार्यालय के निरीक्षण के दौरान पत्रावलियो को जांचा। जांचकर्ता अपने हस्ताक्षर के नीचे अपना नाम व पदनाम आवश्यक रूप से लिखे। उन्होंने एक ही परिवार के दो लाभार्थियोंं का संपर्क नंबर एक ही होने के संबंध में जानकारी ली व उसमे सुधार के लिए कहा।

इस दौरान डीएम के संज्ञान में आया कि जनपद में प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी अंतर्गत 15 हजार पात्रों को चिन्हित किया गया है, जिनमें से 11452 को प्रथम किश्त, 9942 को द्वितीय किश्त तथा 4700 को तृतीय किश्त दी जा चुकी है। 1300 लाभार्थियों को तीसरी किश्त का भुगतान जल्द करने की पत्रावली प्रक्रियाधीन है।

1300 लाभार्थियों को जल्द तृतीय किश्त का भुगतान किया जायेगा। इस दौरान डीएम के संज्ञान में आया कि प्रत्येक पात्र लाभार्थी को रुपये 2़.50 लाख तीन किश्तो में दिये जाते हैं। प्रथम किश्त में रुपये 50 हजार, द्वितीय किश्त में रुपये 1़50 लाख व तृतीय किश्त में रुपये 50 हजार लाभार्थी को दिये जाते हैं। योजनान्तर्गत पात्रों के चयन के लिए अधिकतम वार्षिक आय रुपये तीन लाख है। इस अवसर पर परियोजना अधिकारी आशीष सिंह सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

जल्द सुधरेंगे नौचंदी मैदान स्थित मंदिर के हालात

गंगोल और फफूंडा में राजकीय कालेज खोले जाने प्रस्ताव दक्षिण विभान से विधायक डा. सोमेन्द्र तोमर ने मुख्यमंत्री के सामने रखा। उन्होंने लखनऊ में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर कई विषयों पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने सभी मांगों पर जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया।

विधायक डा. सोमेन्द्र तोमर ने गंगोल और फफूंडा में राजकीय इंटर कालेज बनाये जाने, रिठानी निवासी आकाश पाल पाल हत्याकांड में पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता दिये जाने। नौचंदी स्थित प्राचीन चंडी देवी मंदिर को अतिक्रमण मुक्त कराने और उसका जीर्णोद्धार कराने, नौचंदी परिसर में मिनी पुलिस लाइन की स्थापना किये जाने की मांग मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने रखी।

उन्होंने कहा गांव के छात्रों को शिक्षा के लिये दूर जाना पड़ता है आसपास में कोई व्यवस्था नहीं है। जिसके कारण गरीब छात्रों को आर्थिक नुकसान भी होता है। उन्होंने मेरठ के ऐतियासिक मेला परिसर नौचंदी मैदान में स्थित प्राचनी चंडी मंदिर का उद्धार किये जाने की भी मांग की। बता दें कि मंदिर परिसर के बाहर अतिक्रमण हुआ है जिससे यहां के हालात बद से बदतर हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने सभी प्रस्तावों पर जल्द से जल्द कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments