Monday, January 24, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutत्योहारी सीजन में जाम ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें

त्योहारी सीजन में जाम ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शहर के बाजारों में त्योहारी सीजन का पूरा रंग चढ़ा हुआ है। त्योहार के इन दिनों में ट्रैफिक का जो सिस्टम कसा हुआ नजर आना चाहिए था वह फेल नजर आ रहा है। ऐसे में बाजारों में जाम का लगना आम हो गया है। जहां भी देखो वहीं वाहनों की रफ्तार थमी है और धीरे-धीरे रेंगने को मजबूर है।

इन बेतरतीब वाहनों पर लगाम कसने और आवाजाही सुव्यवस्थित करने के लिए पुलिस के इंतजाम साफ तौर पर बौने नजर आ रहे है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बाजारों में आने वाले वाहनों के लिए कोई रूट प्लान नहीं है और न ही कहीं अतिरिक्त ट्रैफिक पुलिसकर्मी नजर आ रहे है।

हालात ऐसे बन चुके है कि त्योहारी सीजन में दुपहिया वाहन तक बाजारों में फंस रहे है। रही सही कसर दुकानों के सामने बढ़ रहे अतिक्रमण ने पूरी कर रखी है। जिस पर नगर निगम के अधिकारी आंखे बंद करे हुए है।

शहर आबूलेन, सदर सराफा बाजार, लालकुर्ती पैठ बाजार, सैंट्रल मार्केट, भगत सिंह मार्केट, मीना का बाजार और शहर सराफा बाजार समेत अन्य बाजारों में इन दिनों लोग जाम की स्थिति से जूझ रहे है। इन बाजारों में गिने-चुने ही ट्रैफिक कर्मी नजर आते है।

ट्रैफिक एसपी जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव के अनुसार चार इंस्पेक्टर, 14 सब इंस्पेक्टर, 83 हेड कांस्टेबल और 132 कांस्टेबल ट्रैफिक व्यवस्था देख रहे है। संबंधित थानों की पुलिस व ट्रैफिक एंजेल्स और पीसीआर पुलिस भी ट्रैफिक व्यवस्था बनाने में लगी है।

ट्रैफिक के लिए बनाई व्यवस्था पूरी तरह फेल

शहर के मुख्य बाजारों में लोगों की आवाजाही संतुलित रहे इसको लेकर ट्रैफिक पुलिस ने पहले से ही कोई तैयारी नहीं की थी। हालांकि दिल्ली रोड पर चल रहे रैपिड रेल कार्य को लेकर ट्रैफिक पुलिस ने रूट डायवर्जन किया हुआ है।

जिस कारण इस मार्ग से निकलने वाले वाहन अन्य मार्गों से गुजर रहे है। जिस कारण शहर के अन्य मार्गों पर वाहनों की आवाजाही अधिक बढ़ गई है। इसका असर बाजारों में भी पड़ रहा है। हापुड़ अड्डा चौराहे पर तो ट्रैफिक पुलिस ने भगत सिंह मार्केट में जाने वाले लोगों के लिए बैरिकेड्स लगाए है। इसके बावजूद जाम की व्यवस्था बेकाबू है।

अस्थाई अतिक्रमण बढ़ा रहा मुसीबत

शहर के मुख्य बाजारों में अस्थाई अतिक्रमण भी जाम की बड़ी वजह बन रहा है, जिसने त्योहारी सीजन में लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। यहां पर दुकानदारों ने अपना सामान दुकानों से कई-कई फीट आगे तक फैला रखा है। सड़क के दोनों और फैलाए गए सामान के साथ-साथ ही वाहन खड़े रहते है, जिससे सड़कें पूरी तरह संकरी हो रही है। नगर निगम के अधिकारी भी इस ओर से आंखे बंद किए है।

पार्किंग नहीं होने से भी बढ़ रही परेशानी

बाजारों के आसपास पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त नहीं होने से भी बड़ी समस्या बनी हुई है। आबूलेन नाले पर पार्किंग बनाने की योजना अभी कागजों में ही सिमट कर रह गई है। वहीं पार्किंग की व्यवस्था न होने के कारण सभी वाहन चालक सीधे बाजारों में ही पहुंचते है। पुलिस की सख्ती नहीं होने का भी वाहन चालक फायदा उठा रहे है।

टोल प्लाजा पर लगा जाम बना जी का जंजाल

मोदीपुरम: एनएच-58 स्थित सिवाया टोल प्लाजा पर जाम के झाम ने लोगों को परेशान कर दिया। शनिवार और रविवार को तो यहां जाम की भयंकर स्थिति देखने को मिलती है ही, लेकिन अब प्रत्येक दिन यहां जाम की स्थिति देखी जा रही है। जिसके चलते लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। घंटों तक यात्रिायें को लंबी-लंबी लाइनों में लगना पड़ता है।

दूसरा जाम का कारण यह भी है कि टोल प्लाजा के बूथ पर लगे सेंसर काम नहीं करते हैं। इन सेंसरों के काम न करने के कारण भी यहां जाम की समस्या उत्पन होती है। जिसके चलते लोगों को परेशानी से जूझना पड़ता है। देश भर में यह ऐसा पहला टोल है।

जहां जाम की समस्या उत्पन्न रहती है। क्योंकि इस समस्या के कारण लोगों को परेशानी के साथ-साथ लाखों रुपये का तेल भी लाइन में खड़े रहने के कारण फूंकना पड़ता है। ऐसे में लोगों के सामने परेशानी खड़ी हो जाती है। जिसके चलते लोगों को परेशानी के अलावा आर्थिक परेशानी भी हो रही है।

टोल प्रबंधन द्वारा इस जाम से छुटकारा दिलाने के लिए कोई उचित कदम नही उठाए जा रहे हैं। रविवार को दिनभर जाम की समस्या से लोग जूझते हुए नजर आए। सुबह से लेकर देर रात तक टोल पर जाम की समस्या बनी रही। यह जाम लोगों के लिए जी का जंजाल बन गया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments