Wednesday, December 8, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeDelhi NCRनोएडा: जेवर एयरपोर्ट टर्मिनल इमारत में ही बनाया जा सकता है बुलेट...

नोएडा: जेवर एयरपोर्ट टर्मिनल इमारत में ही बनाया जा सकता है बुलेट ट्रेन स्टेशन

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर के टर्मिनल की इमारत में बुलेट ट्रेन का स्टेशन बनाने की योजना है। इसके लिए नियाल (नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड) ने एयरपोर्ट के मास्टर प्लान का ड्राफ्ट नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन से साझा किया है।

एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी भी चाहती है कि बुलेट ट्रेन का स्टेशन एयरपोर्ट के टर्मिनल संख्या एक में ही बनाया जाए। हालांकि, अंतिम निर्णय बुलेट ट्रेन विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) में होगा।

जेवर एयरपोर्ट के विकास के लिए 7 अक्टूबर को नियाल और विकासकर्ता कंपनी यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड के बीच कंसेशन एग्रीमेंट हो चुका है। अब कंपनी को अपना मास्टर प्लान सौंपना है।

अब जेवर एयरपोर्ट की दिल्ली व अन्य शहरों से कनेक्टिविटी को लेकर कवायद चल रही है। बुलेट ट्रेन के दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर से जेवर एयरपोर्ट को जोड़ा जाना है। इस कॉरिडोर में नोएडा व जेवर में स्टेशन बनाने की योजना है।

नेशनल हाईस्पीड रेल कॉरपोरेशन दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर के लिए डीपीआर तैयार करा रहा है। जेवर एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी चाहती है कि बुलेट ट्रेन का स्टेशन टर्मिनल-1 इमारत में बनाया जाए। इसके लिए कवायद तेज हो गई है।

इसके लिए नेशनल हाईस्पीड रेल कॉरपोरेशन ने जेवर एयरपोर्ट का मास्टर प्लान मांगा था। नियाल ने मास्टर प्लान का ड्राफ्ट कॉरपोरेशन के साथ साझा कर दिया है। अब उम्मीद है कि टर्मिनल बिल्डिंग में ही स्टेशन बन जाएगा।

बीस मिनट में दिल्ली से जेवर पहुंच सकेंगे

बुलेट ट्रेन से जेवर एयरपोर्ट को बहुत फायदा मिलेगा। दिल्ली के सराय काले खां रेलवे स्टेशन से मात्र 20 मिनट में यात्री जेवर एयरपोर्ट पहुंच जाएंगे। नियाल का प्रयास है कि कनेक्टिविटी के ऐसे उपाय किए जाएं जिसमें कम से कम समय में यात्री दिल्ली से जेवर पहुंच सकें।

कंपनी दिवाली बाद जमा कर सकती है मास्टर प्लान

एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी को 7 दिसंबर तक मास्टर प्लान जमा करना है, लेकिन उम्मीद है कि दिवाली बाद मास्टर प्लान नियाल को सौंप देगी। मास्टर प्लान के सभी तकनीकी पहलू जांचने के बाद नियाल इसे प्रदेश की परियोजना निगरानी एवं क्रियान्वयन समिति को भेजेगी ताकि स्वीकृति मिल सके। स्वीकृति मिलने के बाद इस पर आगे की कार्रवाई की जा सके।

जेवर एयरपोर्ट के मास्टर प्लान का ड्राफ्ट नेशनल हाईस्पीड रेल कॉरपोरेशन के साथ साझा किया गया है। बुलेट ट्रेन की कनेक्टिविटी मिलने से एयरपोर्ट को फायदा मिलेगा।                                                        -डॉ.अरुणवीर सिंह, सीईओ, नियाल

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments