Thursday, August 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliकोहरे का कहर और शीतलहर से ठहरा जनजीवन

कोहरे का कहर और शीतलहर से ठहरा जनजीवन

- Advertisement -
  • पारा धड़ाम, दोपहर बाद निकली मरियल सी धूप

जनवाणी संवाददाता |

सहारनपुर: बुधवार की सबुह महनगर वासियों के लिए कोहरे की ढ़की हुई नजर आई। रविवार को हुई बारिश तथा जनपद के आस-पास पहाड़ी क्षेत्रों पर हई बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में देखनें को मिला। जिसका असर यह रहा कि महानगर से लेकर देहात तक में दोपहर बाद तक कोहरे की चादर बिछी रही।

नेशनल हाइवों से लेकर जनपद तक की सड़कों पर दिन में ही रात सा का नजरा रहा। सुबह से छाया कोहरा दोपहर बाद तक छाया रहा। करीब 2 बजे के बाद सूर्य देवता ने दर्शन दिए, लेकिन दोपहर बाद निकली धूप से लोगों को कोई खास राहत नहीं मिल पाई।

दिनभर चली सर्द हवाओं ने वातावरण में ठंडक बनाई रखी। शाम ढलते-ढलते एक बार फिर कोहरे ने अपना रंग दिखाना शुरु कर दिया। जिस कारण लोग अपने घरों में दुबक गए।

महानगर से लेकर देहात तक में सर्दी अपना रंग दिखा रही है। पिछले दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड बुधवार को भी जारी रही। महानगर में सुबह कोहरे की चादर में लिपटी नजर आई। जबरदस्त कोहरे की वजह से दृश्यता काफी कम रही।

जिस कारण महानगर की सड़कों से लेकर हाइवों तक पर वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा रहा। वाहनों को दिन में लाइटें जलाकर चलना पड़ रहा था। कोहरे व बादलों की असर यह रहा कि जनपद में अधिकतम तापमान जहां 15 डिग्री सेल्सियस पर जा पहुंचा तो वहीं न्यूनतम तापमान भी जबरदस्त गोता लगाकर 3 डिग्री सेल्सियस पर रुका। पिछले दिनों से पड़ रही ठंड के चलते अधितकम व न्यूनतम तापमान में गिरावट देखने को मिल रही है।

जिस कारण लोग आफिस, स्कूल या अपने गंतव्य पर जाते समय गर्म कपड़ों में पैक होकर निकले। सुबह कोहरे ने जनपद से गुजरने वाले नेशनल हाईवे सहित अन्य मार्गों पर चलने वाले वाहनों की रफ्तार को प्रभावित कर दिया। तो वही कड़ाके की ठंड रबी फसलों के बेहद फायदेमंद बताई जाती है। कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो इस कड़ाके की ठंड से रबी की फसलें मसलन गेंहू, जौ, सरसों को फायदा होगा। जितनी ज्यादा ठंड होगी गेंहू की दाना उतना ही बड़ा होगा।

सांस के मरीज रखे खास ख्याल

पिछले दिनों से पड़ रही काड़के की ठंड व चल रही सर्द हवाओं के कारण सांस की मरीजों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। महानगर के डॉक्टर संजीव मिगलानी का कहना है कि सांस के मरीजों को जल्द सुबह घूमने से परहेज करना चाहिए। चूंकि वातावरण में नमी की मात्रा बहुत ज्यादा रहती है। इस कारण सांस व दमा के मरीजों को सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। डॉक्टर संजीव मिगलानी ने बताया कि यदि ऐसी मरीज मार्निंग वॉक करनी ही चाहते है तो धूप निकलने के बाद सैर की जा सकती है।

और बढ़ेगी धुंध, लुढ़केगा तापमान

मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में तापमान और लुढ़केगा। जिस कारण ठंड ज्यादा होने की प्रबल संभावना है। तो वहीं हवा की रफ्तार मंद होने से धुंध के देर तक छाए रहने का अनुमान है। मौसम विभाग की माने तो आने वाले दिनों में जिले का तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक जाने का अनुमान है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments