Monday, March 1, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut महंगाई ने बिगाड़ दिया रसोई का बजट

महंगाई ने बिगाड़ दिया रसोई का बजट

- Advertisement -
0
  • रिफाइंड तेल, रसोई गैस हो या दालों के दाम लगातार हो रहे महंगे

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: 10 महीने कोरोना के कारण आर्थिक संकट से जूझ रहे लोगों के नए साल ने महंगाई से परेशान करके रख दिया है। घरों में पतिदेव जहां पेट्रोल और डीजल के दामों की रोज हो रही वृद्धि से परेशान हैं, वहीं महिलाएं रसोई में पड़े महंगाई के डाके से परेशान है। कुछ दिनों से रिफाइंड और सरसों के तेल में लगातार हो रही वृद्धि से परेशान है। वही दालों की कीमतें भी आसमान छू रही है।

हालात यह है कि अब रसोई में मनपसंद चीज बनाने से पहले कई बार सोचना पड़ रहा है। हैरानी की बात यह है रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ रहे है। इसने गरीब लोगों को परेशानी में डाल दिया है। बाजार में इस वक्त दाल, तेल, मेवे और ऐसे सामान महंगे हो रहे है जिनका रसोई से सीधा संबंध है।

सदर स्थित सुरभि स्टोर के अमित कंसल ने बताया कि हमें खुद समझ नहीं आ रहा कि रिफाइंड तेलों के दाम क्यों बढ़ रहे हैं। दालों के दाम में आए दिन बढ़ोतरी हो रही है। वहीं, माधवपुरम स्थित गुप्ता टेड्रर्स के संचालक नितिन गुप्ता ने बताया कि कई महीनों से घरेलू सामानों के दामों में इजाफा हो रहा है। जिससे हम भी परेशान है। ग्राहकों को भी परेशानी हो रही है।

मनीषा का कहना है कि रसोई ही नहीं बढ़Þती महंगाई की वजह से घर के सभी खर्चो में कमी करनी पड़ रही है। इस समय बच्चों की जरुरतों को भी पूरा करने के लिए घर के खर्च से पैसे महिलाएं नहीं बचा पा रही है। सरकार को गैस और घरेलू समान के दामों में कमी करनी चाहिए।

अंशू का कहना है कि घर का बजट बिल्कुल बिगड़ चुका है। महंगाई कम होने की बजाय निरंतर बढ़ रही है, सरकार को महंगाई कम करने के बारे में सोचना चाहिए। आम बजट जारी होने के बाद भी महंगाई पर कोई असर नहीं पढ़ा है। ऐसे में लोगों को घर चलाना मुश्किल हो रहा है।

बेगमबाग निवासी प्रतिभा का कहना है कि रोज की जरूरतों में सिलेंडर घर का एक हिस्सा बन गया है। आज घरेलू सिलेंडर उतना ही जरूरी हो गया हैं, जितना हमारे घर का सदस्य। मगर इसकी कीमत में कमी नहीं आ रही है। सिलेंडर आम आदमी के बजट में होना चाहिए।

शास्त्रीनगर निवासी डा. दीपा त्यागी का कहना है कि महंगाई कम होने की बजाय आय दिन बढ़ रही है। अब गैस के दाम और बढ़ा दिए गए हैं। ऐसे में आम आदमी को घर चलाना दुर्भर हो रहा है। क्योंकि रसोई के अलावा भी घर में बच्चों की पढ़ाई आदि के खर्चे होते हैं। सरकार को महंगाई कम करने के बारे में विचार करना चाहिए।


तक्षशिला कालोनी निवासी आरती त्यागी का मानना है कि जिस तरह से खाने पीने के दाम बढ़ रहे हैं। उसने रसोई चलानी मुश्किल कर दी है। अब तो भविष्य मुश्किल लग रहा है कि कब तक महंगाई पर काबू हो पाएगा।


पीएल शर्मा रोड निवासी योगिता अग्रवाल का कहना है कि पेट्रोल के दाम बढ़ने से वैसे ही लोग परेशान है। अब रसोई के सामान भी महंगे हो रहे हैं। सरकार महंगाई पर कंट्रोल नहीं कर पा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments