Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliखाप चौधरियों ने किसानों के साथ दिल्ली के लिए की रवानगी

खाप चौधरियों ने किसानों के साथ दिल्ली के लिए की रवानगी

- Advertisement -
  • कृषि कानून रद्द होने तक आंदोलन जारी रखने का ऐलान

जनवाणी संवाददता |

शामली/कैराना: कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसान लगातार 32 दिन से डटे हुए हैं। खाप चौधरियों का जत्था किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए रवाना हुआ। मांग पूरी न होने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी।

कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर लगातार 32 दिन से किसानों का आंदोलन चल रहा हैं। जिसको लेकर जिले के खाप चौधरी कई दिनों से दिल्ली किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए रणनीति बना रहें थे।

कई दिन पूर्व जनपद शामली के खाप चौधरियों ने दिल्ली सीमा पर कूच कर सिंघु बर्डर पर पहुंचने की घोषणा कर दी थी। जिसके चलते सोमवार को खाप चौधरियों की गाड़ियों का काफिला कैराना बाईपास पर पहुंचा। कालखंडे खाप के चौधरी बाबा संजय कालखंडे ने बताया कि वे दिल्ली में आंदोलित किसानों के बीच पहुंच रहे हैं तथा सरकार से तीनों नए कानूनों को रद्द कराने की मांग करेंगे।

उन्होंने बताया कि कुछ कार्यकर्ताओं के वाहन उनसे आगे जा चुके हैं। बाकी कुछ किसान की गाड़ियां उनके पीछे आ रहीं हैं। वहीं खाप चौधरियों के कैराना से होते हुए दिल्ली जाने की सूचना पर सीओ जितेंद्र कुमार व कोतवाली प्रभारी प्रेमवीर राणा पुलिस टीम के साथ बाइपास पर पहुंच गए थे। दोनों अधिकारियों ने खाप चौधरियों से बातचीत की। कुछ देर रुकने के बाद खाप चौधरियों का जत्था कैराना बाइपास से गुजरकर यूपी-हरियाणा बर्डर से होते हुए दिल्ली की ओर कूच कर गया।

गाजीपुर बॉर्डर पर डंटे भाकियू कार्यकर्ता

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब, हरियाणा व उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों के किसान दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। आगामी 29 दिसंबर को सरकार द्वारा बातचीत के लिए भेजे गए प्रस्ताव पर किसान संगठनों ने बातचीत के लिए सहमति जताई हैं। वहीं कैराना क्षेत्र के भाकियू कार्यकर्ता भी लगातार 33 दिन से कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बार्डर पर डंटे हुए हैं।

गांव दभेडी खुर्द निवासी जिला सचिव चौधरी असजद ने बताया कि भाकियू के प्रदेश प्रवक्ता कुलदीप पंवार के नेतृत्व में उनकी टीम लगातार गाजीपुर बार्डर पर आंदोलन कर रहीं है और सरकार से तीनों ने कृषि कानूनों को रद्द कराने की मांग की जा रही है।

अगर जल्द ही सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं करती हैं तो आंदोलन और तेज किया जाएगा। इस दौरान भाकियू प्रदेश प्रवक्ता कुलदीप पंवार, भाकियू नेता चौधरी अजीत निर्वाल, जिला सचिव चौधरी असजद, चौधरी इमरान, चौधरी आमिर अली गोगवान ग्राम अध्यक्ष व शमशाद आदि शामिल हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments