Sunday, October 17, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBijnorविवेक कॉलेज में संविधान दिवस पर विधिक परामर्श केन्द्र का शुभारंभ

विवेक कॉलेज में संविधान दिवस पर विधिक परामर्श केन्द्र का शुभारंभ

- Advertisement -
  • वक्ताओं ने छात्र-छात्राओं को दिए कानूनी संबंधि जानकारियां

जनवाणी ब्यूरो |

बिजनौर: विवेक कॉलेज आफ लॉ में संविधान दिवस के अवसर पर यह मेरा संविधान है विषय पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का प्रारम्भ मुख्य अतिथि वरुण कुमार एडवोकेट जिला शासकीय अधिवक्ता (अपराध), विशिष्ट अतिथि संजीव वर्मा एडवोकेट एडीजीसी अपराध, चैयरमेन अमित गोयल, सचिव दीपक मित्तल, कोषाध्यक्ष धर्मेन्द्र अग्रवाल एवं प्राचार्य डा. राजीव चौधरी संयुक्त रुप से सरस्वती पूजन करके किया गया।

कोविड-19 महामारी के इस संकट में कानूनी समस्याओं पर आनलाइन सुझाव प्राप्त करने हेतु इस अवसर पर विवेक कॉलेज आफ लॉ में एक वर्चुअल नि:शुल्क विधिक परामर्श केन्द्र की स्थापना की गयी। जिसका उद्घाटन मुख्य अतिथि वरुण कुमार एडवोकेट डीजीसी (अपराध) द्वारा पोर्टल आन करके किया गया।

उन्होंने छात्र-छात्राओं को संविधान दिवस की शुभकामनायें देते हुए कहा कि निश्चित तौर पर आनलाइन परामर्श केन्द्र कानूनी जानकारी हेतु जरुरतमन्द लोगों के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। विशिष्ठ अतिथि संजीव वर्मा एडवोकेट एडीजीसी ने छात्र-छात्राओं से कहा कि अगर आप अपने पारिवारिक और सामाजिक नियमों का पालन करते है तो यही सही मायनो में संविधान का सम्मान होगा, क्योकि हमारा समाज संविधान के अनुसार ही निर्मित और विकसित हुआ है।

सचिव दीपक मित्तल ने छात्र-छात्राओ की प्रस्तुति की सराहना करते हुए कहा कि कानून के छात्रों को अपने आस पास में विधिक जागरुकता फैलानी चाहिए। जिससे लोग अपने सवैधानिक अधिकारों के प्रति जानकारी प्राप्त कर सके। प्राचार्य डा. राजीव चौधरी ने सभी अतिथियो का धन्यवाद करते हुए कहा कि संविधान मे संशोधन प्रक्रिया उसे आधुनिक भारत के अनुरुप बताती है।

कार्यक्रम का संचालन रुचि सिंह एवं इशिता चौधरी ने किया। कार्यक्रम में प्रवक्तागण डा. पुष्पा जोशी, डा. अरविन्द कुमार, विपिन कुमार, हिमाद्री शर्मा, अंकित कुमार, मौ. जाकिर, एवं छात्र/छात्राये उपस्थित रहे। कार्यक्रम मे एलएलबी प्रथम वर्ष से रुचि, अंशिका, श्रतुराज, प्रिंयका और बीएएलएलबी प्रथम वर्ष से इशिता, दीपाशी चौधरी और साक्षी ने अपने विचारों द्वारा भारतीय संविधान की विशेषताओं का वर्णन किया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments