Tuesday, January 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutहिंदी और उर्दू को एक मंच पर रहना जरूरी

हिंदी और उर्दू को एक मंच पर रहना जरूरी

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी के उर्दू विभाग में आयोजित कार्यक्रम में विभागध्यक्ष प्रोफेसर असलम जमसेदपुरी की पुस्तक बहरूपिया का विमोचन मशहूर शायर नवाज़ देवबंदी ने किया।

यूनिवर्सिटी के प्रेमचंद सभागार में मशहूर शायर नवाज़ देवबंदी ने कहा कि हिंदी और उर्दू को एक मंच आने से देश और समाज को मजबूती मिलेगी।

उन्होंने भाषा की कठिन शब्दावली को सरल करने पर जोर दिया. प्रोफेसर असलम जमशेदपुरी ने बहरूपिया के बारे में विस्तार से बताया।

इससे पहले यूनिवर्सिटी की प्रोवाइस चान्सलर प्रोफेसर वाई विमला ने हिंदी और उर्दू की एकता पर जोर दिया. इस मौके पर वेद प्रकाश बटुक, राम गोपाल भारतीय. डॉ बी एस यादव आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन अलका वासिष्ठ ने किया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments