Saturday, June 19, 2021
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarपहले कोरोना का वार अब युवाओं का पैसा लेकर पावर बैंक फरार...

पहले कोरोना का वार अब युवाओं का पैसा लेकर पावर बैंक फरार ?

- Advertisement -
0
  • एप्प बंद होने से हरिद्वार के हजारों युवाओ के डूबे लाखों रुपये
  • बीती 22 फरवरी को मोबाईल पर पावर बैंक के नाम से एक लॉन्च हुआ एप्प
  • बैठे पैसे कमाने के चक्कर में हरिद्वार के हजारों युवाओं ने मोटा पैसा इन्वेस्ट कर दिया

जनवाणी ब्यूरो |

हरिद्वार: घर बैठे मोबाइल एप्प से पैसा कमाने वाले लोगो के लिए बुरी खबर है। ऑनलाइन इनकम वाला पावर बैंक बंद हो गया है। एप्प के बंद होने से हरिद्वार के हजारों युवाओ के लाखों रुपये डूब गए है। मोबाइल में एप्प से पैसे विड्रॉल नही हो रहे है और न ही एप्प खुल रहा है।

युवाओं का कहना है की बीती 22 फरवरी को मोबाईल पर पावर बैंक के नाम से एक एप्प लॉन्च हुआ। इस एप्प को डाऊनलोड करने के बाद इनमें लगभग 600 रुपये से लेकर 3 लाख रुपये तक का रिचार्ज का ऑप्शन था। युवा रिचार्ज करके इस एप्प के लिंक को अपने अन्य दोस्तों को फॉरवर्ड करते थे। इस तरफ से चैन के माध्यम से लोगो को रोजाना पैसे भी मिल रहे थे। घर बैठे पैसे कमाने के चक्कर में हरिद्वार के हजारों युवाओं ने मोटा पैसा इन्वेस्ट कर दिया।

हरिद्वार के निवासी युवाओं जीतेन्द्र, नीरज, कमल, सुभम, तुषार, कमल निर्वाल, विकाश गुप्ता, अंकुश, शम्भु, सियाराम, रोहित चौहान आदि ने बताया की इस ऐप के माध्यम से उन्होंने भी हजारों रूपये इन्वेस्ट किए हुए थे लेकिन पिछले दो दिनों से ऐप से पैसे विड्रोल नहीं हो रहे हैं और अब तो यह ऐप ओपन भी नहीं हो रहा है। हरिद्वार के युवकों ने बताया कि अपने साथ-साथ अपने कई रिश्तेदारों का पैसा भी इस ऐप में इन्वेस्ट कराया था बीते कुछ दिनों से उसे ऑनलाइन इनकम हो रही थी लेकिन अब यह ऐप बिल्कुल बंद हो गया है।

गौरतलब है कि शॉर्टकट के माध्यम से पैसा कमाने के चक्कर में आजकल के युवा इसी तरह की ऑनलाइन ठगी का शिकार हो रहे हैं। बिना मेहनत के पैसे कमाने की होड़ में इन युवाओं का इस तरह की फ्रॉड कंपनियां जमकर फायदा उठा रही हैं। फिलहाल सोशल मीडिया पर भी पावर बैंक एप जमकर ट्रोल हो रहा है और पैसा कमाने वाले युवाओं में खासी नाराजगी देखी जा रही है।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
2

+1
0

+1
0

+1
1

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments